एशिया प्रशांत

कोविड-19: भारत में टीकाकरण, यूएन एजेंसियाँ मदद में सक्रिय

भारत में, कोविड-19 महामारी से निपटने के लिये शनिवार, 16 जनवरी को टीकाकरण शुरू किया गया है. भारत सरकार ने कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये दो वैक्सीनों को मंज़ूरी दी है, जिनमें से एक ऑक्सफ़र्ड-ऐस्ट्राज़ेनेका की वैक्सीन है और दूसरी (कोवैक्सीन) भारत में ही बनाई गई है. विभिन्न यूएन एजेंसियाँ टीकाकरण में सक्रिय मदद कर रही हैं.

बांग्लादेश: रोहिंज्या शिविर में आग से हुई तबाही में, यूएन एजेंसियों की मदद तेज़

संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों ने, बांग्लादेश के दक्षिण-पूर्वी इलाक़े में स्थित एक भीड़ भरे शरणार्थी शिविर में गुरूवार को विनाशकारी आग लगने के बाद बेसहारा बचे हज़ारों रोहिंज्या शरणार्थियों की मदद करने के लिये प्रयास तेज़ कर दिये हैं. 

कोविड-19: दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में टीकाकरण की अभूतपूर्व तैयारी 

भारत, इण्डोनेशिया सहित दक्षिण-पूर्व एशिया के देशों में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिये व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान की तैयारियाँ चल रही हैं जिनमें विश्व स्वास्थ्य संगठन का क्षेत्रीय कार्यालय हरसम्भव सहायता प्रदान कर रहा है. इस क्षेत्र में स्थित देशों में पोलियो उन्मूलन अभियान में सफलता मिली थी और उस मुहिम के अनुभव व सबक़ का इस्तेमाल कोरोनावायरस से निपटने के लिये भी किया जा रहा है.

युद्ध-पीड़ित अफ़ग़ानिस्तान के लिये 1.3 अरब डॉलर की सहायता राशि की ज़रूरत

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ और उसके मानवीय राहत साझीदार संगठनों ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में डेढ़ करोड़ से ज़्यादा ज़रूरतमन्दों तक जीवनरक्षक सहायता पहुँचाने के लिये एक अरब 30 करोड़ डॉलर की धनराशि की आवश्यकता है. यूएन एजेंसियों के मुताबिक दशकों से हो रही हिंसा, प्राकृतिक आपदाओं और कोरोनावायरस संकट के सामाजिक-आर्थिक व स्वास्थ्य प्रभावों के कारण अफ़ग़ान जनता गम्भीर चुनौतियोँ से जूझ रही है.   

फ़िरदौसी क़ादरी: असाधारण जज़्बा

2020 के लिये विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों के अन्तरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर, हाल ही में, लौरिएल फाउण्डेशन और यूनेस्को के 22वें वुमन इन साइंस पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा की गई. इनमें एक विजेता बांग्लादेश की डॉक्टर फ़िरदौसी क़ादरी भी हैं... (वीडियो).

हाँगकाँग: कार्यकर्ताओं की गिरफ़्तारी पर चिन्ता, तत्काल रिहाई की माँग

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय (OHCHR) ने चीन के हाँगकाँग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून के तहत, 50 से ज़्यादा लोगों की गिरफ़्तारी पर गहरी चिन्ता ज़ाहिर करते हुए उन्हें तत्काल रिहा किये जाने की माँग की है. यूएन कार्यालय ने स्थानीय प्रशासन से लोगों को शान्तिपूर्ण ढँग से एकत्र होने और अभिव्यक्ति की आज़ादी के अधिकार की गारण्टी देने का आग्रह किया है.

अफ़ग़ानिस्तान: दोहा में शान्ति वार्ता के लिये प्रतिनिधियों की वापसी का स्वागत

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने क़तर की राजधानी दोहा में अफ़ग़ान सरकार और तालिबान के बीच बातचीत को फिर शुरू करने के लिये शान्ति वार्ताकारों के लौटने का स्वागत किया है. यूएन मिशन ने अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा पर विराम लगाने और स्थायी शान्ति के लिये परिस्थितियों के निर्माण के लिये दोनों पक्षों के बीच बातचीत में प्रगति की उम्मीद जताई है. 

भुखमरी और कोविड-19: ताकि कोई भी पीछे न छूट जाए

भारत और मालदीव के लिये यूएन शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) मिशन के प्रमुख, ऑस्कर मुंडिया और भारत में विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के प्रतिनिधि और देश निदेशक, बिशोउ पराजुली का मानना है कि कोविड-19 महामारी से सबक़ सीखकर, खाद्य सुरक्षा का दायरा बढ़ाना चाहिये, ताकि भविष्य में भुखमरी की महामारी से बचा जा सके.