संस्कृति और शिक्षा

भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस पर शरणार्थियों का सुरीला उपहार

भारत के 75वें भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर, संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी, UNHCR ने, कई बार ग्रैमी पुरस्कार विजेता रहे, भारतीय संगीतकार और पर्यावरणविद्, रिकी केज के सहयोग से, एक संगीत वीडियो का निर्माण किया, जिसमें 4 राष्ट्रीयताओं के 12 शरणार्थी, भारतीय राष्ट्रगान गा रहे हैं. सभी गायकों ने एक स्वर में कहा, "हम इस 75वें स्वतंत्रता दिवस पर भारत के लोगों को बधाई देते हैं. साथ ही, आपकी दया, प्यार और सहयोग के लिये भारत की जनता एवं सरकार को धन्यवाद देते हैं." वीडियो फ़ीचर...

संघर्ष प्रभावित बच्चों की शिक्षा के लिये इन्तज़ार नहीं किया जा सकता

आपात स्थिति और लम्बे समय तक चलने वाले संकटों के दौरान, शिक्षा के लिये संयुक्त राष्ट्र कोष, ‘एजुकेशन कैन नॉट वेट (ECW)’ के ज़रिये, इथियोपिया से लेकर चाड और फ़लस्तीन तक, दुनिया भर में संघर्ष से प्रभावित लाखों लड़कों और लड़कियों के सपने पूरे करने में मदद की जा रही है.

पारम्परिक ज्ञान को संरक्षित रखने में आदिवासी महिलाओं के योगदान का जश्न

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने आदिवासी महिलाओं की आवाज़ बुलन्द करने का आहवान किया है, जो सर्वजन की ख़ातिर एक निष्पक्ष व न्यायपूर्ण भविष्य प्राप्ति के लिये महत्वपूर्ण है.

बांग्लादेश: शरणार्थियों की शिक्षा बाधाओं से निपटने के लिये, रोहिंज्या और बांग्लादेशी शिक्षक एकजुट

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी - UNHCR के बांग्लादेश में एक कार्यक्रम के तहत, रोहिंज्या शरणार्थी बच्चों की औपचारिक शिक्षा तक पहुँच बनाने के लिये, रोहिंज़्या शिक्षकों को मेज़बान समुदाय के शिक्षकों के साथ जोड़ा जा रहा है. इससे दोनों समुदायों के बीच बेहतर सामंजस्य बनाने में मदद मिल रही है और बच्चों के लिये औपचारिक शिक्षा प्राप्त करने के रास्ते खुल रहे हैं.

दुनिया भर के मैनग्रोव संरक्षण के लिये वैश्विक जागरूकता अहम, यूनेस्को

संयुक्त राष्ट्र के शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) की महानिदेशिका ने कहा है कि बहुत सी नस्लों के लिये उनके आवास और जलवायु प्रभावों के विरुद्ध एक महत्वपूर्ण सुरक्षा रेखा के रूप में काम करने वाले, दुनिया भर के मैनग्रोव के संरक्षण के लिये, समय हाथ से निकलता जा रहा है. 

भारत: दयालुता के प्रसार के लिये वैश्विक मुहिम

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक संगठन - यूनेस्को के शान्ति एवं सतत विकास के लिये महात्मा गांधी शिक्षा संस्थान (UNESCO MGIEP) के #KindnessMatters अभियान में, हज़ारों युवा भारतीय शामिल हुए हैं, जिसका उद्देश्य है - युवाओं के बीच उदारता की सकारात्मक संस्कृति को बढ़ावा देना और विश्व को एक बेहतर जगह बनाने के लिये प्रोत्साहित करना.

संकट-प्रभावित 22 करोड़ बच्चों को शिक्षा सम्बन्धी समर्थन की दरकार

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट में चौंका देने वाले आँकड़े दर्शाते हैं कि संकट-प्रभावित स्कूली उम्र के ऐसे बच्चों की संख्या बढ़ रही है जिन्हें शैक्षणिक समर्थन की आवश्यकता है. मंगलवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार, ज़रूरतमन्द बच्चों की संख्या वर्ष 2016 में साढ़े सात करोड़ से बढ़कर अब 22 करोड़ 20 लाख हो गई है. 

सर्वाधिक वंचितों के लिये, शिक्षा अवसरों की सुलभता सबसे कम

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) की एक नई रिपोर्ट में आगाह किया गया है कि विश्व भर में बड़ी संख्या में वयस्क, अब भी पढ़ाई-लिखाई के अवसरों से वंचित हैं और इस स्थिति में बदलाव लाने की आवश्यकता है. यूएन एजेंसी के अनुसार वयस्कों की शिक्षा सुनिश्चित करने के मार्ग में एक बड़ी चुनौती, सर्वाधिक ज़रूरतमन्दों के लिये इसे सुलभ बनाना है.

टैक्सस हमले के सन्दर्भ में यूनीसेफ़ की पुकार - स्कूलों को बनाना होगा सुरक्षित स्थान

संयुक्त राष्ट्र बाल एजेंसी – UNICEF की प्रमुख कैथरीन रसैल ने बुधवार को कहा है कि सरकारों को ये सुनिश्चित करने के लिये और ज़्यादा कार्रवाई करनी होगी कि स्कूल, लड़कों और लड़कियों के लिये एक सुरक्षित स्थान बने रहें. उनका यह बयान, अमेरिका के टैक्सस प्रान्त में एक घातक स्कूल हमले में कुछ बच्चों व शिक्षकों की मौत के सन्दर्भ में आया है.

सत्ता गलियारों में युवजन की आवाज़ें बुलन्द करने के लिये अभियान

संयुक्त राष्ट्र ने युवजन की राजनैतिक भागीदारी को समर्थन देने और सार्वजनिक जीवन में उनकी आवाज़ें बुलन्द करने के लिये, बुधवार को, संयुक्त राष्ट्र की युवा मामलों की दूत के सहयोग से एक अभियान शुरू किया है.