स्वास्थ्य

कोविड-19: जर्मनी - वैक्सीन समता में वाजिब योगदान करने वाला पहला देश

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार को कहा है कि कोविड-19 महामारी का ख़ात्मा करने के लिये, धनी देशों के योगदान की पुकार सुनने में, जर्मनी पहला देश बन गया है. 

भेदभाव को बढ़ावा देने वाले 'हानिकारक क़ानूनों' को हटाने का आग्रह

एचआईवी/एड्स मामलों पर संयुक्त राष्ट्र की अग्रणी एजेंसी – यूएनएड्स (UNAIDS) ने मंगलवार को ‘शून्य भेदभाव दिवस’ पर ऐसे सभी क़ानूनों को ख़त्म किये जाने का आग्रह किया है, जिनसे नाज़ुक हालात में रह रहे लोगों के साथ भेदभाव को बढ़ावा मिलता है. यूएन एजेंसी ने कहा है कि हर किसी को एक स्वस्थ, पूर्ण व गरिमामय जीवन जीने का अधिकार प्राप्त है.

अमेरिका में पहला कोविड टीका लगवाने वाली व्यक्ति से मुलाक़ात

अमेरिका में, कोविड-19 वायरस की वैक्सीन का पहला टीका लगवाने वाली पहली अमेरिकी नागरिक और न्यूयॉर्क शहर में जवाबी कार्रवाई की अग्रिम पंक्ति की कार्यकर्ता, डॉक्टर सैण्ड्रा लिण्डसे ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष, अब्दुल्ला शाहिद से मुलाक़ात की है.

अफ़ग़ानिस्तान: आठ पोलियो स्वास्थ्यकर्मियों की 'निर्दयतापूर्ण' हत्याओं की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान में चार स्थानों पर पोलियो टीकाकरण में जुटे आठ कर्मचारियों की हत्याओं की कड़े शब्दों में निन्दा की है. पिछले वर्ष नवम्बर में देशव्यापी प्रतिरक्षण अभियान शुरू होने के बाद से पहली बार ये हमले हुए हैं.

शिशु फ़ॉर्मूला मार्केटिंग है आक्रामक व भ्रामक, यूएन रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र की दो एजेंसियों ने एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा है कि दुनिया भर में माता-पिता, अभिभावक और गर्भवती महिलाएँ, बेबी फ़ॉर्मूला दुग्ध पदार्थों की आक्रामक मार्केटिंग का आसान निशाना बनने के दायरे में हैं.

कोविड-19: 'ओमिक्रॉन का BA.2 प्रकार, है चिन्ता का कारण'

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के तत्वावधान में एकत्र हुए कुछ वैज्ञानिकों ने मंगलवार को एक वक्तव्य जारी करके कहा है कि कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट से ही निकले एक और वायरस रूप BA.2 को चिन्ता का कारण मानते रहना चाहिये.

कोविड-19: स्वास्थ्य कर्मी ‘ख़तरनाक अनदेखी’ के शिकार

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य और श्रम एजेंसियों ने सोमवार को कहा है कि दुनिया भर में स्वास्थ्य टीमों को, कोविड-19 महामारी के दौरान जिस तरह की “ख़तरनाक अनदेखी” का सामना करना पड़ा है, उनसे निपटने के लिये, और ज़्यादा सुरक्षित कामकाजी हालात की दरकार है.

कोविड-19: छह अफ़्रीकी देशों को मिलेगी mRNA वैक्सीन उत्पादन के लिये टैक्नॉलॉजी 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के विरुद्ध लड़ाई में एक अहम औज़ार साबित होने वाली mRNA वैक्सीन की टैक्नॉलॉजी, अफ़्रीकी देशों को भी उपलब्ध कराई जा रही है. शुरुआत में यह प्रौद्योगिकी मिस्र, केनया, नाइजीरिया, सेनेगल, दक्षिण अफ़्रीका और ट्यूनीशिया को हस्तान्तरित की जा रही है, जिससे ये देश स्वयं इन टीकों का उत्पादन करने में सक्षम होंगे. 

भारत: ओडिशा में अस्थाई क्लीनिक के ज़रिये, स्वास्थ्य सेवाओं को मिली मज़बूती

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत के ओडिशा प्रदेश में, कोविड-19 के दौरान अपने साझीदारों के साथ मिलकर ऐसे अस्थाई क्लीनिक स्थापित किये, जिनसे लोगों को निर्बाध ढंग से अति-आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध कराई गई हैं.

योरोपीय क्षेत्र में, बाल अवस्था कैंसर के उपचार व देखभाल में व्याप्त विषमताएँ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार को अपनी एक नई रिपोर्ट जारी की है जिसमें योरोपीय क्षेत्र में बाल्यावस्था में कैंसर मामलों के निदान, उपचार व देखभाल में व्याप्त विषमताएँ उजागर हुई हैं. यूएन एजेंसी के अनुसार, हर वर्ष बच्चों में कैंसर के हज़ारों मामलों का पता चलता है, जिनमें से बड़ी संख्या में बच्चों की मौतें अब भी हो रही हैं.