वैश्विक

परमाणु अप्रसार संधि: अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा का स्तंभ

संयुक्त राष्ट्र अवर महासचिव और निरस्त्रीकरण मामलों पर उच्च प्रतिनिधि इज़ुमी नाकामित्सु ने ज़ोर देकर कहा है कि परमाणु अप्रसार संधि ने अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और बदलती चुनौतियों के अनुरूप उसमें बदलाव पर विचार-विमर्श होना ज़रूरी है. लेकिन संधि की मूल भावना के प्रति संकल्प को पुरज़ोर ढंग से फिर प्रकट किया जाना होगा.

कोरोनावायरस: चीन से बाहर अन्य देशों में संक्रमण के मामलों में तेज़ बढ़ोत्तरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को बताया कि पहली बार ऐसा हुआ है जब कोरोनावायरस (COVID-19) संक्रमण के नए मामले चीन से ज़्यादा अन्य देशों में सामने आए हैं. यूएन एजेंसी ने भरोसा जताया है कि इस वायरस को अब भी रोका जा सकता है लेकिन संभावित विश्वव्यापी महामारी जैसे हालात के मद्देनज़र सभी देशों से अपनी तैयारियों में कोई कसर ना छोड़ने की भी अपील की गई है.

मानवाधिकार परिषद: महिलाधिकारों का एजेंडा अभी 'अधूरा है'

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने 'बीजिंग घोषणापत्र' की 25वीं वर्षगांठ पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा है कि महिला अधिकारों कि दिशा में हुई प्रगति पर संतुष्ट होकर नहीं बैठा जा सकता. विश्व भर में महिला अधिकारों के सामने चुनौतियों पैदा हो रही हैं.

घरेलू विस्थापितों की पीड़ा दूर करने के उपायों पर चर्चा

विश्व भर में चार करोड़ से ज़्यादा लोग घरेलू विस्थापन का शिकार है और वर्ष 2020 की शुरुआत से अब तक हज़ारों-लाखों लोगों को अपने घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस स्थिति को अस्वीकार्य क़रार देते हुए घरेलू विस्थापितों की समस्याओं के लिए नए समाधानों की तलाश करने का आग्रह किया है.

मानवाधिकारों की रक्षा के लिए सात-सूत्री कार्ययोजना का खाका पेश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को जिनीवा में मानवाधिकार परिषद के उदघाटन सत्र को संबोधित करते हुए सर्वजन के लिए मानवाधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए सात प्रमुख क्षेत्रों में कार्रवाई की पुकार लगाई है. उन्होंने मानवाधिकार परिषद को अंतरराष्ट्रीय संवाद व सहयोग का आधार बताते हुए विश्व भर में मानवाधिकारों पर हो रहे प्रहारों पर चिंता जताई है. 

10 नई प्रवासी प्रजातियों को वन्यजीव समझौते के तहत मिलेगा संरक्षण

प्रवासी प्रजातियों के संरक्षण पर संधि (सीएमएस) के 13वें सम्मेलन, कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज़ यानी कॉप-13 के समापन पर 10 प्रवासी प्रजातियों को वैश्विक वन्यजीव समझौते में शामिल करने की घोषणा की गई है जिससे उनके संरक्षण के प्रयासों को मज़बूती मिलेगी. इन प्रजातियों में एशियन एलिफ़ेंट, जैगुआर और ग्रेट इंडियन बस्टर्ड सहित अन्य प्रजातियां शामिल हैं. 
 

अफ़्रीकी देशों में कोरोनावायरस फैलने की आशंका चिंता का सबब

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टैड्रोस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि उनकी चिंता की सबसे बड़ी वजह अफ़्रीका में कमज़ोर स्वास्थ्य प्रणालियों वाले देशों में कोरोनावायरस (COVID-19) के फैलने की आशंका है. इस चुनौती के मद्देनज़र यूएन एजेंसी स्थानीय स्वास्थ्य प्रणालियों के साथ मिलकर क्षमता विकसित करने के काम में जुटे हैं. अभी तक मिस्र में संक्रमण के एक मामले की पुष्टि हुई है.

कोरोनावायरस से निपटने की तैयारी में कोताही ना बरतने की अपील

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोनावायरस (COVID-19) के ऐसे मामलों के पता चलने पर चिंता ज़ाहिर की है जिनमें संक्रमित मरीज़ों का चीन से सीधा संबंध नहीं था. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी प्रमुख टैड्रोस एडहेनॉम घेबरेयेसस  ने ज़ोर देकर कहा है कि देशों को जितना समय मिला है उसका पूरा लाभ उठाते हुए पुख़्ता तैयारी सुनिश्चित की जानी चाहिए.

सड़क दुर्घटनाओं में मौतों की संख्या 2030 तक 50 फ़ीसदी कम करने का लक्ष्य

सड़क सुरक्षा पर स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में तीसरे मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों में वर्ष 2030 तक कम से कम 50 फ़ीसदी की कमी लाने की पुकार लगाई गई है. सड़क दुर्घटनाओं में हर साल 13 लाख से ज़्यादा मौतें होती हैं, पांच करोड़ से ज़्यादा लोग घायल होते हैं और देशों को उनके सकल घरेलू उत्पाद में तीन फ़ीसदी तक का नुक़सान उठाना पड़ता है.

जलवायु परिवर्तन व बाज़ारी शक्तियों के दबाव से बाल स्वास्थ्य को ख़तरा

विश्व का भविष्य बच्चों में मौजूद संभावनाओं के अनुरूप उनके फलने-फूलने और स्वास्थ्य-कल्याण पर निर्भर है लेकिन उनका बेहतर और टिकाऊ भविष्य सुनिश्चित करने के लिए कोई भी देश पर्याप्त प्रयास नहीं कर रहा है. अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विशेषज्ञों के एक आयोग ने बुधवार को अपनी नई रिपोर्ट जारी करते हुए बाल एवं किशोर स्वास्थ्य पर जलवायु परिवर्तन और बाज़ारी शक्तियों के दुष्प्रभाव की तरफ़ ध्यान आकृष्ट किया है.