स्वास्थ्य

कोविड-19 वैक्सीनें और मायोकार्डाइटिस: जोखिम कम, फ़ायदे ज़्यादा

कोविड-19 टीकाकरण के बाद हृदय में सूजन के मामलों का अध्ययन कर रहे यूएन विशेषज्ञों का कहना है कि वैक्सीन से होने वाला फ़ायदा, उससे जुड़े जोखिमों की तुलना में कहीं अधिक है. इसके ज़रिये अस्पताल में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या और संक्रमण की वजह से होने वाली मौतों में कमी लाना सम्भव हुआ है.

कोविड-19 के दौर में मानव तस्करी की गम्भीर स्थिति दिखाती एक नई रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र के ड्रग्स व अपराध निरोधक कार्यालय (UNODC) ने गुरूवार को एक नई रिपोर्ट जारी की है जिसमें मानव तस्करी के पीड़ितों और उससे बच सके लोगों पर कोविड-19 महामारी के विनाशकारी प्रभावों का ख़ाका पेश किया गया है. रिपोर्ट में महामारी के दौर में बच्चों को निशाना बनाने और उनका शोषण किये जाने के मामलों में बढ़ोत्तरी की तरफ़ भी ध्यान आकर्षित किया गया है.

कोविड-19: मृतक संख्या हुई 40 लाख, वैश्विक वैक्सीन योजना की दरकार

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि दुनिया भर में कोविड-19 महामारी के कारण मौत का शिकार हुए लोगों की संख्या बुधवार देर शाम 40 लाख से ज़्यादा हो गई जोकि एक अन्य घातक और दुर्भाग्यपूर्ण पड़ाव है. उन्होंने कहा है कि इस पड़ाव ने इस तत्काल ज़रूरत को और ज़्यादा रेखांकित कर दिया है कि विश्व को, महामारी पर जल्द से जल्द पूरी तरह क़ाबू पाने के लिये एक वैश्विक वैक्सीन योजना लागू करनी होगी.

WHO की चेतावनी - कोविड वैरिएंट वैक्सीन के ख़िलाफ़ दौड़ में हैं आगे

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने बुधवार को कहा है कि कोरोनावायरस के वैलिएंट यानि रूप, इस समय तो वैक्सीनों के ख़िलाफ़ साथ दौड़ में जीत रहे हैं. उन्होंने इस चिन्ताजनक स्थिति के लिये स्पष्ट रूप से, वैक्सीन के समान उत्पादन और वितरण की कमी को ज़िम्मेदार ठहराया है.

WHO: वैक्सीनों का समान वितरण ही, महामारी पर क़ाबू पाने का एक मात्र रास्ता

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि कोविड-19 से मुक़ाबला करने वाली दवाइयों और उपकरणों का समान वितरण करना ही, इस वैश्विक स्वास्थ्य संकट से उबरने के एक मात्र रास्ता है. 

कोविड-19: डेल्टा वेरिएंट ने 98 देशों में दी दस्तक, ‘ख़तरनाक’ पड़ाव पर दुनिया 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टैड्रॉस एडेहनॉम घेबरेयेसस ने आगाह किया है कि कोरोनावायरस के डेल्टा नामक वेरिएंट के मामले अब अनेक देशों में तेज़ी से बढ़ रहे हैं और महामारी के विरुद्ध लड़ाई में दुनिया अब एक ख़तरनाक दौर में प्रवेश कर रही है. उन्होंने टीकाकरण प्रयासों में तेज़ी लाये जाने की पुकार लगाई है. 

कोविड-19: सामाजिक संरक्षा उपाय जीवनदायक, मगर धनी व निर्धन देशों के बीच खाई 

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि कोविड-19 महामारी के दौरान, अभूतपूर्व संख्या में सामाजिक संरक्षा उपाय शुरू किये गए हैं, मगर इससे धनी व निर्धन देशों के बीच बढ़ती खाई को पाट पाने में सफलता नहीं मिल पाई है.

कोविड-19: डेल्टा वेरिएंट की चपेट में अफ़्रीका, योरोपीय देशों पर भी मंडराता ख़तरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चिन्ता जताते हए कहा है कि अफ़्रीका में हर तीन सप्ताह में कोविड-19 संक्रमण के मामलों की संख्या दोगुनी हो रही है. वायरस का डेल्टा नामक एक प्रकार (वेरिएंट) अब तक 16 देशों में फैल चुका है और सबसे ज़्यादा संक्रमण संख्या वाले पाँच में से तीन देशों में मौजूद है.

कोविड-19 का पर्यटन पर भीषण असर – चार हज़ार अरब डॉलर के नुक़सान की आशंका

वैश्विक महामारी कोविड-19 ने अन्तरराष्ट्रीय पर्यटन क्षेत्र को बुरी तरह अपनी चपेट में ले लिया है और वर्ष 2020 व 2021 में विश्व अर्थव्यवस्था को लगभग चार हज़ार अरब डॉलर का आर्थिक नुक़सान होने की आशंका है. इसकी एक वजह, विकासशील देशों में व्यापक स्तर पर टीकाकरण प्रयासों के अभाव को बताया गया है.

स्वास्थ्य देखभाल में एआई के इस्तेमाल पर नई रिपोर्ट – छह दिशानिर्देशक सिद्धान्त पेश

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि कृत्रिम बुद्धिमता (Artificial Intelligence) के उपयोग से दुनिया भर में लाखों लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है, मगर यह ज़रूरी है कि इसके विकास, तैनाती और इस्तेमाल के केन्द्र में मानवाधिकारों और आचार-शास्त्र को रखा जाए.