स्वास्थ्य

कुपोषण से निपटने का अनोखा नुस्ख़ा

भारत के मध्य प्रदेश में महिलाओं ने कुपोषण से निपटने का एक अनोखा तरीक़ा अपनाया है. ये महिलाएँ अपने बाग़ीचों में सात अलग-अलग सब्ज़ियाँ उगाते हैं जिससे उन्हें पूरे सप्ताह खनिज और विटामिनों से भरपूर ताज़ा सब्ज़ियाँ मिलती हैं और बीमारियाँ दूर रहती हैं...

गन्दगी साफ़ करने का अदम्य साहस

अनेक देशों में अब भी मानव मल व कचरा साफ़ करने के लिए स्वच्छता कर्मचारियों की ही सेवाएँ ली जाती हैं. ये कम लोग ही जानते हैं कि ये काम कितना जोखिम भरा है. कई बार तो स्वच्छता कर्मचारियों की मौत भी हो जाती है. और समाज में उनकी इस महत्वपूर्ण सेवा और बुनियादी कार्य को हिकारत की नज़र से देखा जाता है, ये तो किसी से छुपा नहीं है. ऐसे ही कुछ स्वच्छता कर्मचारियों की कहानी...

देशों के बीच और भीतर भारी असमानता मगर राहत के संकेत भी

संयुक्त राष्ट्र की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया भर में बहुत से देशों के बीच और देशों के भीतर विभिन्न वर्गों व समाज के ग़रीब तबकों के लोगों में भारी असमानता व्याप्त है. अनेक देशों में ग़रीबी कम करने के प्रयासों में अच्छी प्रगति दर्ज की गई है. इनमें भारत, कंबोडिया और बांग्लादेश प्रमुख हैं.

साल के पहले दिन पैदा होंगे तीन लाख से ज़्यादा बच्चे: यूनिसेफ़

​संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ़) के एक अनुमान के अनुसार साल 2019 के पहले दिन दुनिया में 395,072 बच्चों को जन्म होगा. इनमें से एक करीब एक-चौथाई बच्चे दक्षिण एशिया में पैदा होंगे. पैदा होने के तुरंत बाद  होने वाली मौतें चिंता का कारण बनी हुई हैं जिसके प्रति यूनिसेफ़ ने आगाह किया है.