मध्य पूर्व

सीरिया: दक्षिणी इलाक़े में, आम लोगों की स्थिति, 'युद्ध बन्धक जैसी'

संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष मानवाधिकार पदाधिकारी मिशेल बाशेलेट ने सीरिया में आम लोगों की मुश्किलों व तकलीफ़ों के बारे में गुरूवार को एक बार फिर ख़तरे की घण्टी बजाई है क्योंकि देश के दक्षिणी शहर दरा के भीतर व आसपास, सरकारी सेनाओं व विपक्षी सशस्त्र गुटों के बीच गहन लड़ाई और अन्धाधुन्ध गोलाबारी ने रिहायशी इलाक़ों को एक तरह से बन्धक सा बना दिया है.

बेरूत विस्फोट का एक वर्ष - सहायता का संकल्प लिये जाने का अवसर

लेबनान की राजधानी बेरूत में भीषण धमाकों से हुई व्यापक बर्बादी के एक वर्ष पूरा होने के बाद, पीड़ितों के लिये समर्थन जुटाने के इरादे से, बुधवार को एक सम्मेलन आयोजित किया गया. संयुक्त राष्ट्र की उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद ने अपने सम्बोधन में, इस आयोजन को देश की बेहतरी के लिये नए सिरे से संकल्प लिये जाने और मानवीय तबाही की रोकथाम करने का अवसर बताया है.

इराक़: यज़ीदी समुदाय को न्याय दिलाने के लिये यूएन प्रमुख ने जताई प्रतिबद्धता

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस्लामिक स्टेट (दाएश) के बर्बरतापूर्ण कृत्यों से जीवित बच गए यज़ीदी समुदाय के व्यक्तियों की मदद के लिये, एक नया क़ानून जल्द लागू किये जाने का आग्रह किया है.

बेरूत धमाकों के एक वर्ष बाद भी कठिनाई में जीवन गुज़ार रहे परिवार - यूनीसेफ़

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने मंगलवार को एक सर्वेक्षण के नतीजे प्रकाशित किये हैं, जिनके मुताबिक़ लेबनान की राजधानी बेरूत के बन्दरगाह पर 4 अगस्त 2020 को हुए विनाशकारी धमाकों के एक वर्ष बाद, 98 फ़ीसदी परिवार ज़रूरतमन्द हालात में जीवन गुज़ार रहे हैं. 

लेबनान: बेरूत विस्फोट का एक साल, तबाही बढ़ती ही गई है

लेबनान की राजधानी बेरूत के एक भण्डार ग्रह में, 4 अगस्त  2020 को हुए एक विनाशकारी विस्फोट ने, शहर के बीचों-बीच का एक ख़ासा बड़ा इलाक़ा तबाह कर दिया था. प्रभावित इलाक़ा ऐसा नज़र आ रहा था जैसे कि वहाँ कोई युद्ध लड़ा गया हो. उस विस्फोट के दिन, और बाद के दिनों में 200 से ज़्यादा लोग मारे गए थे और हज़ारों अन्य घायल हुए. उस विस्फोट में, बहुत से लोगों की सम्पत्तियाँ व आजीविकाएँ पूरी तरह तबाह हो गई थीं.

ग़ाज़ा: मानवीय राहत प्रयास जारी, मगर राजनैतिक समाधान की अब भी दरकार

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष उपसमन्वयक लिन हेस्टिन्ग्स ने कहा है कि अन्तरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा ग़ाज़ा को तात्कालिक सहायता मुहैया कराए जाने के बावजूद, इसराइल और फ़लस्तीन के बीच टकराव का राजनैतिक समाधान ढूंढे जाने की आवश्यकता है.  

फ़लस्तीनी इलाक़ों में, यथाशीघ्र चुनाव कराने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र के तीन स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने कहा है कि इसराइल के क़ब्ज़े वाले फ़लस्तीनी इलाक़ों में प्रस्तावित चुनाव यथा शीघ्र फिर से निर्धारित किये जाएँ और पूर्वी येरूशेलम को भी उनमें शामिल किया जाए.

लेबनान: सार्वजनिक जल प्रणाली ध्वस्त होने के कगार पर, यूनीसेफ़ की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने शुक्रवार को चेतावनी जारी की है कि लेबनान में सार्वजनिक जल प्रणाली पर भीषण बोझ है और यह किसी भी क्षण ध्वस्त हो सकती है. अगर ऐसा हुआ तो कुल आबादी के 71 फ़ीसदी हिस्से, यानि 40 लाख से अधिक लोगों के लिये, जल आपूर्ति ठप हो जाने का तात्कालिक संकट खड़ा हो जाएगा. 

इराक़: ईद-अल-अज़हा से ठीक पहले बग़दाद में बम हमले की कठोर निन्दा 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इराक़ की राजधानी बग़दाद के एक व्यस्त बाज़ार में ‘भयावह बम हमले’ की कड़े शब्दों में निन्दा की है. ईद-अल-अज़हा से ठीक पहले किये गए इस हमले में आम लोगों को निशाना बनाया गया है. 

लीबिया: राजनैतिक गतिरोध दूर करने के लिये सकारात्मक क़दमों की दरकार

संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत यैन क्यूबिस ने गुरूवार को सुरक्षा परिषद में चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि लीबिया में युद्धविराम समझौते को लागू करने वाले – एक दूसरे पर निर्भर रास्ते और राजनैतिक प्रगति और आर्थिक सुधार, पीछे की ओर मुड़ जाने के जोखिम का सामना कर रहे हैं.