स्वास्थ्य

कोविड-19: मृतक संख्या 20 लाख, आत्मघाती 'वैक्सीन राष्ट्रवाद' के ख़िलाफ़ चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने, कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप से, विश्व भर में होने वाली मौतों की संख्या 20 लाख हो जाने के दुखद पड़ाव पर, शुक्रवार को तमाम देशों से अपील की है कि वो इस महामारी का ख़ात्मा करने और लोगों की ज़िन्दगियाँ बचाने में एकजुट होकर काम करें और एकदूसरे की मदद करें. यूएन महासचिव ने एक वीडियो सन्देश में कहा कि एक वैश्विक और समन्वित प्रयास के अभाव की स्थिति में, महामारी का घातक और जानलेवा प्रभाव और भी ज़्यादा विनाशकारी साबित हुआ है.

WHO: कोरोनावायरस के स्रोत की जाँच के लिये टीम पहुँची वूहान

दुनिया भर में वैश्विक महामारी कोविड-19 के लिये ज़िम्मेदार वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिये अन्तरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम गुरूवार को चीन के वूहान शहर पहुँच गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कोविड-19 पर आपात समिति के सत्र के दौरान ये जानकारी दी है. 

क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में न्यायसंगत टीकाकरण सुनिश्चित किये जाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने इसराइल से आग्रह किया है कि क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में रह रहे फ़लस्तीनियों के लिये कोविड-19 वैक्सीन के त्वरित और न्यायसंगत वितरण को सुनिश्चित किया जाना होगा. ग़ाज़ा और पश्चिमी तट में कोविड-19 महामारी के कारण संक्रमणों और मौतों की संख्या बढ़ रही है जिससे चिन्ता गहरा रही है.    

कोविड-19: दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में टीकाकरण की अभूतपूर्व तैयारी 

भारत, इण्डोनेशिया सहित दक्षिण-पूर्व एशिया के देशों में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिये व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान की तैयारियाँ चल रही हैं जिनमें विश्व स्वास्थ्य संगठन का क्षेत्रीय कार्यालय हरसम्भव सहायता प्रदान कर रहा है. इस क्षेत्र में स्थित देशों में पोलियो उन्मूलन अभियान में सफलता मिली थी और उस मुहिम के अनुभव व सबक़ का इस्तेमाल कोरोनावायरस से निपटने के लिये भी किया जा रहा है.

इबोला से लड़ाई में कारगर वैक्सीन के वैश्विक भण्डारण की व्यवस्था

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ और मानवीय साझीदार संगठन घातक बीमारियों के ख़िलाफ़ लड़ाई में एक अहम पड़ाव पर पहुँच गए हैं. मंगलवार को इबोला वैक्सीन के लिये वैश्विक भण्डार स्थापित किये जाने की घोषणा की गई है जिससे भविष्य में इबोला बीमारी के फैलने की स्थिति में जोखिम झेल रहे जनसमूहों को समय रहते वैक्सीन की ख़ुराकें जल्द उपलब्ध करा पाना सम्भव हो सकेगा. 

ज़्यादा जोखिम वाले जनसमूहों के लिये जल्द से जल्द टीकाकरण की अपील

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि कोविड-19 संक्रमण का जोखिम झेल रहे स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चों पर जुटे अन्य लोगों को अगले 100 दिनों के भीतर टीका लगाये जाने के लिये सामूहिक संकल्प की आवश्यकता है.  
 

फ़िरदौसी क़ादरी: असाधारण जज़्बा

2020 के लिये विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों के अन्तरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर, हाल ही में, लौरिएल फाउण्डेशन और यूनेस्को के 22वें वुमन इन साइंस पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा की गई. इनमें एक विजेता बांग्लादेश की डॉक्टर फ़िरदौसी क़ादरी भी हैं... (वीडियो).

'न्यायसंगत टीकाकरण' से ज़िन्दगियों की रक्षा और स्वास्थ्य प्रणालियों को सहारा सम्भव

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोविड-19 महामारी से बचाव के लिये, अन्तरराष्ट्रीय वैक्सीन अलायन्स COVAX के तहत सुरक्षित और असरदार वैक्सीन की दो अरब खुराकों का इन्तज़ाम किया गया है, और जैसे ही वे तैयार होंगी उनका वितरण सुनिश्चित किया जाएगा. स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने शुक्रवार को इस आशय की जानकारी देते हुए कहा कि न्यायोचित टीकाकरण से लोगों की ज़िन्दगियाँ बचाने और स्वास्थ्य प्रणालियों को स्थायित्व प्रदान करने में मदद मिलेगी. 

कोविड-19: योरोप में बढ़ते संक्रमणों से WHO चिन्तित, चेतावनी जारी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने योरोपीय देशों में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण और वायरस के एक नए रूप (प्रकार) के फैलाव के मद्देनज़र चेतावनी जारी की है कि महामारी के ख़िलाफ़ लड़ाई एक अहम पड़ाव पर पहुँच रही है. यूएन एजेंसी ने वायरस पर क़ाबू पाने के लिये ऐहतियाती उपाय सख़्ती से लागू किये जाने और साझा मोर्चा बनाने की पुकार लगाई है.     

स्वास्थ्य मामलों पर राजनैतिक रस्साकशी से बचने का आग्रह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि कोविड-19 से ज़िंदगियों व आजीविकाओं की रक्षा और महामारी का अन्त करने के दौरान यह ध्यान रखा जाना होगा कि वैश्विक समुदाय के समक्ष अन्य बीमारियों की चुनौतियाँ भी हैं. उन्होंने वैश्विक एकजुटता की अपील करते हुए आगाह किया है कि स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दों पर राजनीति से बचा जाना होगा.