वैश्विक

कोरोनावायरस: 'पुख़्ता तैयारी में धन निवेश ज़रूरी'

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भरोसा जताया है कि  कोरोनावायरस और अन्य बीमारियों के ख़तरे से निपटने का सर्वश्रेष्ठ तरीक़ा महामारियों की जल्द पहचान करके उन्हें फैलने से रोकना है.  संगठन के मुताबिक दुनिया कोरोनावायरस के ख़तरे से निपटने के लिए पहले से कहीं बेहतर ढंग से तैयार है . यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ज़रूरतमंद देशों में लैब परीक्षण की क्षमता पुख़्ता करने के लिए मदद दे रही है और इस संबंध में पिछले एक हफ़्ते में हालात बेहतर हुए हैं.

'रेडियो लोगों को आपस में जोड़ता है'

ख़बरों, विस्तृत कार्यक्रमों और महत्वपूर्ण सूचनाओं के एक आसान स्रोत के रूप में रेडियो की पहचान सर्वविदित है. आम लोगों के साथ संवाद में रेडियो की महत्ता को पहचान देने के लिए हर वर्ष 13 फ़रवरी को रेडियो दिवस मनाया जाता है. महासचिव का संदेश...

'स्थायी शांति के लिए अहम' है संक्रमणकालीन न्याय प्रक्रिया

हिंसक संघर्षों व सामूहिक अत्याचारों के बाद देशों व समाजों के आगे बढ़ने के लिए पीड़ितों के कष्टों की शिनाख़्त और न्याय का सुनिश्चित होना ज़रूरी है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने शांति निर्माण और उसे बनाए रखने में संक्रमणकालीन न्याय (transitional justice) की भूमिका पर सुरक्षा परिषद में चर्चा के दौरान यह बात कही.

कोरोनावायरस: चीन से बाहर संक्रमित लोगों की संख्या 'आशंका से कहीं कम'

चीन में कोरोनोवायरस (COVID-19) संक्रमण के मामलों की बढ़ती संख्या के बीच यूएन विशेषज्ञ ने कहा है कि चीन से बाहर संक्रमण फैलने के मामले उतनी बड़ी संख्या में नहीं हैं जिनकी पहले आशंका जताई गई थी. विश्व स्वास्थ्य संगठन में स्वास्थ्य एमरजेंसी कार्यक्रम के प्रमुख डॉक्टर माइकल रायन ने स्पष्ट किया है कि भले ही वायरस संक्रमण की 'हिमशिला' फ़िलहाल उतनी विशाल ना हो, लेकिन जल्दबाज़ी में निष्कर्ष निकालने से बचना होगा. 

रेडियो: संवाद व विविधता को प्रोत्साहन देने का सशक्त माध्यम

तेज़ी से अपना स्वरूप बदल रही मीडिया में रेडियो अब भी एक ऐसा माध्यम है जिसमें लोगों को एकजुट करने और समुदायों के लिए महत्वपूर्ण ख़बरें व जानकारी उपलब्ध कराने की ताक़त है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ‘विश्व रेडियो दिवस’ पर अपने संदेश में रेडियो को एक ऐसा पथ-प्रदर्शक माध्यम बताया है जो विविधता को बढ़ावा और विश्व शांति में योगदान देता है.

हिंसक संघर्षों में बाल संरक्षण के लिए और ज़्यादा प्रयासों की दरकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 'बाल सैनिकों के इस्तेमाल के ख़िलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस' पर बाल संरक्षण को शांति प्रक्रियाओं में शामिल करने की अहमियत पर ज़ोर दिया है. विश्व भर में 25 करोड़ से ज़्यादा युवा हिंसक संघर्ष से प्रभावित देशों में रहने को मजबूर हैं जहां अस्पतालों व स्कूलों पर हमले होते हैं और बच्चों मानवाधिकारों के हनन के मामले लगातार सामने आते हैं.

इसराइल-फ़लस्तीन विवाद के निपटारे के लिए संवाद पर बल

मध्य पूर्व क्षेत्र में बढ़ता तनाव और अस्थिर हालात इसराइल और फ़लस्तीन के बीच दशकों पुराने विवाद को जल्द सुलझाने और शांति वार्ता की मेज़ पर जल्द लौटने की अहमियत को रेखांकित करते हैं. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प द्वारा इसराइल-फ़लस्तीन विवाद के निपटारे के लिए सुझाई गई योजना पर मंगलवार को सुरक्षा परिषद में चर्चा के दौरान यह बात कही है.

प्रवासी वन्यजीवों के संरक्षण के लिए कॉप-13

प्रवासी प्रजातियों के संरक्षण (सीएमएस) को लेकर 13वां कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज़ यानी कॉप-13, भारत के गुजरात राज्य की राजधानी गांधीनगर में आयोजित किया जा रहा है. 15 फरवरी से 22 फरवरी तक चलने वाले सीएमएस कॉप-13 में 110 देशों के लगभग 1200 प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे और तेज़ी से लुप्त होती प्रवासी प्रजातियों के संरक्षण के बारे में चर्चा करेंगे. 

कोरोनावायरस: संक्रमण रोकने के लिए शीर्ष वैज्ञानिकों की बैठक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोरोनावायरस संक्रमण से होने वाली मौतों की संख्या एक हज़ार से ज़्यादा हो गई है. मंगलवार को जिनीवा में स्वास्थ्य विशेषज्ञों की एक बैठक 'रीसर्च एंड इनोवेशन फ़ोरम'  शुरू हुई है जिसमें इस महामारी को फैलने से रोकने के रास्तों पर विचार विमर्श हुआ. अब इस बीमारी को आधिकारिक नाम COVID-19 दिया गया है और इसके लिए वैक्सीन अगले 18 महीनों में तैयार होने की संभावना जताई गई है.

विज्ञान में महिलाओं की हिस्सेदारी बढ़ाने व लैंगिक खाई पाटने की पुकार

विश्व में वैज्ञानिक शोधकर्ताओं की कुल संख्या में महिलाएँ 30 फ़ीसदी से भी कम हैं जो दर्शाता है कि वैज्ञानिक जगत में महिलाओं व लड़कियों के लिए हालात में अब भी असमानता क़ायम है. विज्ञान से जुड़े क्षेत्रों में शिक्षा व रोज़गार के लिए महिलाओं व लड़कियों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से मंगलवार को 'विज्ञान में महिलाओं व लड़कियों के अंतरराष्ट्रीय दिवस' पर प्रोत्साहन दिया जा रहा है.