वैश्विक

कोरोनावायरस: ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामलों से सावधान रहने की अपील

दुनिया भर में कोरोनावायरस (COVID-19) के बढ़ते मामलों के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि इस महामारी के फैलने का फ़ायदा अब अपराधी भी उठाने की कोशिश कर रहे हैं. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के मुताबिक आपराधिक तत्व ख़ुद को विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधियों के रूप में पेश करते हुए अनजान लोगों के धन और संवेदनशील जानकारी चुराने में जुटे हैं.
 

कोरोनावायरस से जोखिम 'अति गंभीर' स्तर पर, लेकिन रोकथाम अब भी संभव

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों और प्रभावित देशों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी को चिंताजनक क़रार देते हुए जोखिम के स्तर को बढ़ा कर ‘अति गंभीर’ की श्रेणी में कर दिया है. शुक्रवार को यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए देशों को तेज़ और सख़्त क़दम उठाने होंगे

21वीं शताब्दी को महिलाओं के लिए समानता की सदी बनाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 21वीं सदी को महिलाओं के लिए समानता सुनिश्चित करने वाली सदी बनाने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा है कि जीवन के हर क्षेत्र में महिलाओं की बराबर हिस्सेदारी विश्व के सुरक्षित भविष्य, स्थिरता, हिंसक संघर्ष की रोकथाम और टिकाऊ व समावेशी विकास के लिए अहम है. उन्होंने लैंगिक असमानता और महिलाओं व लड़कियों के प्रति भेदभाव को एक ऐसा अन्याय क़रार दिया जो विश्व भर में व्याप्त है. 
 

कोरोनावायरस को नज़रअंदाज़ करने की 'घातक भूल ना करे कोई देश'

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टैड्रोस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने सभी देशों से कोरोनावायरस (COVID-19) के बढ़ते मामलों की रोकथाम के लिए जल्द से जल्द प्रयासों का दायरा बढ़ाने का आग्रह किया है. उन्होंने चेतावनी भरे अंदाज़ में कहा है कि किसी भी देश को यह नहीं मानना चाहिए कि वो इससे प्रभावित नहीं होगा. ऐसा सोचना एक घातक ग़लती होगी.

कम उम्र में शराब व तंबाकू का सेवन है बढ़ती नशाखोरी की वजह

संयुक्त राष्ट्र समर्थित ‘इंटरनेशनल नारकोटिक्स कंट्रोल बोर्ड’ (आईएनसीबी) ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में युवाओं में नशीले पदार्थों के बढ़ते इस्तेमाल पर गहरी चिंता जताई है. रिपोर्ट के मुताबिक 16-19 आयु वर्ग में एल्कोहॉल,  तंबाकू और केनेबिस (भांग) का सेवन बालिग होने पर ग़ैरक़ानूनी नशीली दवाओं के इस्तेमाल की आशंका को बढ़ा देता है.

परमाणु अप्रसार संधि: अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा का स्तंभ

संयुक्त राष्ट्र अवर महासचिव और निरस्त्रीकरण मामलों पर उच्च प्रतिनिधि इज़ुमी नाकामित्सु ने ज़ोर देकर कहा है कि परमाणु अप्रसार संधि ने अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और बदलती चुनौतियों के अनुरूप उसमें बदलाव पर विचार-विमर्श होना ज़रूरी है. लेकिन संधि की मूल भावना के प्रति संकल्प को पुरज़ोर ढंग से फिर प्रकट किया जाना होगा.

कोरोनावायरस: चीन से बाहर अन्य देशों में संक्रमण के मामलों में तेज़ बढ़ोत्तरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को बताया कि पहली बार ऐसा हुआ है जब कोरोनावायरस (COVID-19) संक्रमण के नए मामले चीन से ज़्यादा अन्य देशों में सामने आए हैं. यूएन एजेंसी ने भरोसा जताया है कि इस वायरस को अब भी रोका जा सकता है लेकिन संभावित विश्वव्यापी महामारी जैसे हालात के मद्देनज़र सभी देशों से अपनी तैयारियों में कोई कसर ना छोड़ने की भी अपील की गई है.

मानवाधिकार परिषद: महिलाधिकारों का एजेंडा अभी 'अधूरा है'

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने 'बीजिंग घोषणापत्र' की 25वीं वर्षगांठ पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा है कि महिला अधिकारों कि दिशा में हुई प्रगति पर संतुष्ट होकर नहीं बैठा जा सकता. विश्व भर में महिला अधिकारों के सामने चुनौतियों पैदा हो रही हैं.

घरेलू विस्थापितों की पीड़ा दूर करने के उपायों पर चर्चा

विश्व भर में चार करोड़ से ज़्यादा लोग घरेलू विस्थापन का शिकार है और वर्ष 2020 की शुरुआत से अब तक हज़ारों-लाखों लोगों को अपने घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस स्थिति को अस्वीकार्य क़रार देते हुए घरेलू विस्थापितों की समस्याओं के लिए नए समाधानों की तलाश करने का आग्रह किया है.

मानवाधिकारों की रक्षा के लिए सात-सूत्री कार्ययोजना का खाका पेश

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को जिनीवा में मानवाधिकार परिषद के उदघाटन सत्र को संबोधित करते हुए सर्वजन के लिए मानवाधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए सात प्रमुख क्षेत्रों में कार्रवाई की पुकार लगाई है. उन्होंने मानवाधिकार परिषद को अंतरराष्ट्रीय संवाद व सहयोग का आधार बताते हुए विश्व भर में मानवाधिकारों पर हो रहे प्रहारों पर चिंता जताई है.