अफ्रीका

कैमरून के निर्धन समुदायों तक नवीकरणीय ऊर्जा पहुँचाने की पहल

नवीकरणीय ऊर्जा और ऊर्जा दक्षता प्रौद्योगिकियों के उपयोग को बढ़ावा देने वाली एक परियोजना के परिणामस्वरूप, कैमरून के उत्तर और सुदूर उत्तर के एक हज़ार से अधिक घर और छह हज़ार से अधिक लोग, जल्द ही स्वच्छ और टिकाऊ ऊर्जा का लाभ उठा सकेंगे. कैमरून में संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) के देशीय कार्यालय ने, भारत और कैमरून सरकार की साझेदारी में इस दिशा में बढ़त हासिल करने की बात कही है.   

सूडान: पश्चिमी दारफ़ूर में हाल की हिंसा की जाँच व मानवाधिकार संरक्षण का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय ने सूडान के पश्चिमी दारफ़ूर इलाक़े में, हाल ही में भीषण हिंसा फिर से भड़कने के सन्दर्भ में, सरकार से आग्रह किया है कि उसे, बिना कोई भेदभाव किये, सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी.

डीआरसी: बढ़ती गम्भीर भुखमरी के हालात से आबादियाँ बेहाल

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता पदाधिकारियों ने मंगलवार को आगाह करते हुए कहा है कि काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) में भुखमरी का स्तर रिकॉर्ड ऊँचाई पर पहुँच गया है और देश में हर तीन में से एक व्यक्ति भुखमरी का सामना करने को मजबूर है.

माली: राजनैतिक, सुरक्षा, मानवाधिकार व मानवीय चुनौतियों की भयावहता का शिकार

संयुक्त राष्ट्र के शान्तिरक्षा मामलों के प्रमुख ज्याँ पियर लैक्रोआ ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि माली के मध्य और उत्तरी इलाक़ों में सुरक्षा स्थिति तेज़ी से ख़राब हो रही है. ऐसे में, संयुक्त राष्ट्र के शान्तिरक्षकों, माली की रक्षा सेनाओं व सुरक्षा बलों को लगातार हमलों का सामना करना पड़ रहा है जिससे उन्हें भारी नुक़सान भी उठाना पड़ रहा है. कुछ बड़े क़स्बे भी, सशस्त्र गुटों से लगातार ख़तरों के साए में रहने को मजबूर हैं.

तिमोर-लेस्ते: बाढ़ से भारी तबाही, यूएन एजेंसियाँ भी मदद करने में सक्रिय

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ, तिमोर-लेस्ते में, बाढ़ और भूस्खलन का सामना करने के प्रयासों में सक्रिय मदद कर रही हैं. देश भर में आई बाढ़ और भूस्खलन से व्यापक तबाही हुई है और प्रभावित स्थानों में राजधानी दीली भी शामिल है.

माली: यूएन शान्तिरक्षकों पर घातक हमले की कठोरतम शब्दों में निन्दा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन के लिये अपनी सेवाएँ दे रहे शान्तिरक्षकों पर, शुक्रवार को हुए एक घातक हमले की कठोरतम शब्दों में निन्दा की है. 

निजेर में आम लोगों की 'भयावह' हत्याओं की कड़ी निन्दा 

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने हाल ही में, निजेर के पश्चिमी इलाक़े में स्थित दो गाँवों पर हुए भयावह हमले में अनेक आम लोगों के मारे जाने की कठोरतम शब्दों में निन्दा की है. पश्चिम व मध्य अफ़्रीका के लिये यूनीसेफ़ की क्षेत्रीय निदेशिका मारी पियेर पोरियेर ने बताया कि अज्ञात हथियारबन्द गुटों द्वारा तलाबेरे क्षेत्र में हुए इस हमले में 58 लोगों की मौत हो गई है. 

यमन: भीषण आग लगने के बाद, तत्काल मानवीय सहायता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन मामलों की एजेंसी – IOM ने यमन की राजधानी सना में, उस अत्यधिक भीड़ भरे बन्दीगृह में तुरन्त मानवीय सहायता पहुँचाए जाने का आहवान किया है जहाँ बीते सप्ताहान्त भीषण आग लगने से, अनेक लोगों की मौतें होने की ख़बरें आई हैं. इस बन्दीगृह में प्रवासियों को रखा जाता है.

मानव तस्करों ने, अदन की खाड़ी में, प्रवासियों को समुन्दर में फेंका, कम से कम 20 की मौत

संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन मामलों सम्बन्धी एजेंसी -IOM ने गुरूवार को कहा है कि जिबूती से यमन को जाने वाले रास्ते में, मानव तस्करों ने, नाव में सवार अनेक प्रवासियों को समुन्दर में फेंक दिया जिसके कारण, कम से कम 20 लोगों की डूबकर मौत हो गई.

मेजर बिन्देश्वरी तँवर - यूएन शान्तिरक्षक बनना, एक मूल्यवान अवसर

भारत की मेजर बिन्देश्वरी तँवर एक सैन्य अधिकारी हैं और एक युवा बेटे की माँ भी. 34 वर्षीय मेजर बिन्देश्वरी तँवर का विवाह अपने एक साथी अधिकारी के साथ ही हुआ, और फ़िलहाल वो एक यूएन शान्तिरक्षक के रूप में दक्षिण सूडान में सेवारत हैं.  मेजर बिन्देश्वरी तँवर का कहना है कि यूएन शान्तिरक्षक के तौर पर कार्य करने का अवसर बेहद मूल्यवान अनुभव है जिसे बाँहें फैलाकर स्वीकार करना चाहिये. उनके साथ एक ख़ास बातचीत...