स्वास्थ्य

कोविड-19 की टीकाकरण रणनीति में, स्वास्थ्यकर्मियों और वृद्धजन को प्राथमिकता देने के लिये संशोधन

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने शुक्रवार को कहा है कि कोविड-19 से निपटने की वैक्सीन का दुनिया भर में टीकाकरण होना वैसे तो, इतिहास में सबसे त्वरित गति का अभियान रहा है, मगर अब भी दुनिया भर में बहुत से लोग, इस बीमारी के जोखिम से महफ़ूज़ नहीं हैं. संगठन ने शुक्रवार को एक संशोधित टीकाकरण रणनीति की घोषणा भी की है.

WHO: मंकीपॉक्स पर आपात समिति की बैठक, संक्रमण के 14 हज़ार मामले

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंकीपॉक्स के बारे में ताज़ा स्थिति पर विचार करने के लिये, गुरूवार को आपात समिति की बैठक फिर से आयोजित की है. अनेक देशों में फैल रही इस बीमारी के मामले अभी तक वैश्विक स्तर पर 14 हज़ार की संख्या को पार कर गए हैं और छह देशों में पहले मामले गत सप्ताह दर्ज किये गए हैं.

कोविड-19: भारत में दो अरब टीके दिये जाने का आँकड़ा पार

भारत में संयुक्त राष्ट्र ने, देश में कोविड-19 टीकाकरण मुहिम के तहत, लोगों को दो अरब वैक्सीन ख़ुराकें दिये जाने का आँकड़ा पार होने पर बधाई दी है. भारत में संयुक्त राष्ट्र के रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, शॉम्बी शार्प ने कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में इसे एक अहम पड़ाव मानते हुए बड़ी कामयाबी क़रार दिया है. 

WHO: प्रवासियों व शरणार्थियों को स्वास्थ्य देखभाल मुहैया कराने के लिये कार्रवाई की पुकार

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि दुनिया भर में करोड़ों शरणार्थी और प्रवासी जन, अपने मेज़बान समुदायों की तुलना में कहीं ज़्यादा ख़राब स्वास्थ्य परिणामों का सामना करते हैं, जिससे इन आबादियों के लिये, स्वास्थ्य सम्बन्धी टिकाऊ विकास लक्ष्यों (SDGs) की प्राप्ति ख़तरे में पड़ सकती है.

तीन दशकों में बाल टीकाकरण की सर्वाधिक सुस्त रफ़्तार, लाखों ज़िन्दगियों पर जोखिम

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों द्वारा शुक्रवार को जारी किये गए आधिकारिक आँकड़े दर्शाते हैं कि बाल टीकाकरण दरों में निरन्तर दर्ज की जा रही गिरावट, पिछले 30 वर्षों में सबसे अधिक है. रिपोर्ट के अनुसार ढाई करोड़ से अधिक नवजात शिशु इन जीवनरक्षक टीकों से वंचित हैं. 

अफ़्रीका में पशु से मानव को लगने वाली बीमारियों में उछाल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा गुरूवार को जारी विश्लेषण के अनुसार, अफ़्रीका में पिछले एक दशक के दौरान, उससे पिछले दशक की तुलना में, पशुओं से मानव में फैलने वाली बीमारियों के मामलों में 63 प्रतिशत का उछाल आया है.

रोगाणुरोधी प्रतिरोध की 'मौन महामारी' से निपटने के लिये अधिक टीके विकसित करने की ज़रूरत: WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार को कहा है कि एण्टीमाइक्रोबियल-प्रतिरोधक रोगजनक बैक्टीरिया (AMR) से निपटने के लिये अधिक टीके विकसित किये जाने चाहिये और साथ ही, सभी देशों को उपलब्ध टीकों का बेहतर इस्तेमाल करने की ज़रूरत है. 

कोविड-19: वायरस का अब भी मुक्त फैलाव, महामारी ख़त्म होने से अभी बहुत दूर

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुखिया डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने मंगलवार को कहा है कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों से, पहले से कठिनाइयों का सामना कर रही स्वास्थ्य प्रणालियों और कर्मचारियों पर ना केवल और ज़्यादा दबाव बढ़ रहा है, बल्कि “मौतों का बढ़ता रुझान” भी पनप रहा है.

भूख और कुपोषण के विरुद्ध लड़ाई में वैश्विक प्रयासों को बड़ा झटका

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों की एक नई रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2021 में भूख की मार झेलने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 82 करोड़ 80 लाख तक पहुँच गई. संगठन का नया विश्लेषण दर्शाता है कि दुनिया  निर्धनता, खाद्य असुरक्षा और कुपोषण के अन्त समेत, टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के लिये तय समयसीमा और रास्ते से भटक रही है.

विकासशील देशों की एक-तिहाई महिलाएँ, किशोरावस्था में बनती हैं माँ

संयुक्त राष्ट्र यौन व प्रजनन स्वास्थ्य एजेंसी (UNFPA) के एक नए शोध के अनुसार, विकासशील देशों में महिलाओं की कुल संख्या की लगभग एक-तिहाई आबादी 19 वर्ष या उससे कम उम्र में बच्चों को माँ बनती हैं.