स्वास्थ्य

कोविड-19 और मानवाधिकार

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोविड-19 महामारी सिर्फ़ एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा नहीं है बल्कि एक मानवीय, आर्थिक और सामाजिक संकट है,और यह तेज़ी से मानवाधिकारों का संकट भी बनता जा रहा है. उन्होंने वैश्विक स्वास्थ्य आपदा से निपटने के उपायों में मानवाधिकारों की अहमियत को रेखांकित करते हुए मानव कल्याण और मानवाधिकारों को सर्वोपरि रखने को कहा है...

कोविड-19: WHO की रमज़ान गाइड

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया भर में कोविड-19 से पैदा हुई असाधारण परिस्थितियों में मुसलमानों के पवित्र महीने रमज़ान के दौरान रोज़ा (वृत) रखने और अन्य धार्मिक रीति-रिवाज़ पूरे करने के दौरान ऐहतियात बरते जाने के लिए कुछ नए दिशा-निर्देश व सिफ़ारिशें जारी की हैं.

MedMon बनाने वाली स्वाति

फ़ोर्ब्स प्रकाशन रचनात्मक व साहसिक मस्तिष्कों के धनी ऐसे युवाओं को सम्मानित करता है जो ख़ुद की महारत वाले क्षेत्रों में नई इबारत लिखते हैं. WHO में एक तकनीकी अधिकारी स्वाति आयंगर ने भी MedMon उपकरण बनाकर एक ऐसा करिश्मा कर दिखाया है. ख़ास बातचीत यूएन न्यूज़ हिन्दी ने उनसे जानना चाहा कि ये उपकरण बनाने का विचार कैसे आया...

कोविड-19: बच्चों को जोखिमों से बचाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोरोनावायरस महामारी के कारण करोड़ों बच्चे कई तरह के ख़तरों में फँस गए हैं. उनकी औपचारिक शिक्षा बाधित हुई है तो घरों तक सीमित रहने के कारण घरेलू हिंसा के शिकार और असहाय दर्शक बनने को मजबूर हैं. साथ ही इंटरनेट ने भी उनकी सुरक्षा को अलग तरह से ख़तरे में डाल दिया है. वीडियो संदेश...

कोविड-19: संकट में फँसे बच्चों के संरक्षण और कल्याण की पुकार

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट में विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 से उपजे हालात और आर्थिक मंदी के मंडराते बादलों के कारण पहले की तुलना में लाखों अतिरिक्त बच्चों के मौत का शिकार होने की आशंका जताई गई है. गुरुवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक कोविड-19 के कारण नवजात शिशुओं की मौतों को रोकने के मामले में हाल के सालों में हुई प्रगति को बड़ा धक्का लगने की आशंका गहरी हो रही है. 

यूनिफ़िल में भारतीय दल की पहल

लेबनान में संयुक्त राष्ट्र का अंतरिम बल - यूनिफ़िल दुनियाभर के उन सभी डॉक्टरों और नर्सों का सम्मान करता है, जो कोविड-19 के ख़िलाफ़ जंग लड़ रहे हैं. यूनिफ़िल ने भी स्थानीय समुदाय की मदद करने के सटीक उपाय किए हैं. देखिए इस वीडियो में...

कोविड-19: साथी हाथ बढ़ाना

कोविड-19 का मुक़ाबला करने के लिए एकजुटता और मानवीय भावना से काम लेने की पुकार लगाई गई है. भारत में भी संयुक्त राष्ट्र के स्वयंसेवक (यूएनवी) अपने-अपने स्तर से मदद का हाथ बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं जिनसे जागरूकता फैलाने में मदद मिल रही है. एक वीडियो...

कोविड-19: 'यह समय WHO के संसाधनों में कटौती करने का नहीं'

विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 की चुनौती को पीछे धकेलने की लड़ाई में यह समय वैश्विक स्तर पर एकजुट होने का है, ना कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के संसाधनों में कटौती करने का. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मंगलवार को जारी अपने बयान में कहा है कि वायरस के ख़िलाफ़ लड़ाई को असरदार ढंग से आगे बढ़ाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन को समर्थन दिया जाना ज़रूरी है. 

'Misinfo-demic': ख़तरे की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि ऐसे समय जब दुनिया घातक विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 से जूझ रही है, और लोगों की ज़िंदगियाँ बचाने के लिए स्पष्ट तथ्यों की तलाश जारी है, उस समय मिस-इन्फ़ोडेमिक (Misinfo-demic) भी फैल रही है. भरोसे की वैक्सीन है इसका सटीक इलाज. वीडियो संदेश...

'दुष्प्रचार की ख़तरनाक महामारी में नफ़रत हो रही है वायरल'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा है कि ऐसे समय जब दुनिया घातक विश्वव्यापी महामारी (Pandemic) कोविड-19 से जूझ रही है और लोगों की ज़िंदगियाँ बचाने के लिए स्पष्ट तथ्यों की तलाश जारी है, उस समय ग़लत जानकारियों की ख़तरनाक बीमारी भी फैल रही है. उन्होंने इस चुनौती को मिस-इन्फ़ोडेमिक (Misinfo-demic) का नाम देते हुए इसका समाधान 'भरोसे की वैक्सीन' बहाल करने के रूप में सुझाया है.