स्वास्थ्य

कोविड-19: दक्षिण एशिया में बेक़ाबू वायरस पूरी दुनिया के लिये ख़तरा

दक्षिण एशिया में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) के वरिष्ठ अधिकारी ने आगाह किया है कि क्षेत्र में स्थित देशों में कोविड-19 की घातक लहर से स्वास्थ्य सेवाओं पर भारी बोझ है जिसमें उनके ढह जाने की आशंका है. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो यह पूरी दुनिया में वैश्विक महामारी पर जवाबी कार्रवाई मेंअब तक हुई प्रगति के लिये एक बड़ा ख़तरा होगा. उन्होंने इस चुनौती से निपटने के लिये, सरकारों द्वारा तत्काल कार्रवाई और स्फूर्तिवान नेतृत्व की आवश्यकता पर बल दिया है.

कोविड-19: भारत व ब्राज़ील में मामलों की अधिकता, यूएन एजेंसियाँ सक्रिय

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि पिछले सप्ताह, विश्व भर में कोविड-19 संक्रमण के कुल जितने मामलों की पुष्टि हुई, उनमें आधे से ज़्यादा भारत और ब्राज़ील में सामने आए हैं. संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ, भारत में कोरोनावायरस के कारण उपजे गम्भीर हालात के मद्देनज़र, जवाबी कार्रवाई में स्थानीय एजेंसियों की सहायता में जुटी हैं.

कोविड-19: जी-7 देशों से वैश्विक टीकाकरण प्रयासों के वित्त पोषण की पुकार

ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन ने सोमवार को दुनिया के सबसे धनवान देशों (जी-7) से आहवान किया है कि निर्धन देशों में कोविड-19 से बचाव के लिये टीकाकरण मुहिम को आगे बढ़ाने के लिये वित्तीय संसाधन मुहैया कराए जाने होंगे. ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री ने इन प्रयासों को फलीभूत करने के लिये अगले दो वर्ष में लगभग 60 अरब डॉलर की धनराशि का इन्तज़ाम करने की आवश्यकता को रेखांकित किया है.