मध्य पूर्व

कोविड-19: इसराइल द्वारा फ़लस्तीनियों के साथ सहयोग की सराहना

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिए संयुक्त राष्ट्र  विशेष समन्वयक निकोलय म्लादेनॉफ़ ने कोविड-19 महामारी मुक़ाबला करने के लिए इसराइली और फ़लस्तीनी सरकारों के बीच हो रहे सहयोग  सराहना की है.

कोविड-19 से निपटने में फ़लस्तीनियों के साथ भेदभाव स्वीकार्य नहीं

संयुक्त राष्ट्र के एक मानवाधिकार विशेषज्ञ ने इसराइल, फ़लस्तीनी प्राधिकरण और हमास से आग्रह किया है कि उन्हें ग़ाज़ा, पश्चिमी तट और पूर्वी येरूशेलम में सभी फ़लस्तीनी लोगों को भी कोविड-19 महामारी का मुक़ाबला करने के लिए उनके स्वास्थ्य का अधिकार सुनिश्चित करने के लिए अपनी अंतरराष्ट्रीय क़ानूनी ज़िम्मेदारियाँ भली-भाँति तरीक़े से निभाएँ.

सीरिया: मानवीय त्रासदी व बेइंतेहा तकलीफ़ों को रोकने की पुकार

सीरिया में मौजूदा गृहयुद्ध व ख़ून-ख़राबा दसवें वर्ष में दाख़िल हो चुका है और इस अवसर पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत ने इंसानों की भीषण तकलीफ़ों की तरफ़ ध्यान खींचते हुए कहा है कि इदलिब में हाल ही में दस लाख से भी ज़्यादा लोग विस्थापित हुए हैं और मानवीय त्रासदी और ज़्यादा गहराती जा रही है.

सीरिया में ‘मार-काट और मानवाधिकारों का हनन’ रोकने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने सीरिया में हिंसा से प्रभावित आम लोगों को मदद जारी रखने के अपने संकल्प को फिर दोहराया है. मार्च महीने में सीरिया में हिंसक संघर्ष दसवें वर्ष में प्रवेश कर रहा है. यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अपने बयान में कहा है कि दसवें साल में पहले जैसी हिंसा व मार-काट और अंतराष्ट्रीय मानवाधिकार व मानवीय राहत क़ानूनों का मख़ौल उड़ाए जाने की इजाज़त नहीं दी जा सकती. 

इराक़: विदेशी सुरक्षा बलों पर हमले के बाद संयम बरतने का आग्रह

इराक़ में संयुक्त राष्ट्र मिशन ने कैंप ताजी में विदेशी सुरक्षा बलों पर हुए घातक हमले की निंदा करते हुए अधिकतम संयम बरते जाने की अपील की है. इस हमले में इस्लामिक स्टेट (दाएश) के ख़िलाफ अमेरिकी नेतृत्व में कार्रवाई के लिए तैनात गठबंधन सैनिकों को निशाना बनाया गया जिसमें तीन सुरक्षाकर्मियों की मौत हुई है. 

यमन: सैन्य गतिविधियाँ तुरंत रोकने की पुकार

यमन के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत मार्टिन ग्रिफ़िथ्स ने यमन के उत्तरी इलाक़े का दौरा करते हुए सैन्य गतिविधियाँ तुरंत रोके जाने की पुकार लगाई है. साथ ही उन्होंने युद्धरत पक्षों से से भी युद्धक गतिविधियों में कमी लाने के लिए साथ मिलकर काम करने का आग्रह किया है.

लीबिया में संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि का इस्तीफ़ा

लीबिया में संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि ग़स्सान सलामे ने दो वर्ष से ज़्यादा के अपने कार्यकाल के बाद सोमवार को अपने पद से इस्तीफ़ा देने की घोषणा की. लंबे समय से अस्थिरता व हिंसा से जूझ रहे लीबिया में शांति स्थापित करने के प्रयासों में जुटे यूएन मिशन (UNSMIL) प्रमुख ने अपने त्यागपत्र की वजह काम का भारी दबाव होना बताया है.