स्वास्थ्य

चिकित्सा सामग्री से भरा यूनीसेफ़ का विमान यमन पहुँचा

संयुक्त राष्ट्र बालकोष – यूनीसेफ़ ने युद्धग्रस्त देश यमन में कोविड-19 का फैलाव रोकने में मदद के लिए जीवनदाई सामग्री के साथ एक विमान भेजा है जो शनिवार को राजधानी सना पहुँच गया है.

कोविड-19: कारगर वैक्सीन व उपचार मुहैया कराने पर केन्द्रित नई पहल

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम और उसके इलाज में असरदार वैक्सीन, दवाइयों और स्वास्थ्य टैक्नॉलजी को सभी के लिए मुहैया कराने के इरादे से शुक्रवार को 30 देशों और कई अन्तरराष्ट्रीय संगठनों ने एक नई पहल – ‘टैक्नॉलॉजी एक्सेस पूल’ – शुरू की है. 

वैश्विक स्वास्थ्य में निवेश के लिए यूएन एजेंसी का नया फ़ाउन्डेशन

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के लिए धनराशि जुटाने के लक्ष्य से एक नए संस्थान (WHO Foundation) की स्थापना की गई है जिसके ज़रिये ग़ैर-पारम्परिक स्रोतों से धनराशि जुटाने का इन्तज़ाम किया जाएगा. यह संस्थान एक स्वतन्त्र इकाई के रूप में दानदाताओं से मिलने वाली सहायता की बुनियाद को मज़बूत बनाने के लिए रणनीति का अहम हिस्सा होगा.

अनौपचारिक रोज़गार पर गाज

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन ने कहा है कि कोविड-19 के कारण दुनिया भर में अनौपचारिक सैक्टर में काम करने वाले लगभग दो अरब लोगों की आजीविका पर संकट के बादल मँडराने लगे हैं. करोड़ों लोगों के भुखमरी के गर्त में चले जाने का भी ख़तरा है. एक वीडियो फ़ीचर...

कोविड-19: बाल टीकाकरण में दशकों की वैश्विक प्रगति पर मँडराता ख़तरा

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने फिर आगाह किया है कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण टीकाकरण सेवाएँ बाधित हुई हैं जिसके कारण लाखों नन्ही जानों पर डिप्थीरिया, ख़सरा और न्यूमोनिया जैसी घातक बीमारियों का जोखिम मँडरा रहा है. सुरक्षित और असरदार टीकाकरण की बदौलत बाल मृत्यु दर में पिछले 20 सालों में 50 फ़ीसदी की गिरावट आई है लेकिन महामारी के कारण नियमित टीकाकरण सेवाएँ लगभग 70 देशों प्रभावित हुई हैं जिससे एक साल से कम उम्र के आठ करोड़ बच्चों पर असर पड़ने की आशंका है.

दुष्प्रचार व नफ़रत से टक्कर

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने गुरुवार को ‘Verified’ यानि ‘प्रमाणिक’ मुहिम की शुरुआत की है जिससे डिजिटल माध्यमों पर भरोसेमन्द और सटीक जानकारी की मात्रा और पहुँच बढ़ाने के लिए ‘डिजिटल फ़र्स्ट रिस्पॉन्डर्स’ की एक टीम तैयार की जाएगी.  “हम अपने वर्चुअल माध्यमों में अपनी जगह उन लोगों के लिए नहीं छोड़ सकते जो झूठ, डर और नफ़रत फैलाते हैं.”

कोविड-19: दुष्प्रचार व नफ़रत से टक्कर के लिए यूएन की नई पहल - 'Verified'

संयुक्त राष्ट्र ने कोविड-19 महामारी के दौरान फैलती झूठी सूचनाओं और नफ़रत सन्देशों पर लगाम कसने के इरादे से एक नई पहल शुरू की है. इस मुहिम के ज़रिए दुनिया भर में लोगों को सशक्त बनाया जाएगा ताकि वे सटीक सूचना साझा करके लोगों की ज़िन्दगियाँ बचाई जा सकें और वैश्विक एकजुटता को बढ़ावा मिल सके.

कोविड-19: जवाबी कार्रवाई को गति देने वाले ‘ऐतिहासिक प्रस्ताव’ का स्वागत 

विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली ने अभूतपूर्व एकजुटता दिखाते हुए कोविड-19 के ख़िलाफ़ राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर जवाबी कार्रवाई के लिए एक ऐतिहासिक प्रस्ताव पारित किया है. बुधवार को यूएन स्वास्थ्य एजेंसी – विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख ने इस प्रस्ताव का स्वागत करते हुए कहा कि इसमें पेश स्पष्ट रोडमैप से कोरोनावायरस पर क़ाबू पाने के प्रयासों को सतत और त्वरित ढंग से आगे बढ़ाया जाएगा. 

कोविड-19: 'अफ्रीकी प्रगति को बचाने के लिए एकजुटता की दरकार'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी ने अफ्रीकी महाद्वीप में अभी तक हासिल की गई प्रगति के खो जाने का जोखिम पैदा कर दिया है. उन्होंने बुधवार को तमाम दुनिया से अफ्रीकी लोगों के साथ मज़बूती से खड़े होने का आग्रह किया है – अभी और महामारी से बेहतर तरीक़े से उबरने के प्रयासों के दौरान.

विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली: कोविड-19 पर जवाबी कार्रवाई के 'व्यापक मूल्याँकन' पर सहमति

मंगलवार को विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली के वर्चुअल सत्र में वैश्विक महामारी कोविड-19 के ख़िलाफ़ जवाबी कार्रवाई की स्वतन्त्र रूप से समीक्षा कराए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया है. इस प्रस्ताव में संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी – विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रदर्शन के मूल्याँकन की बात भी कही गई है.  विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के कामकाज के वार्षिक निरीक्षण से जुड़ा आयोजन है.