एशिया प्रशांत

अफ़ग़ानिस्तान में जच्चा-बच्चा की मदद के लिये संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबद्धता, नजाबा की कहानी

अफ़ग़ानिस्तान में अगस्त में, तालेबान का नियंत्रण होने के बाद से बिगड़े हालात के कारण, जच्चा-बच्चा स्वास्थ्य सेवाएँ व्यापक गम्भीर रूप से बाधित हुई हैं और इनमें शिशुओं को जन्म देना भी कठिनाइयों से भर गया है. संयुक्त राष्ट्र की प्रजनन व जच्चा-बच्चा स्वास्थ्य एजेंसी – UNFPA, वास्तविक व ज़मीनी हालात में जीवनरक्षक सेवाएँ मुहैया कराने में सक्रिय है. एजेंसी के अनुसार, 36 वर्षीय नजाबा ऐसी माताओं में से एक हैं जिन्होंने गर्भावस्था के दौरान गम्भीर ख़तरों के साथ-साथ बढ़ती असुरक्षा के हालात का सामना किया है.

अफ़ग़ानिस्तान संकट: दृढ़ संकल्प के साथ त्वरित कार्रवाई का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में स्थिरता सुनिश्चित करने और स्थानीय जनता के बेहतर भविष्य के लिये देशों को एकजुट होकर, तत्काल कार्रवाई करनी होगी. यूएन प्रमुख ने अफ़ग़ानिस्तान मुद्दे पर, बुधवार को ईरान द्वारा आयोजित एक क्षेत्रीय सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए यह बात कही है.

पाकिस्तान-अफ़ग़ानिस्तान सीमा पर आवाजाही आसान बनाये जाने का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी मामलों की एजेंसी (UNHCR) ने पाकिस्तान प्रशासन द्वारा अफ़ग़ानिस्तान से लगी सीमा पर लोगों और सामान की आवाजाही को सरल बनाने के लिये क़दम उठाये जाने का स्वागत किया है. हाल के दिनों में सीमा चौकी पर आवाजाही में आए व्यवधान से बड़ी संख्या में अफ़ग़ान नागरिक प्रभावित हुए हैं और व्यापार पर भी असर पड़ा है. 

आधी अफ़ग़ान आबादी के समक्ष भुखमरी का संकट - तत्काल सहायता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र का एक नया विश्लेषण दर्शाता है कि अफ़ग़ानिस्तान में सूखे, हिंसक संघर्ष व अस्थिरता, कोविड-19 और आर्थिक संकट के कारण, देश की आधी से अधिक आबादी के पास खाने के लिये पर्याप्त भोजन उपलब्ध नहीं है, जिससे उनके जीवन के लिये ख़तरा पैदा हो रहा है. 

भारत: यूएन दिवस के अवसर पर, हरित समाधानों व जलवायु कार्रवाई पर ज़ोर

भारत में संयुक्त राष्ट्र ने 24 अक्टूबर को यूएन दिवस के अवसर पर, एक जलवायु कार्रवाई उत्सव का आयोजन किया, जिसमें युवाओं द्वारा विकसित अभिनव, पर्यावरण अनुकूल समाधानों को दर्शाया गया. इस कार्यक्रम में यूएन अधिकारियों के साथ-साथ, युवा जलवायु चैम्पियनों और नीति-निर्धारकों ने भी शिरकत की. 

भारत: कोविड-19 वैक्सीन के एक अरब टीके दिये जाने की 'उपलब्धि' पर बधाई 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने भारत में कोविड-19 टीकाकरण मुहिम के तहत, लोगों को एक अरब वैक्सीन ख़ुराकें दिये जाने का आँकड़ा पार होने पर बधाई दी है. दक्षिण-पूर्व एशिया के लिये यूएन एजेंसी की क्षेत्रीय निदेशक ने, कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में इसे एक अहम पड़ाव क़रार दिया है. 

अफ़ग़ान लोगों को आर्थिक संकट से उबारने के लिये 'जन अर्थव्यवस्था' कोष

संयुक्त राष्ट्र ने गुरूवार को कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान की अर्थव्यवस्था बिखर जाने के कगार पर पहुँच गई है और आने वाले महीनों में, केवल तीन प्रतिशत घरों को छोड़कर, बाक़ी पूरी आबादी के, ग़रीबी की रेखा से नीचे चले जाने की आशंका प्रबल है.

अफ़ग़ानिस्तान में पोलियो टीकाकरण अभियान को तालेबान का समर्थन

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और यूएन बाल कोष – यूनीसेफ़ ने, अफ़ग़ानिस्तान में, घर-घर जाकर सभी बच्चों को पोलियो ख़ुराकें पिलाने का अभियान फिर शुरू किये जाने को, तालेबान नेतृत्व द्वारा समर्थन दिये जाने के फ़ैसले का स्वागत किया है.

सीरिया के संविधान का मसौदा तैयार करने की प्रक्रिया शुरू

सीरिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत, गेयर पैडरसन ने बताया है कि सीरिया के लिये एक नए संविधान का मसौदा तैयार करने की प्रक्रिया इस सप्ताह शुरू होगी.

अफ़ग़ानिस्तान: कन्दाहार की शिया मस्जिद पर जानलेवा आत्मघाती हमले की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान के कन्दाहार प्रान्त की सबसे बड़ी शिया मस्जिद में शुक्रवार की नमाज़ के दौरान हुए एक घातक आत्मघाती बम हमले की निन्दा की है. इस हमले में कम से कम 30 लोगों की मौत हुई है और अनेक अन्य हताहत हुए हैं.