अफ्रीका

प्रथम ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार – CAR में तैनात महिला न्याय व सुधार अधिकारी को

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य (CAR) में संयुक्त राष्ट्र मिशन - MINUSCA में सेवारत बुर्कीना फ़ासो की महिला पुलिस अधिकारी टेने मायमूना ज़ोऊनगराना को, प्रथम यूएन ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. यह पुरस्कार महिला न्याय व सुधार अधिकारियों के लिये शुरू किया गया है.

चाड के शान्तिरक्षक को अपूर्व साहस के लिये मरणोपरान्त सम्मान पदक

कैप्टन अब्देलरज़ाख़ हमीत बहार ने अप्रैल 2021 में, माली के अगुएलहोक सुपर कैम्प पर एक सशस्त्र समूह के हमले के दौरान, सैकड़ों नागरिकों और शान्तिरक्षकों की रक्षा के लिये एक ऑपरेशन का नेतृत्व किया. उस हमले में उन्हें भी गोली लगी और उनकी मौत हो गई. कैप्टन अब्दल रज़ाख़ को असाधारण साहस के लिये, 26 मई को न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक समारोह में, कैप्टन म्बाये डायग्ने मैडल से मरणोपरान्त सम्मानित किया गया.

अफ़्रीका नई चुनौतियों के बावजूद, ‘आशा का घर’ है – यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को अफ़्रीका दिवस के अवसर पर एक आशावादी सन्देश में कहा है कि इस दिवस पर दुनिया, एक विविध और गतिवान महाद्वीप की अपार क्षमताओं और सम्भावनाओं का जश्न मनाती है.

'बेहतर नियोजन से बदल सकती हैं, अफ़्रीका की जलवायु तकलीफ़े'

विश्व प्रदूषण में, योरोप या अमेरिका जैसे अन्य महाद्वीपों की तुलना में, अलबत्ता अफ़्रीका का बहुत कम योगदान है, फिर भी इस महाद्वीप को जलवायु परिवर्तन का बड़ा असर झेलना पड़ रहा है. इससे विभिन्न इलाक़ों में लगातार सूखा या बाढ़ की समस्या के कारण, खाद्य सुरक्षा और कृषि पर गहरा प्रभाव पड़ता है. संयुक्त राष्ट्र के सहायक महासचिव और अफ़्रीकी जोखिम क्षमता क्लस्टर के महानिदेशक, इब्राहिमा चेइख़ डियोंग ने, हाल ही में दुबई में हुए विश्व उद्यमिता व निवेश फ़ोरम (WEIF) के दौरान, अफ़्रीका के समक्ष जलवायु परिवर्तन सम्बन्धी जोखिमों पर, यूएन न्यूज़ की अंशु शर्मा के साथ बातचीत की. वीडियो रिपोर्ट...

इथियोपिया: टीगरे संघर्ष सुलझाने के लिये अब 'बेहतर स्थिति', आमिना जे मोहम्मद

संयुक्त राष्ट्र उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद ने इथियोपिया की पाँच दिवसीय यात्रा के अन्तिम दिन कहा है कि यह पूर्वी अफ़्रीकी देश, उत्तरी क्षेत्र टीगरे में 15 महीने पहले भड़के संघर्ष का समाधान निकालने के लिये "बेहतर स्थिति" में है.

फ़ोर्स कमाण्डर शैलेश तिनईकर, अनमोल यादों के साथ रिटायर

भारत के निवर्तमान और सेवानिवृत्त UNMISS फ़ोर्स कमाण्डर, लैफ्टिनेण्ट जनरल शैलेश तिनईकर, दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षा कार्यकाल करने के बाद जनवरी 2022 में रिटायर हो गए हैं. लैफ्टिनेण्ट जनरल शैलेश तिनईकर 42 वर्ष की सैन्य सेवा पूरी करने के बाद, भारतीय सेना से भी रिटायर हो रहे हैं.

 

उनके शान्तिरक्षा करियर पर एक वीडियो फ़ीचर...