जलवायु परिवर्तन

जलवायु कार्रवाई के लिए सूझबूझ भरे निर्णयों की आवश्यकता पर बल

दक्षिण प्रशांत क्षेत्र के देशों की यात्रा को समाप्त करते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने वैश्विक समुदाय से अपील की है कि जलवायु कार्रवाई के लिए समझदारी भरे निर्णयों की ज़रूरत हैं क्योंकि पूरे ग्रह का भविष्य दांव पर लगा है. 

यूएन महासचिव ने तुवालु और दुनिया को डूबने से बचाने की अपील की

तुवालु की यात्रा कर रहे संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि समुद्र का जलस्तर बढ़ने से तुवालु के सामने अस्तित्व का संकट पनप रहा है. तुवालु में सबसे ऊंची जगह समुद्री लहरों से महज़ पांच मीटर ही ऊपर है. तुवालु को बचाने के लिए उन्होंने जलवायु परिवर्तन के ज़िम्मेदार देशों से कार्रवाई की अपील की है.

महासागरों की रक्षा करने और जलवायु कार्रवाई में फ़िजी निभा रहा है 'अग्रणी भूमिका'

फ़िजी में सामुदायिक और सामाजिक दायित्व निभाने की लंबी परंपरा रही है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने फ़िजी की संसद को संबोधित करते हुए कहा कि अपने परिवेश के साथ सामंजस्य स्थापित करने की प्रवृत्ति के चलते स्थानीय लोगों का जलवायु परिवर्तन और पर्यावरणीय मुद्दों पर  प्रयासों की अगुवाई करना स्वाभाविक है.

समुद्र का बढ़ता जल स्तर और जलवायु परिवर्तन पैसिफ़िक देशों के लिए बड़ी चुनौतियां

महासचिव के तौर पर पहली बार फ़िजी का दौरा कर रहे संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि पैसेफ़िक देशों के नेता दो बुनियादी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं: जलवायु परिवर्तन और समुद्र के जलस्तर में वृद्धि होना, जिनसे निचले तटीय देशों के लिए अस्तित्व का संकट पैदा हो रहा है. यूएन प्रमुख ने गुरुवार को सूवा में पैसिफ़िक आईलैंड्स फ़ॉरम को संबोधित किया है.

जलवायु परिवर्तन के विरूद्ध लड़ाई में 'अग्रिम मोर्चे पर हैं न्यूज़ीलैंड के युवा'

न्यूज़ीलैंड में माओरी समुदाय के युवाओं और पैसिफ़िक द्वीपीय देशों के लोगों से बातचीत के दौरान संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु परिवर्तन से लड़ाई में युवा नेतृत्व के प्रति आभार जताया है. जलवायु कार्रवाई के तहत उन्होंने कोयला आधारित नए बिजली संयंत्रों को रोकने, वेतन के बजाए कार्बन पर टैक्स लगाने और जीवाश्म ईंधन से सब्सिडी वापस लेने को समाधान का हिस्सा बताया है.

जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए हरसंभव प्रयास पर ज़ोर

अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी दिवस पर संयुक्त राष्ट्र महासभा में दुनिया में सभी के लिए टिकाऊ और न्योयचित भविष्य के निर्माण का सर्वश्रेष्ठ रास्ता तलाशने पर चर्चा हुई. इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए शिक्षा और जलवायु कार्रवाई को बढ़ावा देने अहम माना गया है. जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए इस साल सितंबर में न्यूय़ॉर्क में अंतरराष्ट्रीय शिखर वार्ता होनी है.

'नींद से जगाने वाली' घंटी है जलवायु परिवर्तन पर नई यूएन रिपोर्ट

जलवायु परिवर्तन से संबंधित ख़तरों और प्राकृतिक आपदाओं की लगातार बढ़ती संख्या दुनिया के लिए एक चेतावनी भरी घंटी है. संयुक्त राष्ट्र के मौसम विज्ञान संगठन (WMO) की 'स्टेट ऑफ़ द ग्लोबल क्लाइमेट' या 'वैश्विक जलवायु की स्थिति' रिपोर्ट को जारी करते हुए यूएन महासचिव ने जलवायु कार्रवाई की महत्वाकांक्षा बढ़ाने और टिकाऊ समाधानों को तलाशने की अपील की है.

घातक तूफ़ानों से निपटने के लिए हो त्वरित जलवायु कार्रवाई: गुटेरेश

चक्रवाती तूफ़ान 'इडाई' के बाद मृतकों का बढ़ता आंकड़ा जलवायु परिवर्तन के ख़तरों के प्रति एक और चेतावनी भरी घंटी है. मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सचेत किया कि अगर इस चुनौती से निपटने के लिए तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो जलवायु परिवर्तन की दृष्टि से संवेदनशील मोज़ाम्बिक जैसे देशों को इसकी क़ीमत चुकानी पड़ेगी.

जलवायु कार्रवाई के पक्ष में 'युवा आवाज़ों ने बंधाई उम्मीद'

जलवायु परिवर्तन पर ठोस कार्रवाई न हो पाने के विरोध में दुनिया भर में शुक्रवार को स्कूली बच्चों ने प्रदर्शन किए. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि वह विरोध प्रदर्शन कर रहे बच्चों के डर को समझते हैं लेकिन भविष्य के लिए आशावान हैं.  

सिकुड़ती जैव विविधता खाद्य और कृषि प्रणाली के लिए ख़तरा

संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि खाद्य प्रणाली को मज़बूत आधार प्रदान करने वाली जैव विविधता धीरे धीरे गायब हो रही है. इससे भोजन, आजीविका, स्वास्थ्य और पर्यावरण के भविष्य के लिए  बड़ा ख़तरा पैदा होता जा रहा है.