स्वास्थ्य

कोविड-19 के बावजूद, मलेरिया मुक्त विश्व की दिशा में प्रगति

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सोमवार, 25 अप्रैल, को ‘विश्व मलेरिया दिवस’ पर ध्यान दिलाया है को कोविड-19 महामारी के बावजूद, वर्ष 2021 में मलेरिया की रोकथाम और नियंत्रण के विषय में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की गई है.

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य: इबोला वायरस के मामले की पुष्टि, संक्रमित की मौत

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) के पश्चिमोत्तर इक्वेट्योर प्रान्त में स्थित म्बान्डका शहर में इबोला के एक मामले की पुष्टि होने के बाद वहाँ बीमारी के प्रकोप की घोषणा कर दी गई है. वर्ष 2018 के बाद से प्रान्त में तीसरी बार इस बीमारी का मामला सामने आया है.

कोविड-19 के उपचार के लिये दवा की सिफ़ारिश, क़ीमत सम्बन्धी पारदर्शिता का आग्रह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोविड-19 के विरुद्ध बेहद सफल साबित हुए एक उपचार को ज़्यादा से ज़्यादा संख्या में उपलब्ध बनाये जाने का आग्रह किया है. यूएन एजेंसी के अनुसार इस स्वास्थ्य उपाय का व्यापक वितरण किया जाना होगा और इसकी क़ीमत के सम्बन्ध में पारदर्शिता बरतनी होगी.  

पारम्परिक चिकित्सा के लिये वैश्विक केन्द्र - कारगर उपचार सुलभता का लक्ष्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने भरोसा जताया है कि पारम्परिक औषधि के लिये WHO वैश्विक केन्द्र की स्थापना के ज़रिये, पारम्परिक चिकित्सा के लिये तथ्यात्मक आधार को मज़बूत करने में मदद मिलेगी और सर्वजन के लिये सुरक्षित व कारगर उपचार सुनिश्चित किया जा सकेगा.

कोरोनावायरस के नए रूप व प्रकारों को नज़रअन्दाज़ नहीं करने की चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने आगाह किया है कि विश्व भर में कोविड-19 संक्रमण मामलों और मृतक संख्या में आई कमी का अर्थ यह नहीं है कि वैश्विक महामारी का जोखिम कम हो गया है. 

ग़ैर-संचारी रोगों का मुक़ाबला करने की पहल का स्वागत

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने डायबिटीज़, कैंसर, हृदय और फेफड़ों से सम्बन्धित बीमारियों जैसे ग़ैर-संचारी रोगों से होने वाली मौतों में कमी लाने की ख़ातिर, दुनिया की फिर से पटरी पर वापसी के लिये, राष्ट्राध्यक्षों और सरकार अध्यक्षों का एक समूह गठित किये जाने का स्वागत किया है. 

कोविड-19 संक्रमण की नई लहर का मतलब, महामारी अभी ख़त्म होने से दूर है

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार को कहा है कि देशों और दवा बनाने वाली कम्पनीयों को, सर्वजन को, सर्वत्र वैक्सीन मुहैया कराने के लिये, बेहतर रूप में मिलजुल कर काम करना होगा, ऐसा केवल धनी देशों में करने से काम नहीं चलेगा.

मनुष्य और ग्रह को स्वस्थ रखने के लिये तुरन्त कार्रवाई की ज़रूरत क्यों?

सात अप्रैल को मनाए जाने वाले इस वर्ष के विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम है - हमारा ग्रह, हमारा स्वास्थ्य. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में दक्षिण-पूर्व एशिया की क्षेत्रीय निदेशिका, डॉक्टर पूनम खेत्रपाल सिंह का कहना है कि कोविड-19 से सबक़ सीखकर, हमें एक स्वस्थ, निष्पक्ष और हरित दुनिया के निर्माण के लिये तुरन्त कार्रवाई करने की आवश्यकता है.

विश्व स्वास्थ्य दिवस: जलवायु कार्रवाई करें, एक दूसरे का ख़याल रखें

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गुरूवार को विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौक़े पर, स्वास्थ्य संरक्षण और जलवायु संकट के असर को कम करने की आपात पुकार लगाई है.

दुनिया की लगभग पूरी आबादी, वायु प्रदूषण में साँस लेने को विवश

संयुक्त राष्ट्र के चिकित्सा वैज्ञानिकों ने सोमवार को कहा है कि दुनिया भर की लगभग 99 प्रतिशत आबादी ऐसी प्रदूषित वायु में साँस ले रही है जो अन्तरराष्ट्रीय स्वीकृत सीमाओं से ज़्यादा प्रदूषित है. इससे उनके स्वास्थ्य पर गम्भीर नकारात्मक असर पड़ता है.