स्वास्थ्य

कोविड-19: मामूली सुधार के बावजूद, अन्तरराष्ट्रीय पर्यटन की सुस्त रफ़्तार 

संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन (UNWTO) का कहना है कि पर्यटन के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा संकट, लगातार दूसरे साल भी जारी है. वर्ष 2021 में जनवरी और मई महीनों के दौरान, अन्तरराष्ट्रीय पर्यटकों के आगमन में 2019 के स्तर की तुलना मे 85 फ़ीसदी की गिरावट आंकी गई है. 

कोविड-19: संक्रमण मामलों में तेज़ वृद्धि की वजह बना डेल्टा वैरिएंट

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 संक्रमण मामलों व मृतक संख्या में लगातार वृद्धि पर चिन्ता जताई है और कहा है कि कोरोनावायरस का डेल्टा वैरिएंट, अब तक 132 देशों में फैल चुका है.
 

कोविड-19: अफ़्रीकी देशों के लिये वैक्सीन आपूर्ति को मिली मज़बूती

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि अफ़्रीकी देशों के लिये कोविड-19 वैक्सीन ख़ुराकों की आपूर्ति में कुछ समय के लिये आए ठहराव के बाद, वैक्सीन वितरण में फिर से तेज़ी आ रही है.  

महामारी के लिये पूर्व तैयारी व उससे निपटने के लिये एक सन्धि का आग्रह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में एक वरिष्ठ अधिकारी डॉक्टर माइक रायन ने किसी महामारी का सामना करने के लिये पहले से तैयारी करने व उसका मुक़ाबला करने के लिये, एक वैश्विक सन्धि की ज़रूरत पर ज़ोर दिया है. उन्होंने देशों से इस पल का सदुपयोग करते हुए, इस विचार को समर्थन देने का आग्रह भी किया है.

भारत में कोविड-19 और महिलाएँ – कुछ अहम प्रश्नों के उत्तर 

भारत में हाल के महीनों के दौरान, कोविड-19 महामारी के फैलाव की दूसरी लहर अपने साथ अभूतपूर्व बर्बादी लेकर आई है. महिलाओं और लड़कियों सहित, देश के निर्धनतम और निर्बलतम समुदायों को, आर्थिक चुनौतियों पर पार पाने और स्वास्थ्य संकट के दंश को कम करने में अपार मुश्किलों का सामना करना पड़ा है. 

कोविड-19: नए संक्रमण मामलों में उछाल, डेल्टा वैरिएंट 132 देशों में पहुँचा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि पिछले सप्ताह कोविड-19 संक्रमणों में आठ फ़ीसदी की वृद्धि हुई और 38 लाख से ज़्यादा नए मामलों की पुष्टि हुई. 

वायरल हेपेटाइटिस की विकराल चुनौती, उन्मूलन प्रयासों में तेज़ी का आहवान

दक्षिण-पूर्व एशिया के लिये विश्व स्वास्थ्य संगठन के क्षेत्रीय कार्यालय (WHO SEARO) का कहना है कि वर्ष 2030 तक, सार्वजनिक स्वास्थ्य ख़तरे के रूप में वायरल हेपेटाइटिस को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिये मौजूदा प्रयासों में तेज़ी लानी होगी.

नए निकोटीन उत्पादों से बढ़ा नया ख़तरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक नई रिपोर्ट में दिखाया गया है कि तम्बाकू सेवन के ख़िलाफ़ लड़ाई में कुछ देश तो प्रगति हासिल कर रहे हैं, जबकि कुछ देश अब भी, निकोटीन और तम्बाकू उत्पादों के सेवन की उभरती समस्या का सामना करने में नाकाम साबित हो रहे हैं.

इण्डोनेशिया: टीकाकरण की 'धीमी रफ़्तार व वैश्विक एकजुटता के अभाव' से गहराया कोविड संकट

इण्डोनेशिया में संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अधिकारी वैलेरी जूलिएण्ड ने कहा है कि धनी देशों द्वारा वैक्सीनों की जमाखोरी, टीकाकरण की धीमी रफ़्तार और वैश्विक एकजुटता का अभाव, ये कुछ ऐसी वजहें हैं जिनकी वजह से देश कोविड-19 महामारी की बुरी तरह चपेट में हैं. 

कोविड-19: अफ़्रीका में, तीसरी लहर अभी मौजूद, वैक्सीन विषमता से जोखिम बरक़रार

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुरूवार को कहा है कि अफ़्रीका में, कोविज-19 के मामलों में 8 सप्ताह के दौरान तेज़ बढ़ोत्तरी देखने के बाद, अलबत्ता नए मामलों में कमी दर्ज की गई है, मगर ये कमी, इस महामारी के ठण्डे पड़ने की दिशा में एक छोटा सा क़दम हो सकता है जिसकी अवधि बहुत छोटी भी हो सकती है. संगठन ने टीकाकरण बढ़ाने और ऐहतियाती उपायों पर ज़्यादा ज़ोर देने का भी आग्रह किया है.