यूरोप

सर्बिया व बोसनिया हर्ज़ेगोविना में, बढ़ती नफ़रत घटनाओं के ख़िलाफ़ चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने शुक्रवार को आगाह करते हुए कहा है कि सर्बिया और बोसनिया हर्ज़ेगोविना में, सरकारों को, राष्ट्रीय, नस्लीय या धार्मिक घृणा की हिमायत करने से बचना होगा और उसकी निन्दा भी करनी होगी.

ब्रिटेन: 'राष्ट्रीयता और सीमाएँ विधेयक' से 'अधिकार उल्लंघन के गम्भीर जोखिम'

संयुक्त राष्ट्र के पाँच स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने शुक्रवार को कहा कि ब्रिटेन में सांसद, जिस नए “राष्ट्रीयता व सीमाएँ विधेयक” (Nationality and Borders Bill) पर संसद में चर्चा कर रहे हैं उससे भेदभाव और मानवाधिकारों के गम्भीर उल्लंघन का ख़तरा बढ़ेगा, और ये विधेयक दरअसल अन्तरराष्ट्रीय क़ानून के तहत देश की ज़िम्मेदारियों का उल्लंघन भी करता है.

कज़ाख़स्तान: 'तत्काल, स्वतंत्र व निष्पक्ष जाँच' कराए जाने की आवश्यकता पर बल

कज़ाख़स्तान में हाल ही में उपजी अशान्ति और विरोध-प्रदर्शनों में मृतक संख्या बढ़कर 164 तक पहुँच गई है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने सुरक्षा बलों द्वारा घातक बल के अनावश्यक व ग़ैर-आनुपातिक इस्तेमाल और उनकी कार्रवाई में प्रदर्शनकारियों के मारे जाने की तत्काल, स्वतंत्र व निष्पक्ष जाँच कराए जाने का आग्रह किया है.

योरोपीय क्षेत्र में, आगामी दो महीनों में, आधी आबादी के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने की आशंका

योरोपीय क्षेत्र के लिये यूएन स्वास्थ्य एजेंसी (WHO EURO) ने एक नए विश्लेषण का उल्लेख करते हुए, अगले छह से आठ सप्ताह के दौरान, क्षेत्र की लगभग 50 फ़ीसदी आबादी के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने की सम्भावना जताई है. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने योरोप व मध्य एशिया में, आने वाले दिनों में संक्रमण मामलों में तेज़ उछाल की आशंका के बीच, हालात से निपटने के लिये तीन अहम सन्देश साझा किये हैं.

कज़ाख़स्तान: अशान्ति बढ़ने के बीच, संयम व बातचीत की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट और मध्य एशिया के लिये, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरश की विशेष प्रतिनिधि नतालिया ग़ेरमन ने, कज़ाख़स्तान में घातक हिंसा होने की चिन्ताजनक ख़बरों के बीच, संयम और बातचीत का आहवान किया है.

पोलैण्ड-बेलारूस सीमा पर प्रवासी व शरणार्थी संकट सुलझाने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने पोलैण्ड और बेलारूस की सीमा पर जारी प्रवासी व शरणार्थी संकट पर चिन्ता जताते हुए, दोनों देशों से इसे सुलझाने का आग्रह किया है. यूएन एजेंसी ने कठिन हालात में फँसे शरणार्थियों और प्रवासियों के मानवाधिकारों की रक्षा किये जाने का आहवान किया है. 

यूक्रेन में मानवाधिकारों की बिगड़ती स्थिति पर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में बुधवार को, यूक्रेन में मानवाधिकार स्थिति पर ताज़ा जानकारी हासिल की गई जिस दौरान बताया गया है कि यूक्रेन के सरकार नियंत्रित इलाक़ों के साथ-साथ, पूर्व में, सम्पर्क रेखा के पार के इलाक़ों में बुनियादी स्वतंत्रताएँ सिमटी हैं. पूर्वी इलाक़ों में मुख्य रूप से रूस समर्थित अलगाववादियों का नियंत्रण है.

टिकाऊ विकास के लिये वित्त की ज़रूरत पहले से कहीं ज़्यादा, उप प्रमुख आमिना मोहम्मद

सुंयुक्त राष्ट्र की उप प्रमुख आमिना जे मोहम्मद ने सोमवार को कहा है कि संसाधन सम्पन्न और संसाधन वंचित लोगों के बीच अविश्वास की बढ़ती खाई के वातावरण में, टिकाऊ विकास के लिये, यथा सम्भव विभिन्न क्षेत्रों से पक्षकारों को शामिल करते हुए, वित्त का प्रबन्ध करना, इस समय पहले से कहीं ज़्यादा ज़रूरी है.

युवा सम्मेलन में, होनहार उद्यमियों व रचनाकारों के चमत्कारी अनुभव

दुनिया के अनेक हिस्सों से, युवा रचनाकारों और उद्यमियों ने, जिनीवा में आयोजित युवा सम्मेलन में इस बारे में, अपने अदभुत अनुभव बाँटे हैं कि उन्होंने किस तरह, अपने समुदायों और पर्यावरण में सकारात्मक बदलाव सम्भव बनाए हैं और अन्य लोग भी ऐसा ही, किस तरह से कर सकते हैं.

'स्मार्ट' व टिकाऊ समुद्री परिवहन, वैश्विक पुनर्बहाली के लिये अहम

वर्ष 2020 में, कोविड-19 महामारी का समुद्री व्यापार पर, आशंका से कम गम्भीर असर साबित हुआ है, मगर, दीर्घकाल में उसके गहरे व दूरगामी प्रभाव होने की सम्भावना जताई गई है. व्यापार एवं विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) की बुधवार को प्रकाशित एक नई रिपोर्ट में, बुद्धिमान, सुदृढ़, और टिकाऊ समुद्री परिवहन को, वैश्विक सामाजिक-आर्थिक पुनर्बहाली के लिये अहम क़रार दिया गया है.