एशिया प्रशांत

भारत: नमक उत्पादन से जुड़ी महिला श्रमिकों को, सौर ऊर्जा आजीविका प्रशिक्षण

भारत में स्वच्छ ऊर्जा की दिशा में प्रगति के लिये, संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP), स्वच्छ ऊर्जा कम्पनी, ‘ReNew Power और स्व-रोजगार महिला संघ (SEWA - सेवा) ने एक साथ मिलकर, गुजरात प्रदेश में 'प्रोजेक्ट सूर्य' नामक एक परिवर्तनकारी पहल की शुरुआत की है. इस परियोजना के तहत, क्षेत्र में नमक उत्पादन कार्य से जुड़ी महिला श्रमिकों को, आधुनिक स्वच्छ ऊर्जा उद्योग के कामकाज का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

अफ़ग़ानिस्तान: महिला अधिकारों की चिन्ताजनक स्थिति, दृढ़ समर्थन व सहायता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय उच्चायुक्त (OHCHR) मिशेल बाशेलेट ने अफ़ग़ानिस्तान में महिलाओं व लड़कियों के मानवाधिकारों की बिगड़ती स्थिति पर क्षोभ व्यक्त करते हुए, उनकी सहायता के लिये तत्काल, दृढ़ कार्रवाई की पुकार लगाई है. उन्होंने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि यदि जल्द हालात नहीं बदले, तो देश में महिलाओं का भविष्य और अधिक अंधकामरय हो जाने की आशंका है.

म्याँमार: बच्चों के लिये गहराता संकट, यूएन समिति की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र बाल अधिकार समिति ने जिनीवा में बुधवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि म्याँमार में संकटग्रस्त परिस्थितियों में जीवन गुज़ारने को मजबूर बच्चों की एक पूरी पीढ़ी की, जल्द से जल्द रक्षा सुनिश्चित की जानी होगी. समिति ने देश में मौजूदा हालात से त्रस्त बच्चों को राहत प्रदान करने के लिये, अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से शीघ्र कार्रवाई करने का आग्रह किया है.

भारत: ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा से निपटने का एक व्यापक दृष्टिकोण

संयुक्त राष्ट्र महिला संस्था (UN Women) के समर्थन से भारत के असम प्रदेश के ग्रामीण समुदायों में, महिलाओं और पुरुषों ने अपने पड़ोस में महिलाओं, युवाओं और बच्चों के ख़िलाफ़ हिंसा को रोकने और उसका जवाब देने के लिये मिलकर काम करने के नए तरीक़े खोजे हैं.

अफ़ग़ानिस्तान: घातक भूकम्प के बाद, देशों से मदद बढ़ाने की पुकार

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारी डॉक्टर रमीज़ अल अकबरोफ़ ने देश में बीते सप्ताह आए विनाशकारी भूकम्प से बुरी तरह प्रभावित समुदायों का एक दिवसीय दौरा करने के बाद रविवार को, देश के लिये अधिक से अधिक अन्तरराष्ट्रीय समर्थन की गुहार लगाई. 

भूकम्प-प्रभावित पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान में जीवन रक्षक सहायता की आपूर्ति

संयुक्त राष्ट्र मानवीय राहतकर्मी और साझीदार संगठन, पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान के भूकम्प-प्रभावित इलाक़ों में सर्वाधिक निर्बल समुदायों तक आपात जीवनरक्षक सहायता पहुँचाना जारी रखने के लिये निरन्तर प्रयासरत हैं. 

अफ़ग़ानिस्तान: तालेबान से बातचीत ही है 'आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता'

संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरूवार को सुरक्षा परिषद में सदस्य देशों को जानकारी देते हुए बताया है कि अफ़ग़ानिस्तान में विनाशकारी भूकम्प, देश के समक्ष मौजूद अनेक आपात परिस्थितियों में से एक है, जिनसे बाहर निकलने के लिये यह ज़रूरी है कि तालेबान प्रशासन के साथ सम्वाद जारी रखा जाए.

अफ़ग़ानिस्तान: भूकम्प-प्रभावित इलाक़ों में मानवीय राहत प्रयासों में तेज़ी

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने अफ़ग़ानिस्तान में 22 जून को आए भीषण भूकम्प से प्रभावित कम से कम दो प्रान्तों – पक्तिका और ख़ोस्त में प्रभावित समुदायों को खाद्य व अन्य प्रकार की राहत पहुँचाने के लिये अपने प्रयास तेज़ कर दिये हैं.

भारत: दयालुता के प्रसार के लिये वैश्विक मुहिम

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक संगठन - यूनेस्को के शान्ति एवं सतत विकास के लिये महात्मा गांधी शिक्षा संस्थान (UNESCO MGIEP) के #KindnessMatters अभियान में, हज़ारों युवा भारतीय शामिल हुए हैं, जिसका उद्देश्य है - युवाओं के बीच उदारता की सकारात्मक संस्कृति को बढ़ावा देना और विश्व को एक बेहतर जगह बनाने के लिये प्रोत्साहित करना.

अफ़ग़ानिस्तान: विनाशकारी भूकम्प के बाद सहायता के लिये यूएन एजेंसियाँ सक्रिय

संयुक्त राष्ट्र और उसके साझीदार संगठन, अफ़ग़ानिस्तान में बुधवार तड़के आए विनाशकारी भूकम्प के बाद, सहायता कार्यों में सक्रिय हो गए हैं. इस भूकम्प ने देश के कम से कम दो प्रान्तों - पक्तिका और ख़ोस्त को प्रभावित किया है. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – UNICEF ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में बुधवार सुबह तड़के एक विनाशकारी भूकम्प ने पक्तिका प्रान्त के अनेक इलाक़ों को दहलाकर रख दिया, जिसके परिणामस्वरूप सैकड़ों लोग हताहत हुए हैं, जिनमें बहुत से बच्चे भी हैं.