मध्य पूर्व

लीबिया में हिरासत केंद्र पर मिसाइल का गिरना हो सकता है 'युद्धापराध' - यूएन

 लीबिया की राजधानी त्रिपोली में एक हिरासत केंद्र के युद्धक गतिविधियों की चपेट में आने से अनेक लोग हताहत हुए हैं जिनमें अनेक प्रवासी और शरणार्थी भी थे. संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने कहा है कि इस युद्धक गतिविधि को युद्धापराध माना जा सकता है और इसके लिए निंदा से आगे बढ़कर क़दम उठाए जाने का आहवान किया है.

सीरिया: बच्चो की सैनिकों के तौर पर भर्ती रोकने पर सहमति

सीरियन डेमोक्रेटिक फ़ोर्सेज़ (एसडीएफ़) ने संयुक्त राष्ट्र के साथ एक कार्ययोजना पर हस्ताक्षर किए हैं जिससे 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की सैनिकों के तौर पर भर्ती और हिंसा में उनके इस्तेमाल की रोकथाम हो सकेगी. सीरिया में लंबे समय से चले आ रही हिंसा का बच्चे बड़ी संख्या में शिकार हुए हैं.

'तबाही के कगार पर' है इदलिब प्रांत

11 वैश्विक मानवीय संगठनों के प्रमुखों ने चेतावनी जारी की है कि सीरिया में विद्रोहियों के नियंत्रण वाला प्रांत इदलिब विनाशकारी हालात से जूझ रहा है और वहां तीस लाख आम नागरिकों की जान ख़तरे में है. इनमें दस लाख बच्चे शामिल हैं. इदलिब में सरकारी सुरक्षा बलों ने विद्रोहियों के विरुद्ध बड़ा अभियान छेड़ा है जिससे हिंसा तेज़ हो गई है.

फ़लस्तीनी शरणार्थी एजेंसी की उपलब्धियां 'हमारी साझा सफलता'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाना ज़रूरी है कि फ़लस्तीनी शरणार्थियों को राहत पहुंचाने में जुटी यूएन एजेंसी (UNRWA) को अपना काम लगातार जारी रखने के लिए मदद मिलती रहे. उन्होंने कहा कि एजेंसी के प्रयासों को सभी के लिए साझा दायित्व और साझा सफलता के तौर पर देखा जाना चाहिए.

फ़ारस की खाड़ी में तनाव कम करने की अपील

संयुक्त राष्ट्र में ईरान के स्थाई प्रतिनिधि माजिद तख्त रावांची ने कहा है कि फ़ारस की खाड़ी में बढ़ते तनाव को कम करने के लिए क्षेत्रीय स्तर पर सही मायनों में संवाद स्थापित करने की आवश्यकता है. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश से देशों को वार्ता की मेज़ तक लाने में सक्रिय भूमिका निभाने का अनुरोध किया है. सुरक्षा परिषद ने सभी पक्षों से संयम बरतने की अपील जारी की है.

खशोगी हत्या मामले में सघन जाँच की माँग

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त एक स्वतंत्र मानवाधिकार जाँचकर्ता ने कहा है कि सऊदी अरब मूल के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की ज़िम्मेदारी देश के सत्तारूढ़ शाही परिवार के उच्चस्तरीय अधिकारियों पर है.

स्वतंत्र मानवाधिकार जाँचकर्ता ने हत्या के इस अपराध में सऊदी अरब सरकार की ज़िम्मेदारी ठहराने का आहवान किया है.

यमन में छीना जा रहा है 'बच्चों के मुंह से निवाला'

संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के प्रमुख डेविड बीज़ली ने क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा है कि यमन में हुती विद्रोहियों के नियंत्रण वाले इलाक़ों में भूखे बच्चों के मुंह से निवाला छीना जा रहा है. सुरक्षा परिषद को जानकारी देते हुए उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि अगर समझौतों का सम्मान नहीं हुआ तो कुछ ही दिनों में भोजन सामग्री की सहायता को रोक दिया जाएगा.

यमन में माताओं और शिशुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ढहने के कगार पर

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) का कहना है कि यमन में चार साल से जारी हिंसा के चलते माताओं और शिशुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त होने के कगार पर हैं. एक रिपोर्ट में यूनीसेफ़ ने युद्धग्रस्त क्षेत्रों में प्रसव के दौरान और बच्चों के लालन-पोषण में आने वाली मुश्किलों को रेखांकित किया है.

यमन में दुर्गम इलाक़ों में खाद्य सामग्री पहुँचाने में कामयाबी

यमन में लगातार गहराते जा रहे मानवीय संकट के हालात में संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम विद्रोहियों के क़ब्ज़े वाले उत्तरी इलाक़े निह्म तक पहुँचने में कामयाबी हासिल की है. यमन में 2015 में हूती विद्रोहियों और सऊदी अरब द्वारा समर्थित सरकारी गठबंधन के बीच गृह युद्ध शुरू होने के बाद से ऐसा पहली बार संभव हो सका है.

सीरिया में तबाही और तकलीफ़ों पर खून क्यों नहीं खौलता?

सीरिया में आठ वर्षों के गृहयुद्ध के दौरान जानलेवा हवाई हमलों और आतंकवादी हमलों ने लाखों लोगों को मौत के घाट उतार दिया और लाखों अन्य को ज़ख़्मी छोड़ दिया. ऐसे हालात में संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत कार्यों की डिपुटी कॉर्डिनेटर उर्सुला मुएलर ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद के सामने एक चुभने वाला सवाल रखा – क्या से परिषद ऐसे हालात में कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर सकती जब स्कूलों और अस्पतालों पर हमलों को युद्ध की एक रणनीति के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, फिर भी इस पर लोगों का ख़ून क्यों नहीं खौलता?