यूरोप

यूक्रेन: 37 लाख लोगों ने छोड़ा देश, ज़रूरतमन्दों के लिये सहायता प्रयास

यूक्रेन पर रूसी आक्रमण और पिछले एक महीने से जारी युद्ध के कारण एक करोड़ से अधिक लोग, जान बचाने के लिये अपना घर छोड़ने पर मजबूर हुए हैं. 37 लाख से अधिक लोगों ने अन्य देशों में शरण ली है, और 65 लाख घरेलू विस्थापन का शिकार हुए हैं. यूएन एजेंसियाँ, लगातार हो रही हिंसा और बढ़ती मानवीय आवश्यकताओं के बीच, सर्वाधिक ज़रूरतमन्दों तक राहत पहुँचाने के लिये प्रयासरत हैं. 

यूक्रेन: महासभा में प्रस्ताव पारित, युद्ध का अन्त करने और मानवीय राहत पहुँचाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 11वें आपात विशेष सत्र के दौरान, सदस्य देशों ने यूक्रेन के विरुद्ध रूसी आक्रामकता से उपजे मानवीय हालात के मुद्दे पर पेश किये गए एक प्रस्ताव को भारी मतों से पारित किया है. इस प्रस्ताव का मसौदा यूक्रेन ने तैयार किया और 90 देशों ने इसे सह-प्रायोजित किया.

यूक्रेन: एक महीने से युद्ध जारी, बच्चों की आधी आबादी विस्थापित

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने कहा है कि यूक्रेन में एक महीने से जारी युद्ध के कारण 43 लाख बच्चे विस्थापन का शिकार हुए हैं, जोकि देश में कुल 75 लाख बच्चों की आधी से अधिक आबादी है. इनमें 18 लाख बच्चों ने शरणार्थियों के तौर पर यूक्रेन के पड़ोसी देशों में शरण ली है, जबकि 25 लाख बच्चे घरेलू विस्थापित हैं.

यूक्रेन संकट: मानवीय सहायता पर, यूएन महासभा में प्रतिस्पर्धी प्रस्तावों पर चर्चा

यूक्रेन संकट पर बुधवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के आपात सत्र की दूसरी बैठक हुई है, जिसमें 24 फ़रवरी को रूसी आक्रमण के बाद उपजे मानवीय संकट के मुद्दे पर दो अलग-अलग प्रस्तावों के मसौदे को प्रतिनिधियों के समक्ष पेश किया गया है.    

यूक्रेन: 'बेतुके' युद्ध का अन्त करने के लिये, शान्ति वार्ता का समय

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ज़ोर देकर कहा है कि यूक्रेन पर रूसी आक्रमण का अन्त करने के लिये, यह समय एक कूटनैतिक समाधान की तलाश करने का है. उन्होंने कहा कि इस युद्ध में ना किसी की जीत हो सकती है, ना इसे नैतिक दृष्टि से स्वीकार नहीं किया जा सकता है और ना ही राजनैतिक रूप से उसकी हिमायत की जा सकती है.

यूक्रेन: देश के भीतर 65 लाख लोग विस्थापित, स्वास्थ्य ढाँचों पर हर दिन औसतन दो हमले

संयुक्त राष्ट्र ने सोमवार को आगाह करते हुए कहा है कि यूक्रेन में अपने घर छोड़ने के लिये विवश होने वाले लोगों की संख्या एक करोड़ से भी ज़्यादा हो गई है, इस बीच रूस की जारी गोलाबारी के बीच, देश के स्वास्थ्य सेवा ढाँचों पर हर दिन, औसतन दो से ज़्यादा हमले हुए हैं.

यूक्रेन: जान बचाकर भाग रहे लोगों के साथ 'भेदभाव, हिंसा, नस्लभेद' की निन्दा

शरणार्थी मामलों के लिये संयुक्त राष्ट्र एजेंसी (UNHCR) के उच्चायुक्त फ़िलिपो ग्रैण्डी ने यूक्रेन में हिंसा से जान बचाने के लिये पड़ोसी देशों में शरण लेने वाले, अन्य देशों के नागरिकों के साथ नस्लवाद और भेदभाव पर क्षोभ प्रकट किया है. उन्होंने सोमवार, 21 मार्च, को ‘नस्लीय भेदभाव के उन्मूलन के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस’ पर जारी अपने वक्तव्य में सभी शरणार्थियों के लिये करुणा व एकजुटता के साथ पेश आने का आग्रह किया है. 

यूक्रेन: जैविक हथियार प्रयोगशाला के कोई संकेत नहीं, निरस्त्रीकरण मामलों की प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र के निरस्त्रीकरण मामलों की प्रमुख ने कहा है कि यूक्रेन में जैविक हथियार कार्यक्रम के संचालन के सम्बन्ध में यूएन को कोई जानकारी नहीं है. रूसी महासंघ ने शुक्रवार को सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान फिर से ऐसे आरोप लगाते हुए दावा किया कि ऐसे कार्यक्रम के दस्तावेज़ मौजूद हैं. 

यूक्रेन: बढ़ती ज़रूरतों के बीच, सामान की भारी क़िल्लत, हमले भी जारी

संयुक्त राष्ट्र की मानवीय सहायता एजेंसियों ने यूक्रेन के पश्चिमी शहर लिविफ़ में शुक्रवार को हवाई अड्डे के निकट एक मिसाइल हमले के बाद, आगाह करते हुए कहा है कि पूरे देश में स्थिति बहुत ख़तरनाक है, जबकि रूस का सैन्य आक्रमण जारी है.

यूक्रेन: युद्ध में हताहतों की बड़ी संख्या, जाँच व जवाबदेही की मांग

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक व शान्तिनिर्माण मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने गुरुवार को सुरक्षा परिषद की एक बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा है कि यूक्रेनी शहरों पर रोज़ हो रहे हमलों में आमजन हताहत हो रहे हैं, बुनियादी ढाँचे को भीषण नुक़सान पहुँच रहा है और मानवीय आवश्यकताएँ लगातार बढ़ रही हैं. इसके मद्देनज़र, उन्होंने जाँच और जवाबदेही सुनिश्चित किये जाने का आग्रह किया है.