एशिया प्रशांत

भारत: शीर्ष सैन्य अधिकारी जनरल रावत के निधन पर महासचिव ने शोक जताया

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने भारत के एक शीर्ष सैन्य अधिकारी और यूएन शान्तिरक्षा अभियान में सेवाएँ दे चुके जनरल बिपिन रावत के निधन पर शोक व्यक्त किया है.

भारत: नए रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर शॉम्बी शार्प ने कार्यभार सम्भाला

भारत में संयुक्त राष्ट्र के नए रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर (RCO), शोम्बी शार्प ने, वैश्विक टिकाऊ विकास लक्ष्यों (SDGs) और भारत की राष्ट्रीय विकास प्राथमिकताओं के प्रति, यूएन की प्रतिबद्धता दोहराते हुए, मंगलवार को भारत के विदेश मंत्रालय को, औपचारिक रूप से अपना परिचय पत्र सौंपा. शॉम्बी शार्प ने 15 नवम्बर 2021 को भारत में अपना कार्यभार सम्भाला था.

म्याँमार: आंग सान सू ची को कारावास की सज़ा के निर्णय की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष मानवाधिकार पदाधिकारी मिशेल बाशेलेट ने म्याँमार में स्टेट काउंसलर आंग सान सू ची को, एक सैन्य अदालत द्वारा कारावास के दण्ड की निन्दा की है, और उनकी तुरन्त रिहाई का आहवान भी किया है.

माली: हमले में 30 आम नागरिकों के मारे जाने की कठोर निन्दा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने माली के केन्द्रीय इलाक़े में स्थित सोंघो गाँव में, 3 दिसम्बर को आम लोगों पर किये गए हमले की कड़े शब्दों में निन्दा की है. इस हमले में कम से कम 30 लोगों की मौत हुई है और अनेक अन्य घायल हुए हैं. 

अफ़ग़ानिस्तान: विस्थापितों को सर्दी के मौसम में भुखमरी से बचाना है तत्काल प्राथमिकता

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी - UNHCR ने शुक्रवार को कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में भुखमरी के असाधारण स्तर देखे जा रहे हैं और सर्दियों का मौसम आने के कारण, बड़े पैमाने पर भोजन की क़िल्लत व भुखमरी से बचने के लिये इन्तेज़ाम करना तत्काल प्राथमिकता है.

कश्मीरी मानवाधिकार कार्यकर्ता की गिरफ़्तारी पर, यूएन मानवाधिकार कार्यालय की चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने एक कश्मीरी मानवाधिकार कार्यकर्ता ख़ुर्रम परवेज़ की गिरफ़्तारी और भारत-प्रशासित कश्मीर में सशस्त्र गुटों द्वारा आम नागरिकों की हत्या किये जाने की घटनाओं पर गहरी चिन्ता व्यक्त की है. 

भारत: विवादास्पद कृषि क़ानून वापिस लिये जाने का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र के एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने, भारत सरकार द्वारा तीन विवादास्पद कृषि क़ानूनों को वापिस लेने के फ़ैसले का स्वागत किया है. ध्यान रहे कि इन क़ानूनों के कारण, लगभग एक वर्ष पहले राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे, जिनके दौरान लगभग 600 लोगों की मौत भी हुई.

नेपाल: संक्रमणकालीन न्याय प्रक्रिया के ज़रिये, जवाबदेही व मुआवज़ा सुनिश्चित किये जाने पर ज़ोर

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने नेपाल में एक दशक लम्बी हिंसा पर विराम लगाने वाले शान्ति समझौते के संकल्पों को वास्तविकता में पूरा किया जाने की आवश्यकता पर बल दिया है. यूएन एजेंसी का मानना है कि संक्रमणकालीन न्याय प्रक्रिया के ज़रिये मानवाधिकार उल्लंघनों के मामलों में जवाबदेही और पीड़ितों के लिये मुआवज़ा तय करने से, स्थाई शान्ति की ज़मीन तैयार करने में मदद मिलेगी. 

इण्टरव्यू: अफ़ग़ानिस्तान में मानवीय संकट ने छीना बच्चों का बचपन 

70 वर्षों से अधिक समय से, संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने अफ़ग़ानिस्तान में अपनी मौजूदगी बनाए रखी है, और अगस्त 2021 में देश की सत्ता पर तालेबान का वर्चस्व होने के बाद उपजे कठिन माहौल में भी, स्थानीय बच्चों की देखभाल सुनिश्चित करने के प्रयास जारी हैं. 

चीन: जेल में बन्द पत्रकार की तबीयत बिगड़ी, तत्काल रिहाई की माँग

संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने चीन की नागरिक पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता झाँग झान की मानवीय आधार पर जेल से तत्काल रिहाई की माँग की है. बताया गया है कि उन्हें कोविड-19 के दौरान रिपोर्टिंग के लिये गिरफ़्तार किया गया था, और जेल में उनकी हालत तेज़ी से बिगड़ रही है.