स्वास्थ्य

एचआईवी : 2020 में बच्चों में संक्रमण के डेढ़ लाख नए मामले, ‘रोकथाम थी सम्भव’

एचआईवी/एड्स के विरुद्ध लड़ाई का नेतृत्व करने वाली संयुक्त राष्ट्र एजेंसी – यूएनएड्स (UNAIDS) का कहना है कि वर्ष 2020 में, बच्चों में एचआईवी संक्रमण के क़रीब डेढ़ लाख नए मामले दर्ज किये गए, जिनमें से अधिकतर संक्रमण मामलों की रोकथाम की जा सकती थी.

‘कुष्ठ रोग के प्रभावितों के विरुद्ध भेदभावपूर्ण क़ानून तुरन्त ख़त्म हों’

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ऐलिस क्रूज़ ने कहा है कि दुनिया भर में 100 से भी ज़्यादा ऐसे क़ानून लागू हैं जो कुष्ठ रोग से प्रभावित लोगों के विरुद्ध भेदभाव करते हैं और उन क़ानूनों को तात्कालिक ज़रूरत के साथ ख़त्म किया जाना चाहिये.

भारत: डेढ़ अरब टीकाकरण, दीगर एक अरब टीकों के लिये चुनौतियाँ भी

विश्व बैंक के अर्थशास्त्रियों, आरूषि भटनागर और ओवेन स्मिथ का मानना है कि भारत में कोविड-19 महामारी की वैक्सीन के डेढ़ अरब टीके लगाने का अहम मुक़ाम तो हासिल कर लिया गया है मगर, अगले एक अरब टीके लगाने का मुक़ाम हासिल करने के लिये, अब वैक्सीन की झिझक नहीं, बल्कि दूरगामी इलाक़ों तक कोविड-19 वैक्सीन के टीके पहुँचाने में बाधाओं को पार करना, मुख्य चुनौती होगी.

कोविड-19: एक सप्ताह में सर्वाधिक संक्रमण मामलों की पुष्टि, ओमिक्रॉन का जोखिम बरक़रार

पिछले सप्ताह कोविड-19 संक्रमण मामलों की संख्या अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई और विश्व भर में, दो करोड़ 10 लाख से अधिक मामले दर्ज किये गए. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपने साप्ताहिक अपडेट में आगाह किया है कि कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरीएण्ट से उपजा जोखिम अभी भी ऊँचे स्तर पर है.

असुरक्षित गर्भपात की स्वास्थ्य जटिलताएँ, गुणवत्तापरक देखभाल के लिये नए सुझाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और उसके साझीदार संगठनों के एक नए शोध में असुरक्षित गर्भपात के दौरान पेश आने वाली जटिलताओं से निपटने और लड़कियों व महिलाओं के लिये गुणवत्तापरक देखभाल के सर्वोत्तम उपायों के सम्बन्ध में जानकारी साझा की गई है.

कोविड-19: महामारी अभी कुछ समय तक हमारे बीच रहेगी, WHO प्रमुख

विश्व स्वास्थ्य संगठन – WHO के मुखिया डॉक्टर टैड्रॉस ऐडहेनॉम घेबरेयेसस ने सोमवार को कहा है कि दुनिया को ये स्वीकार कहना होगा कि कोविड-19 हमारे साथ अभी काफ़ी समय तक रहने वाला है, भले ही इस महामारी का ख़तरनाक दौर वर्ष के अन्त तक हो जाए, तो भी.

अफ़्रीका में 15 लाख ‘कम वज़न’ बच्चे, जीवन रक्षक इलाज से वंचित

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – UNICEF ने शुक्रवार को कहा है कि अफ़्रीका के पूर्वी और दक्षिणी हिस्सों में, कम से कम 15 लाख बच्चे ऐसे हैं जिन्हें शरीर का वज़न कम होने और उनका विकास प्रभावित होने की गम्भीर अवस्था का, जीवनरक्षक उपचार नहीं मिल पा रहा है.

अफ़्रीका: कोविड मामलों में गिरावट, संक्रमण की चौथी लहर पड़ी धीमी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गुरूवार को कहा है कि अफ़्रीका में कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट से फैली चौथी संक्रमण लहर कुछ धीमी होती नज़र आई है, मामलों में पहली बार महत्वपूर्ण कमी दर्ज की गई है, और मृत्यु संख्या भी कम हुई है.

ओमिक्रॉन: संक्रमण में वृद्धि बरक़रार, कुछ देशों में 'लहर का सबसे बुरा दौर गुज़रा'

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कुछ देशों में कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरीएण्ट के कारण संक्रमण मामलों में भीषण बढ़ोत्तरी के बाद, अब ये अपने चरम बिन्दु को पार कर चुके हैं, जिससे यह उम्मीद उपजी है कि इन देशों में नई संक्रमण लहरों का सबसे ख़राब दौर बीत चुका है. मगर यूएन एजेंसी ने आगाह करते हुए ये भी कहा है कि अभी कोई भी देश, इस संकट से पूरी तरह बाहर नहीं निकल पाया है. 

ILO: श्रम बाज़ार में पुनर्बहाली अब भी धीमी और अनिश्चित

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि दुनिया, अब भी कोविड-19 महामारी और वैश्विक श्रम बाज़ार में उसके प्रभावों से जूझ रही है. सोमवार को प्रकाशित रिपोर्ट में आगाह किया गया है कि मौजूदा हालात में वैश्विक पुनर्बहाली की रफ़्तार में सुस्ती बरक़रार रहने की सम्भावना है.