स्वास्थ्य

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस, 21 जून 2022

संयुक्त राष्ट्र में सदस्य देशों के प्रतिनिधियों और कर्मचारियों ने आठवें 'अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस' के अवसर पर, सोमवार, 20 जून की शाम को आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया, जिसके ज़रिये, मानव स्वास्थ्य व कल्याण और बेहतर जीवन में इस प्राचीन पद्धति की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया गया. यह दिवस हर वर्ष 21 जून को मनाया जाता है. वीडियो फ़ीचर...

योग: बेहतर मानव स्वास्थ्य के लिये विशेष मंत्र, यूएन मुख्यालय में अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम

संयुक्त राष्ट्र में सदस्य देशों के प्रतिनिधियों और कर्मचारियों ने आठवें 'अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस' के अवसर पर, सोमवार शाम को आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया, जिसके ज़रिये, मानव स्वास्थ्य व कल्याण और बेहतर जीवन में इस प्राचीन पद्धति की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया गया. यह दिवस हर वर्ष 21 जून को मनाया जाता है. 

टीकाकरण से होती है स्वास्थ्य व जीवन रक्षा

टीकाकरण से हर साल कम से कम 40 से 50 लाख लोगों की जान बचती है. इस उल्लेखनीय सफलता की कहानी, हाल के दशकों में दुनिया भर में फैले बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियानों का परिणाम है. करोड़ों लोगों की जान लेने वाली चेचक को 1980 में पूरी तरह मिटा दिया गया और 1988 के बाद से पोलियो के मामले लगभग  99% घट गए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में टीकाकरण निदेशक, डॉक्टर केट ओ'ब्रायन, 18वीं शताब्दी के अन्त में पहली आधुनिक वैक्सीन के विकास से लेकर, आज की कोविड महामारी का मुक़ाबला करने वाले नए टीकों तक के ऐतिहासिक सफ़र पर ले जा रही हैं... (वीडियो फ़ीचर) 

भारत के 'टीकाकरण चैम्पियन' - सभी बाधाओं का डटकर किया मुक़ाबला

भारत ने जनवरी 2021 में कोविड-19 के विरुद्ध दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया और देश अपनी कुल आबादी के 61.3 प्रतिशत लोगों का पूर्ण टीकाकरण करने में सफल रहा है. यह विशाल प्रयास, देश भर में टीकाकरण अभियान से जुड़े स्वास्थ्यकर्मियों और स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं के योगदान से सम्भव हुआ.

कोविड-19: सार्वभौमिक टीकाकरण के लिये, वैश्विक एकजुटता की अपील

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद ने दुनिया भर में, कोविड-19 वैक्सीन का टीकाकरण करवाने के लिये, शुक्रवार को और ज़्यादा वैश्विक एकजुटता की अपील की है.

कोविड-19: महिला जननांग विकृति के पूर्ण उन्मूलन की लड़ाई पर जोखिम

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने आगाह किया है कि कोविड-19 महामारी के कारण, महिला जननांग विकृति (Female Genital Mutilation/FGM) के पूर्ण उन्मूलन की दिशा में हुई दशकों की वैश्विक प्रगति पर जोखिम मंडरा रहा है. 

अफ़ग़ानिस्तान: बच्चों पर बढ़ता स्वास्थ्य संकट

अफ़ग़ानिस्तान में बढ़ते कुपोषण, अभूतपूर्व खाद्य संकट, सूखा, स्वास्थ्य व पोषण केन्द्रों में व्यवधान, पानी एवं स्वच्छता सेवाओं तक पहुँच की कमी व भीषण सर्दी के घातक संयोजन से बच्चे बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं. एक वीडियो रिपोर्ट...

हम कोविड का अन्त किस तरह कर सकते हैं? यूएन की वैश्विक टीकाकरण रणनीति

कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव के लिये, कुल कोविड टीकों का 70 प्रतिशत अब तक दुनिया की दस सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को प्राप्त हुआ है. मगर, दुनिया के सबसे ग़रीब देशों को केवल 0.8 फीसदी टीके ही मिल पाए हैं. संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि इस विनाशकारी चक्र को समाप्त करने के लिये, हर देश की कम से कम 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण किया जाना होगा. एक वीडियो रिपोर्ट...

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस: शारीरिक व मानसिक तंदरुस्ती को बढ़ावा

संयुक्त राष्ट्र, सोमवार, 21 जून, को सातवां ‘अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस’ मना रहा है जिसके ज़रिये, समग्र स्वास्थ्य एवँ मानव कल्याण के लिये इस प्राचीन ज्ञान की अहमियत को रेखांकित किया जा रहा है. 

भारत: कोविड-19 की दूसरी लहर ज़्यादा जानलेवा

भारत में संयुक्त राष्ट्र की रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, रेनाटा डेज़ालिएन ने कहा है कि देश में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर और वायरस के फैलाव की तेज़ रफ़्तार ने सभी को हैरान कर दिया है. उन्होंने सचेत किया है कि इससे सबक़ लेकर सम्भावित तीसरी लहर से निपटने के लिये स्वास्थ्य तैयारियों को पुख़्ता बनाना होगा.