स्वास्थ्य

भारत के 'टीकाकरण चैम्पियन' - सभी बाधाओं का डटकर किया मुक़ाबला

भारत ने जनवरी 2021 में कोविड-19 के विरुद्ध दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया और देश अपनी कुल आबादी के 61.3 प्रतिशत लोगों का पूर्ण टीकाकरण करने में सफल रहा है. यह विशाल प्रयास, देश भर में टीकाकरण अभियान से जुड़े स्वास्थ्यकर्मियों और स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं के योगदान से सम्भव हुआ.

कोविड-19: सार्वभौमिक टीकाकरण के लिये, वैश्विक एकजुटता की अपील

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद ने दुनिया भर में, कोविड-19 वैक्सीन का टीकाकरण करवाने के लिये, शुक्रवार को और ज़्यादा वैश्विक एकजुटता की अपील की है.

कोविड-19: महिला जननांग विकृति के पूर्ण उन्मूलन की लड़ाई पर जोखिम

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने आगाह किया है कि कोविड-19 महामारी के कारण, महिला जननांग विकृति (Female Genital Mutilation/FGM) के पूर्ण उन्मूलन की दिशा में हुई दशकों की वैश्विक प्रगति पर जोखिम मंडरा रहा है. 

अफ़ग़ानिस्तान: बच्चों पर बढ़ता स्वास्थ्य संकट

अफ़ग़ानिस्तान में बढ़ते कुपोषण, अभूतपूर्व खाद्य संकट, सूखा, स्वास्थ्य व पोषण केन्द्रों में व्यवधान, पानी एवं स्वच्छता सेवाओं तक पहुँच की कमी व भीषण सर्दी के घातक संयोजन से बच्चे बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं. एक वीडियो रिपोर्ट...

हम कोविड का अन्त किस तरह कर सकते हैं? यूएन की वैश्विक टीकाकरण रणनीति

कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव के लिये, कुल कोविड टीकों का 70 प्रतिशत अब तक दुनिया की दस सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को प्राप्त हुआ है. मगर, दुनिया के सबसे ग़रीब देशों को केवल 0.8 फीसदी टीके ही मिल पाए हैं. संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि इस विनाशकारी चक्र को समाप्त करने के लिये, हर देश की कम से कम 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण किया जाना होगा. एक वीडियो रिपोर्ट...

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस: शारीरिक व मानसिक तंदरुस्ती को बढ़ावा

संयुक्त राष्ट्र, सोमवार, 21 जून, को सातवां ‘अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस’ मना रहा है जिसके ज़रिये, समग्र स्वास्थ्य एवँ मानव कल्याण के लिये इस प्राचीन ज्ञान की अहमियत को रेखांकित किया जा रहा है. 

भारत: कोविड-19 की दूसरी लहर ज़्यादा जानलेवा

भारत में संयुक्त राष्ट्र की रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, रेनाटा डेज़ालिएन ने कहा है कि देश में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर और वायरस के फैलाव की तेज़ रफ़्तार ने सभी को हैरान कर दिया है. उन्होंने सचेत किया है कि इससे सबक़ लेकर सम्भावित तीसरी लहर से निपटने के लिये स्वास्थ्य तैयारियों को पुख़्ता बनाना होगा. 

भारत: कोविड-19 की दूसरी लहर का रूप बहुत अलग, बहुत घातक

भारत में संयुक्त राष्ट्र की रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, रेनाटा डेज़ालिएन ने कहा है कि देश में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर और वायरस के फैलाव की तेज़ रफ़्तार ने सभी को हैरान कर दिया है. इससे सबक़ लेकर सम्भावित तीसरी लहर के लिये तैयारियों को पुख़्ता बनाना होगा. उन्होंने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में बताया कि मौजूदा संकट के दौरान यूएन एजेंसियाँ, स्वास्थ्य सेवा प्रणाली व टीकाकरण मुहिम को मज़बूती प्रदान करने और कोविड-19 से प्रभावित लोगों तक सहायता पहुँचाने, सभी मोर्चों पर सक्रिय हैं.

विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली: यूएन महासचिव का सन्देश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली को सम्बोधित करते हुए कहा है कि कोविड-19 महामारी, अपने साथ पीड़ा की एक सुनामी लाई है. उन्होंने मौजूदा संकट से निपटने के लिये, विश्व नेताओं से कोरोनावायरस वैक्सीन, परीक्षण और उपचार की न्यायसंगत सुलभता को सुनिश्चित करने वाली एक वैश्विक योजना के साथ तत्काल आगे बढ़ने का आहवान किया है.

विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली में महासचिव - वैक्सीन के लिये वैश्विक योजना का आहवान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सदस्य देशों से, मौजूदा कोरोनावायरस संकट का अन्त करने और सर्वजन के लिये एक सुरक्षित व स्वस्थ भविष्य सुनिश्चित करने के लक्ष्य के साथ, निडर निर्णय लिये जाने की पुकार लगाई है. यूएन प्रमुख ने सोमवार को विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली के 74वें सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी  पर क़ाबू पाने के लिये वैक्सीन, परीक्षण और उपचार की न्यायसंगत सुलभता सुनिश्चित की जानी होगी.