मध्य पूर्व

संयुक्त राष्ट्र और अरब देशों में मज़बूत संबंधों पर बल

ट्यूनिस में अरब लीग की शिखर वार्ता में हिस्सा ले रहे संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अंतरराष्ट्रीय पटल पर उत्तर अफ़्रीका और मध्य पूर्व क्षेत्र की अहमियत को रेखांकित किया है. अपने संबोधन में उन्होंने अरब जगत के देशों और संयुक्त राष्ट्र में आपसी सहयोग को और मज़बूत बनाए जाने की अपील की है.

गोलन पहाड़ियों पर अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों की अवहेलना 'विफल' होगी

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अधिकांश सदस्य देशों ने गोलन पहाड़ियों के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय क़ानून को बरक़रार रखने की अहमियत पर बल दिया है. हाल ही में अमेरिका ने एकतरफ़ा घोषणा करते हुए गोलन पहाड़ियों पर इसराइल की संप्रभुता को मान्यता देने वाली एक आधिकारिक घोषणा की है.

उकसावेपूर्ण कार्रवाई से मध्य पूर्व की स्थिरता को ख़तरा

इसराइल और फ़लस्तीन में बढ़ते तनाव के बीच, मध्य पूर्व में संयुक्त राष्ट्र के विशेष समन्वयक ने सुरक्षा परिषद को मौजूदा स्थिति की जानकारी देते हुए क्षेत्र में कायम स्थिति पर चिंता जताई है. आतंकवादी हमलों, आम नागरिकों को निशाना बनाए जाने और प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ बदले की भावना से कार्रवाई के चलते पहले से ही संवेदनशील क्षेत्र में फिर से गंभीर संकट पैदा हो सकता है.

सीरिया में शांति स्थापना अंतरराष्ट्रीय समुदाय का 'नैतिक दायित्व'

दुनिया भर में सरकारों का नैतिक दायित्व बनता है कि वे सीरियाई नागरिकों को उनके साझा भविष्य के लिए एक साथ लाने में सहायता प्रदान करें. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सीरिया में आठ साल से चले आ रहे संघर्ष के अंत के लिए इसे ज़रूरी बताया है. 

सीरिया के लिए 7 अरब डॉलर की मदद का संकल्प

सीरिया में संकट का सामना कर रहे लोगों के लिए धनराशि जुटाने के उद्देश्य से ब्रसेल्स में हुए सम्मेलन में रिकॉर्ड सात अरब डॉलर की सहायता राशि की घोषणा की गई है. 50 से ज़्यादा देशों के विदेश मंत्री इस सम्मेलन में शामिल हुए और इस राशि से सीरिया में और बाहर रह रहे ज़रूरतमंदों को मदद पहुंचाने के काम में मदद मिल सकेगी. 

'समाप्त नहीं हुआ है अभी सीरिया में संकट'

सीरिया के भविष्य के लिए समर्थन जुटाने के उद्देश्य से होने वाले 'ब्रसेल्स सम्मेलन' से पहले, संयुक्त राष्ट्र की तीन एजेंसियों ने आगाह किया है कि संकट अब भी बना हुआ है. सीरिया में विकट परिस्थितियों में रह रहे लोगों की सतत और व्यापक सहायता के लिए 3.3 अरब डॉलर की अपील की गई है.

सीरिया: रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल संबंधी रिपोर्ट पर चर्चा

दुनिया भर में रासायनिक हथियारों पर नज़र रखने वाले संगठन की एक नई रिपोर्ट पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बंद दरवाज़े के भीतर एक बैठक में चर्चा हुई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा मानने का पर्याप्त आधार है कि पिछले साल सीरिया के पूर्वी घोटा पर नियंत्रण के लिए हुई लड़ाई में रासायनिक हथियारों से हमला किया गया.

यमन में मानवीय मदद के लिए 2.6 अरब डॉलर का संकल्प

यमन में जारी संकट से निपटने के लिए हो रहे प्रयासों के तहत दानदाता देशों ने मानवीय राहत अभियानों के लिए 2.6 अरब डॉलर की सहायता राशि प्रदान करने का संकल्प लिया है. यह धनराशि पिछले साल के मुक़ाबले 30 फ़ीसदी अधिक है जिससे यमन में विकट परिस्थितियों में रह रहे लाखों लोगों तक मानवीय राहत पहुंचाने के काम में मदद मिल सकेगी. 

'यमन के प्रति आशावान होने का अवसर'

यमन सरकार और हूती विद्रोहियों में हुदायदाह पुन: तैनाती योजना के पहले चरण पर सहमति बनना दर्शाता है कि दोनों पक्ष स्टॉकहोम समझौते के लिए प्रतिबद्ध हैं. सुरक्षा परिषद को यह जानकारी देते हुए यमन के लिए यूएन महासचिव के विशेष दूत मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने बताया कि समझौते के अमलीकरण में उल्लेखनीय प्रगति हुई है. 

यमन में लाखों लोग भुखमरी के कगार पर

यमन में लगभग एक करोड़ लोग भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं. संयुक्त राष्ट्र आपात राहत मामलों के समन्वयक ने गहरी चिंता जताते हुए कहा है कि हुदायदाह शहर के बाहरी इलाक़े में एक खाद्य सामग्री का बड़ा भंडार मौजूद है लेकिन पिछले साल सितंबर से वहां पहुंचना मुश्किल साबित हुआ है.