एशिया प्रशांत

अफ़ग़ानिस्तान: स्कूलों पर हमलों में तीन गुना बढ़ोत्तरी बनी चिंता का कारण

अफ़ग़ानिस्तान में स्कूलों पर किए जाने वाले हमलों में एक साल के भीतर तीन गुना बढ़ोत्तरी देखने को मिली है जिस पर चिंता ज़ाहिर करते हुए संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने का अनुरोध किया है. यूनिसेफ़ की यह अपील ऐसे समय में जारी की गई है जब स्पेन के मयोरका शहर में सुरक्षित स्कूलों पर तीसरा अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन हो रहा है.

अफ़ग़ानिस्तान में बंदियों के साथ दुर्व्यवहार किए जाने के मामलों पर चिंता

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान चरमपंथियों द्वारा बंदियों के साथ बुरा बर्ताव किए जाने की जानकारी मिलने के बाद संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने गहरी चिंता ज़ाहिर की है. यूएन मिशन को विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि कुछ मामलों में बंदियों को यातना दिए जाने की भी बात सामने आई है.  

भारत में वन्यजीव अपराधों की संख्या बढ़ी

वन्यजीवों की अवैध तस्करी से दुनिया भर में जीवों की कई प्रजातियां विलुप्ति के कगार पर पहुंच रही हैं. जानवरों को पालतू बनाने की प्रवृत्ति और उनके चिकित्सकीय गुणों के कारण भारत में भी वन्यजीवों की तस्करी के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं और आसानी से पैसा कमाने के लालच में युवा भी इस काम में शामिल हो रहे हैं.

जलवायु कार्रवाई के लिए सूझबूझ भरे निर्णयों की आवश्यकता पर बल

दक्षिण प्रशांत क्षेत्र के देशों की यात्रा को समाप्त करते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने वैश्विक समुदाय से अपील की है कि जलवायु कार्रवाई के लिए समझदारी भरे निर्णयों की ज़रूरत हैं क्योंकि पूरे ग्रह का भविष्य दांव पर लगा है. 

यूएन महासचिव ने तुवालु और दुनिया को डूबने से बचाने की अपील की

तुवालु की यात्रा कर रहे संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि समुद्र का जलस्तर बढ़ने से तुवालु के सामने अस्तित्व का संकट पनप रहा है. तुवालु में सबसे ऊंची जगह समुद्री लहरों से महज़ पांच मीटर ही ऊपर है. तुवालु को बचाने के लिए उन्होंने जलवायु परिवर्तन के ज़िम्मेदार देशों से कार्रवाई की अपील की है.

महासागरों की रक्षा करने और जलवायु कार्रवाई में फ़िजी निभा रहा है 'अग्रणी भूमिका'

फ़िजी में सामुदायिक और सामाजिक दायित्व निभाने की लंबी परंपरा रही है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने फ़िजी की संसद को संबोधित करते हुए कहा कि अपने परिवेश के साथ सामंजस्य स्थापित करने की प्रवृत्ति के चलते स्थानीय लोगों का जलवायु परिवर्तन और पर्यावरणीय मुद्दों पर  प्रयासों की अगुवाई करना स्वाभाविक है.

क्राइस्टचर्च में यूएन प्रमुख ने सहिष्णुता और एकजुटता की अपील की

अपनी तीन-दिवसीय न्यूज़ीलैंड यात्रा के दौरान संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में हुए हमले के पीड़ितों को श्रृद्धांजलि दी है. 15 मार्च को शुक्रवार की नमाज़ के दौरान एक बंदूकधारी ने दो मस्जिदों पर अंधाधुंध गोलीबारी की जिसमें 51 लोग मारे गए. हमले का सीधा प्रसारण बंदूकधारी ने सोशल मीडिया पर किया था.

तकनीक ने दिया टीकाकरण अभियान को सहारा

हाल के सालों में भारत ने पांच साल से कम उम्र के बच्चों की होने वाली मौतों को रोकने के लिए व्यापक प्रयास किए हैं जिनमें सफलता भी मिली है. इसके पीछे दो कारण हैं: समर्पित स्वास्थ्यकर्मियों की बड़ी संख्या जिनमें अधिकांश महिलाएं हैं, और तकनीक का रणनीतिक ढंग से इस्तेमाल.

जलवायु परिवर्तन के विरूद्ध लड़ाई में 'अग्रिम मोर्चे पर हैं न्यूज़ीलैंड के युवा'

न्यूज़ीलैंड में माओरी समुदाय के युवाओं और पैसिफ़िक द्वीपीय देशों के लोगों से बातचीत के दौरान संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु परिवर्तन से लड़ाई में युवा नेतृत्व के प्रति आभार जताया है. जलवायु कार्रवाई के तहत उन्होंने कोयला आधारित नए बिजली संयंत्रों को रोकने, वेतन के बजाए कार्बन पर टैक्स लगाने और जीवाश्म ईंधन से सब्सिडी वापस लेने को समाधान का हिस्सा बताया है.

क्राइस्टचर्च हमले के बाद न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री का नेतृत्व 'सराहनीय'

न्यूज़ीलैंड की राजधानी ऑकलैंड में रविवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस साल मार्च महीने में क्राइस्टचर्च हमले में मारे गए लोगों और उनके परिजनों के प्रति एकजुटता का प्रदर्शन किया है. दो मस्जिदों में हुई गोलीबारी में 51 लोगों की मौत हुई थी. यूएन प्रमुख ने इस घटना के बाद निर्णायक नेतृत्व देने के लिए  प्रधानमंत्री जेसिन्डा अर्डन की सराहना की है.