अफ्रीका

लीबिया में प्रवासियों पर बल प्रयोग के अभियानों में बढ़ोत्तरी पर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने कहा है कि लीबिया में प्रवासी और पनाह मांगने वाले लोगों को सुरक्षा अभियानों के तहत बहुत सख़्ती का सामना करना पड़ रहा है और इस तरह के अभियानों में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई है. साथ ही, हिरासत में लिये गए लोगों की संख्या में बहुत बढ़ोत्तरी हुई है.

यमन: 'अधर में लटकी है, भविष्य बेहतर होने की सम्भावना’

यमन में संयुक्त राष्ट्र के एक वरिष्ठ मानवीय सहायता अधिकारी ने कहा है कि पूरे देश में संघर्ष और हिंसा जारी रहने का बहुत भारी असर, देश के लोगों पर पड़ा है, जो चाहते हैं कि ये हिंसा व संघर्ष जल्द से जल्द ख़त्म हो जाए, ताकि वो अपनी ज़िन्दगियाँ फिर सामान्य तरीक़े से शुरू कर सकें.

कपास है 10 करोड़ से भी ज़्यादा परिवारों की आय का सहारा

कपास (कॉटन) की एक मीट्रिक टन मात्रा, औसतन पाँच लोगों को रोज़गार मुहैया कराती है, अक्सर दुनिया के सबसे ज़्यादा हाशिये वाले क्षेत्रों में; इस तरह कपास से, दुनिया भर में, कुल मिलाकर, लगभग 10 करोड़ परिवारों की आजीविका चलती है.

भारतीय शान्तिरक्षक प्रतिष्ठित संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मानित

दक्षिण सूडान में, शान्ति एवं स्थिरता लाने के प्रतिबद्ध प्रयासों के लिये, भारत के 836 शान्तिरक्षकों को प्रतिष्ठित संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मानित किया गया है. ये भारतीय सैनिक संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षा अभियान का हिस्सा हैं.

लीबिया: सभी पक्षों द्वारा मानवता के ख़िलाफ़ अपराध करने की शंका

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद द्वारा नियुक्त एक लीबिया जाँच मिशन ने सोमवार को कहा है कि ऐसी बहुत सम्भावना है कि देश में वर्ष 2016 से ही, युद्ध से सम्बद्ध सभी पक्षों द्वारा, युद्धापराध और मानवता के ख़िलाफ़ अपराधों को अंजाम दिया गया है, और इन अपराधों में बाहरी तत्वों का भी हाथ रहा है.

माली में यूएन शान्तिरक्षकों के काफ़िले पर हमले की कठोर निन्दा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने माली में शनिवार को यूएन शान्तिरक्षकों पर हुए हमले की निन्दा की है. इस घटना में माली में यूएन मिशन (MINUSMA) में सेवारत मिस्र के एक शान्तिरक्षक की मौत हो गई है और चार अन्य गम्भीर रूप से घायल हुए हैं. 

इथियोपिया: यूएन स्टाफ़ को निष्काषित करने के फ़ैसले से, सहायता अभियानों के लिये जोखिम

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कर्मियों ने शुक्रवार को कहा है कि इथियोपिया से यूएन स्टाफ़ को निष्काषित करने के फ़ैसले से, देश के उत्तरी हिस्से में, युद्धग्रस्त इलाक़े में सहायता सामग्री के वितरण पर असर पड़ सकता है जहाँ ज़रूरतें और विस्थापन लगातार बढ़ रहे हैं.

डीआरसी: इबोला के फैलाव के दौरान यौन शोषण के आरोप, ‘लोगों के साथ विश्वासघात’

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) में संगठन के कुछ कर्मचारियों द्वारा कथित रूप से यौन दुर्व्यवहार और शोषण किये जाने के मामलों पर गहरा क्षोभ जताते हुए कहा है कि यह उन लोगों के साथ विश्वासघात है जिनकी हम सेवा करते हैं. एक नई जाँच रिपोर्ट के अनुसार इन मामलों को, डीआरसी में इबोला बीमारी के फैलाव के दौरान अंजाम दिया गया.

यमन: युद्ध के कारण जारी, बच्चों की बेतहाशा तकलीफ़ों को रोका जाना होगा

बच्चे व सशस्त्र संघर्षों की स्थित पर, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश की विशेष प्रतिनिधि वर्जीनिया गाम्बा  की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि यमन में जारी संघर्ष में, वर्ष 2019 और 2020 के दौरान, लड़ाई तेज़ होने के कारण, लगभग 2600 बच्चे हताहत हुए हैं.

यमन: लगातार बढ़ रहा है भय का माहौल, सभी पक्ष हैं ज़िम्मेदार

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों के एक पैनल ने बुधवार को कहा है कि यमन में, छह साल से जारी गृहयुद्ध में कोई कमी होती नज़र नहीं आ रही है और युद्ध के कारण, आम आबादी में डर का माहौल लगातार बढ़ रहा है.