स्वास्थ्य

समुद्रों को सहेजकर रखने के लिए समझौते की कोशिश

समुंदरों में ज़ाहिरा तौर पर तो लगभग दो लाख प्रजातियों की मौजदूगी के बारे में जानकारी उपलब्ध है मगर असल में ये संख्या लाखों में होने के अनुमान व्यक्त किए गए हैं. चिंता की बात ये है कि ये समुद्री प्रजातियाँ जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण और दोहर के ख़तरों का सामना कर रही हैं.

 

तंबाकू सेवन को बढ़ावा देने के तरीक़ों पर रोक की पुकार

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तमाम सरकारों का आहवान किया है कि उन्हें तंबाकू सेवन के विज्ञापन, उन्हें बढ़ावा देने और उन्हें प्रायोजित करने पर पाबंदियों को सख़्ती से लागू करना चाहिए. विश्व स्वास्थ्य संगठन के तंबाकू नियंत्रण के लिए बने फ्रेमवर्क कन्वेंशन के अनुच्छेद 13 में ये व्यवस्था की गई है.

इबोला संक्रमण के लगातार फैलने से सुरक्षा परिषद चिंतित

कॉंगो लोकतांत्रिक गणराज्य में इबोला बीमारी के नए मामले लगातार सामने आने पर शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने गहरी चिंता ज़ाहिर की है. सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों ने व्यापक रूप से बीमारी से निपटने के लिए समन्वित और तत्काल प्रयासों पर ज़ोर देते हुए कहा है कि अगर इस पर क़ाबू नहीं पाया गया तो पड़ोसी देशों में संक्रमण फैलने के गंभीर मानवीय नतीजे होंगे जिससे क्षेत्रीय स्थिरता पर भी प्रभाव पड़ेगा.

माँ के दूध के अनगिनत फ़ायदे, फिर भी बेपरवाही

इसमें ज़रा भी शक़ नहीं है कि माँ का दूध बच्चों के लिए बहुत से फ़ायदों वाला यानी अमृत समान होता है मगर दुनिया भर में माँ बनने वाली महिलाओं को नर्सिंग की समुचित सुविधाएँ मुहैया कराने वाली नीतियाँ मौजूद नहीं हैं, विशेष रूप में कामकाज के स्थानों पर. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनीसेफ़) की अध्यक्ष हेनरिएटा फ़ोर ने बुधवार को कही.

एक मरीज़ की मौत के बाद इबोला पर क़ाबू पाने के प्रयास तेज़

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) में मंगलवार को गोमा शहर में इबोला संक्रमण का एक नया मामला सामने आया और पीड़ित मरीज़ की मौत हो गई है. 10 लाख से ज़्यादा की आबादी वाले गोमा शहर में इबोला का यह दूसरा मामला था जिससे घनी आबादी वाले इलाक़ों में बीमारी फैलने का जोखिम बना हुआ है. संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारियों ने इबोला संक्रमण को सीमित दायरे में रखने और उससे प्रभावी ढंग से निपटने के लिए मज़बूत वैश्विक प्रयासों और निवेश की आवश्यकता को ज़रूरी बताया है.

हेपेटाइटिस के उन्मूलन के लिए निवेश बढ़ाने की पुकार

रविवार, 28 जुलाई, को विश्व हेपेटाइटिस दिवस है. इस अवसर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सभी देशों से हेपेटाइटिस के उन्मूलन के लिए साहसिक राजनीतिक नेतृत्व का  प्रदर्शन करने और बीमारी के परीक्षण और इलाज को आसान बनाने के लिए ज़रूरी निवेश करने का अनुरोध किया है. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी की रणनीति पर अमल के ज़रिए 2030 तक 45 लाख मौतों को रोका जा सकता है.

तंबाकू सेवन की जानलेवा लत से छुटकारे के लिए ज़्यादा मुस्तैदी की दरकार

इस समय लगभग पाँच अरब लोग ऐसे देशों में रह रहे हैं जहाँ धूम्रपान पर पाबंदी लगाई जा चुकी है, धूम्रपान उत्पादों पर ख़तरे की चेतावनी दिखाई जाती है और तंबाकू सेवन पर नियंत्रण के अन्य तरीक़े शुरू किए गए हैं, फिर भी विश्व स्वास्थ्य संगठन की ताज़ा रिपोर्ट दिखाती है कि बहुत से देश तंबाकू सेवन और धूम्रपान पर नियंत्रण पाने के लिए समुचित उपाय नहीं कर रहे हैं.

वायु प्रदूषण रोकने के लिए सरकारों का आह्वान

संयुक्त राष्ट्र ने वायु प्रदूषण कम करने और सांस लेने के लिए स्वच्छ हवा की उपलब्धता सुनिश्चित करने के इरादे से  साझेदार संगठनों के साथ मिलकर सरकारों से ‘क्लीन एयर इनिशिएटिव’ से जुड़ने का आह्वान किया है. सितंबर में यूएन जलवायु शिखर वार्ता से पहले सरकारों से वायु की गुणवत्ता को सुनिश्चित करने की अपील की गई है ताकि नागरिकों के स्वास्थ्य की रक्षा हो सके और 2030 तक जलवायु परिवर्तन और वायु प्रदूषण नीतियों में एकरूपता लाई जा सके.

बच्चों के समुचित विकास के लिए सही नीतियों की दरकार

बच्चों के जीवन में शुरुआती वर्षों को उनके सही विकास और स्वास्थ्य की दृष्टि से सबसे महत्वपूर्ण माना गया है. उन वर्षों की अहमियत को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने पारिवारिक दृष्टि से अनुकूल नीतियों के लिए अनुशंसाओं की एक सूची जारी की है. यूएन एजेंसी का कहना है कि इन नीतियों को अपनाए जाने से अनेक लाभ होंगे.

इबोला बीमारी सार्वजनिक स्वास्थ्य एमरजेंसी घोषित

कॉंगो लोकतांत्रिक गणराज्य में घातक इबोला बीमारी के फैलने के मामले लगातार सामने आने के बाद इसे अब 'अंतरराष्ट्रीय चिंता वाली सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति' घोषित कर दिया गया है. अगस्त 2018 में ईबोला वायरस नए सिरे से फैलना शुरू हुआ जिससे दूसरी बार इतने व्यापक पैमाने पर लोग संक्रमित हो रहे हैं और अब तक वहां 1,650 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.