वैश्विक

सुरक्षित आहार है सेहमतंद जीवन का आधार

असुरक्षित भोजन हर साल चार लाख से ज़्यादा लोगों की मौत का कारण बनता है - इनमें पांच साल से कम उम्र के बच्चों की संख्या सवा लाख है. इस समस्या की गंभीरता को देखते हुए 7 जून को पहली बार ‘सुरक्षित आहार दिवस’ मनाया जा जा रहा है जिसके ज़रिए दूषित भोजन से होने वाली बीमारियों के प्रति जागरूकता फैलाने और उनकी रोकथाम के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.

ज़िंदगियां बचाने के लिए वायु प्रदूषण से मुक्ति ज़रूरी

बुधवार को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जारी अपने संदेश में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने वायु प्रदूषण के लगातार बिगड़ते स्तर और जलवायु संकट में संबंध को रेखांकित करते हुए तत्काल कार्रवाई की अपील की है.  इस वर्ष पर्यावरण दिवस पर वायु प्रदूषण के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता फैलाने और उसकी रोकथाम के प्रयासों को बढ़ावा दिया जा रहा है.  

संयुक्त राष्ट्र महासभा के नए अध्यक्ष चुने गए तिजानी मोहम्मद-बांडे

संयुक्त राष्ट्र में नाइजीरिया के स्थाई प्रतिनिधि तिजानी मोहम्मद-बांडे को यूएन महासभा के 74वें सत्र के लिए अध्यक्ष के रूप में चुना गया है. यूएन महासभा के अगले सत्र में वह वर्तमान अध्यक्ष मारिया फ़र्नान्डा एस्पिनोसा का स्थान लेंगे. नवनिर्वाचित अध्यक्ष ने टिकाऊ विकास लक्ष्यों को अपनी प्राथमिकताओं में गिनाया है और कहा है कि विश्व में शांति और सुरक्षा के लिए संयुक्त राष्ट्र आशा का स्रोत है.

भारी-भरकम ख़र्च से जच्चा-बच्चा को है गंभीर ख़तरा

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – यूनीसेफ़ ने कहा है कि बहुत महंगी स्वास्थ्य सेवाओं और देखभाल की वजह से बहुत सी महिलाओं को बच्चे को जन्म देने से पहले और बाद में अक्सर जच्चा-बच्चा दोनों का ही जीवन ख़तरे में डालना पड़ता है. यूनीसेफ़ ने मंगलवार को एक रिपोर्ट जारी है जिसमें बताया गया है कि बहुत सी गर्भवती महिलाओं को आवश्यकता पड़ने पर ना तो कोई डॉक्टर मिलता है और ना ही कोई नर्स या दाई उपलब्ध होती है.

शिशु विकास के लिए माता-पिता की देखभाल ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष ने दुनिया भर के नेताओं का आहवान किया है कि वो पारिवारिक जीवन को आसान और बेहतर बनाने वाली नीतियाँ बनाएँ ताकि माता-पिता और अभिभावकों को अपने बच्चों को जीवन की अच्छी शुरूआत देने में मदद मिल सके. इस बारे में और ज़्यादा जागरूकता बढ़ाने के लिए यूनीसेफ़ ने जून महीने को माता-पिता व अभिभावक महीना घोषित किया है.

टिकाऊ विकास लक्ष्य-12: टिकाऊ खपत और उत्पादन

टिकाऊ उपभोग और उत्‍पादन का उद्देश्‍य है - कम साधनों से अधिक और बेहतर लाभ उठाना, संसाधनों का उपयोग, विनाश और प्रदूषण कम करके आर्थिक गतिविधियों से जन कल्‍याण के लिए लाभ बढ़ाना और जीवन की गुणवत्‍ता में सुधार करना. टिकाऊ विकास तभी हासिल किया जा सकता है, जब हम न सिर्फ अपनी अर्थव्‍यवस्‍थाओं में वृद्धि होने दें, बल्कि उस प्रक्रिया में बर्बादी को कम से कम होने दें. टिकाऊ विकास एजेंडे के 12वें लक्ष्‍य  के केंद्र में यही विचार है. 

श्रीलंका में बम धमाकों के बाद शरणार्थियों में भय का माहौल

‘ईस्टर सन्डे’ पर सिलसिलेवार बम धमाकों के बाद श्रीलंका में रह रहे शरणार्थियों और शरण की तलाश कर रहे लोगों की सुरक्षा के प्रति चिंताए बनी हुई हैं. बदले की भावना से प्रेरित हमलों के डर से करीब एक हज़ार लोगों ने मस्जिदों और पुलिस स्टेशनों में शरण ली हुई है.

'तुवालु को बचा लिया तो समझिए दुनिया को बचा लिया'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन रोकने के लिए प्रयास न करने का विकल्प अब नहीं बचा है. एक अख़बार के लिए लिखे अपने लेख में उन्होंने व्यवसाय, बिजली उत्पादन, खाद्य उत्पादन और शहरों का निर्माण करने के तरीक़ों में त्वरित और गहरे बदलाव लाने की अपील भी की है. जलवायु परिवर्तन का संकट झेल रहे तुवालु जैसे लघु द्वीपीय देशों को बचाने को उन्होंने दुनिया बचाने से जोड़ा है.

शहरों में ग़रीबी और असमानता दूर करने के लिए नई सोच और नई तकनीक की ज़रूरत

अगर टिकाऊ विकास लक्ष्यों को हासिल करने की जद्दोजहद की जीत या हार शहरों में निर्धारित होनी है तो फिर वहाँ की आबादियों की दीर्घकालीन रूप से देखभाल सुनिश्चित करनी होगी और ये भी सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी पीछे ना छूट जाए.

शांति और सुरक्षा कायम रखने में अहम भूमिका निभाते शांतिरक्षक

हिंसा से आम नागरिकों को बचाने के लिए यूएन शांतिरक्षक हर दिन अपनी जान को जोखिम में डालते हैं. 29 मई को अंतरराष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक दिवस पर दुनिया में शांति और सुरक्षा बनाए रखने में शांतिरक्षकों की अहम भूमिका को याद किया जा रहा है.