मध्य पूर्व

क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में न्यायसंगत टीकाकरण सुनिश्चित किये जाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने इसराइल से आग्रह किया है कि क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में रह रहे फ़लस्तीनियों के लिये कोविड-19 वैक्सीन के त्वरित और न्यायसंगत वितरण को सुनिश्चित किया जाना होगा. ग़ाज़ा और पश्चिमी तट में कोविड-19 महामारी के कारण संक्रमणों और मौतों की संख्या बढ़ रही है जिससे चिन्ता गहरा रही है.    

खाड़ी क्षेत्र: आपसी मतभेदों को पाटने की घोषणा का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मंगलवार को खाड़ी सहयोग परिषद (Gulf Cooperation Council) की शिखर वार्ता के दौरान क्षेत्रीय एकजुटता और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिये की गई घोषणा का स्वागत किया है. अल उला घोषणा के ज़रिये खाड़ी क्षेत्र में शान्ति व समृद्धि को मज़बूती प्रदान किये जाने का लक्ष्य रखा गया है.  

अमेरिका से सीरिया में, पुनर्निर्माण की ख़ातिर, इकतरफ़ा प्रतिबन्ध हटाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञ एलैना दौहान ने अमेरिका से सीरिया पर लगाए गए इकतरफ़ा प्रतिबन्धों को हटाने का आहवान किया है क्योंकि इन प्रतिबन्धों के कारण, युद्धग्रस्त देश सीरिया में तबाह हुए नागरिक बुनियादी ढाँचा फिर से खड़ा करने के प्रयासों में बाधा उत्पन्न हो सकती है.

ईरान परमाणु समझौता: भड़काऊ बयानबाज़ी से मतभेद बढ़ने का जोखिम

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक और शान्तिरक्षा मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम समझौते को अगर पूरी तरह से लागू किया जाए तो, क्षेत्रीय स्थिरता बेहतर हो सकती है, मगर बढ़ते तनावों ने अनेक तरह के नए जोखिम पैदा कर दिये हैं. 

यूनीफ़िल द्वारा लेबनानी रेड क्रॉस के लिये स्वास्थ्य सुविधा का निर्माण

लेबनान में संयुक्त राष्ट्र के अन्तरिम बल -UNIFIL के असैनिक मामलों के कार्यालय ने, लेबनान के दक्षिण-पूर्वी गाँव शीबा में रैड क्रॉस हेल्थ सेन्टर के नए भवन के निर्माण की त्वरित प्रभाव परियोजना (क्यूआईपी) का पहला चरण पूरा कर लिया है. इस में  भारतीय शान्तिरक्षकों और  शीबा नगरपालिका का भी सहयोग रहा है.

विशेष दूत का इसराइलियों व फ़लस्तीनियों से सार्थक बातचीत के रास्ते पर लौटने का आग्रह

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के दूत निकोलय म्लैदेनॉफ़ ने सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए, इसराइलियों और फ़लस्तीनियों, क्षेत्र के देशों और वृहद अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से, सम्बद्ध पक्षों को शान्ति प्रक्रिया में फिर से शिरकत कराने के लिये व्यावहारिक क़दम उठाने का आग्रह किया है. 

सीरिया: युद्ध का एक और साल, अब भी लाखों लोग विस्थापित, निर्धनता में डरे-सहमे

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत मामलों के संयोजक मार्क लोकॉक ने बुधवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में, युद्ध का एक और साल ख़त्म हो रहा है, ऐसे में, देश में, परिवारों को अब भी लगभग एक दशक से चले आ रहे संघर्ष से कोई छुटकारा मिलता नज़र नहीं आ रहा है.

फ़लस्तीनी लोगों के लिये प्रतिबद्धता ताज़ा करने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इसराइली और फ़लस्तीनी नेतृत्व कर्ताओं से आग्रह किया है कि वो दो राष्ट्र के समाधान की उम्मीद बहाल करने के लिये हर सम्भावना की तलाश करें. यूएन महासचिव ने रविवार, 29 नवम्बर को फ़लस्तीनी लोगों के साथ एकजुटता के अन्तरराष्ट्रीय दिवस के मौक़े पर ये आग्रह किया. 

सीरिया: कड़ी सर्दी का सामना करने के लिये ज़्यादा सहायता की सख़्त ज़रूरत

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत मामलों के कार्यवाहक उप संयोजक रमेश राजसिंघम ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में आगामी सम्भवतः बहुत कड़ी सर्दियों के मौसम में 3 लाख से ज़्यादा लोगों को मदद की ज़रूरत पड़ेगी. उन्होंने कहा कि विस्थापित लोगों की हालत ख़ासतौर पर, बहुत गम्भीर है.

ग़ाज़ा में इसराइली हमलों व नाकाबन्दी से, दस वर्ष में 16 अरब डॉलर का नुक़सान

संयुक्त राष्ट्र की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि इसराइल द्वारा फ़लस्तीनी क्षेत्र ग़ाज़ा में सैन्य गतिविधियों और नाकेबन्दी के कारण वर्ष 2007 से 2018 के बीच, लगभग 16 अरब 70 करोड़ डॉलर का आर्थिक नुक़सान हुआ है. यूएन व्यापार और विकास संगठन – UNCTAD की बुधवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार इसराइल द्वारा ग़ाज़ा की नाकाबन्दी के कारण सामान्य हालात की तुलना में ग़रीबी चार गुना ज़्यादा बढ़ गई है.