अफ्रीका

टीगरे में लाखों प्रभावितों तक सहायता पहुँचाने के लिये निर्बाध पहुँच की दरकार

संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने इथियोपिया के युद्धग्रस्त इलाक़े टीगरे में सहायता अभियान फिर से शुरू कर दिये हैं. उस क्षेत्र में पिछले सप्ताह लड़ाई भड़कने के बाद सहायता अभियान रोकने पड़े थे, हालाँकि यूएन एजेंसी ने शुक्रवार को आगाह भी किया है कि वहाँ सम्पूर्ण मानवीय सहायता कार्य करने के रास्ते में “गम्भीर चुनौतियाँ” दरपेश हैं.

कोविड-19: डेल्टा वेरिएंट की चपेट में अफ़्रीका, योरोपीय देशों पर भी मंडराता ख़तरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चिन्ता जताते हए कहा है कि अफ़्रीका में हर तीन सप्ताह में कोविड-19 संक्रमण के मामलों की संख्या दोगुनी हो रही है. वायरस का डेल्टा नामक एक प्रकार (वेरिएंट) अब तक 16 देशों में फैल चुका है और सबसे ज़्यादा संक्रमण संख्या वाले पाँच में से तीन देशों में मौजूद है.

इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र में हालात गम्भीर - स्वास्थ्य सेवाओं पर संकट, अकाल का ख़तरा

संयुक्त राष्ट्र मानवीय राहत एजेंसियों ने इथियोपिया में हिंसा प्रभावित टीगरे क्षेत्र में अनिश्चित हालात पर चिन्ता जताई है. सरकार द्वारा युद्धविराम की अपील के बावजूद यह इलाक़ा अकाल जैसी परिस्थितियों से जूझ रहा है और वहाँ बीमारियाँ फैलने की भी आशंका है.

इथियोपिया: टीगरे में भुखमरी से गम्भीर हालात, यूएन एजेंसियों ने तेज़ किये राहत प्रयास

विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के प्रमुख डेविड बीज़ली ने इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र में तत्काल जीवनरक्षक सहायता पहुँचाने के लिये रास्तों को खोले जाने का आग्रह किया है. सरकारी सुरक्षा बलों और हथियारबन्द गुटों के बीच लड़ाई जारी रहने से, हिंसा प्रभावित इलाक़े में साढ़े तीन लाख लोगों पर अकाल का ख़तरा मंडरा रहा है.

 

सुरक्षा परिषद में आईसीसी मुख्य अभियोजक – दार्फ़ूर में न्याय सुनिश्चित करने का आग्रह

अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (ICC) की मुख्य अभियोजक फ़तू बेन्सूडा ने अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया है कि दार्फ़ूर की जनता के लिये न्याय और शान्ति को सुनिश्चित किया जाना होगा. उन्होंने बुधवार को अपने नौ-वर्षीय कार्यकाल के दौरान अन्तिम बार सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए कहा कि आईसीसी, एकमात्र संस्था है जिसने सूडान के दार्फ़ूर प्रान्त में हिंसक संघर्ष के पीड़ितों को उम्मीद बंधाई है. 

काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य: विस्थापितों पर जानलेवा हमले की कड़ी निन्दा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) में देश के पूर्वी इलाक़े में हुए हमलों की कड़ी निन्दा की है और प्रशासनिक एजेंसियों से दोषियों की जवाबदेही तय किये जाने की माँग की. सोमवार को हुए इन हमलों में 55 लोगों की मौत हुई है और अनेक घायल हुए हैं.

इथियोपिया: युद्ध से बदहाल टीगरे क्षेत्र में ख़राब हालात पर गम्भीर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र में विस्थापित आबादी के साथ दुर्व्यवहार के मामलों पर गहरी चिन्ता जताई है. ख़बरों के अनुसार कम से कम 200 घरेलू विस्थापितों को मनमाने ढँग से गिरफ़्तार किया गया है. पिछले कई महीनों की लड़ाई के कारण, हिंसा प्रभावित व विस्थापन का शिकार लोग, गम्भीर खाद्य असुरक्षा का भी सामना कर रहे हैं.

माली: यूएन प्रमुख की चिन्ताजनक नज़र, सुरक्षा परिषद की बैठक

माली में संक्रमणकालीन सरकार के समक्ष उत्पन्न हुए संकट के मद्देनज़र संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बुधवार को बन्द दरवाज़ों में बैठक हुई है. पिछले वर्ष अगस्त में सैन्य तख़्तापलट की अगुवाई करने वाले सैन्य अधिकारी ने, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को जबरन पद से हटने पर मजबूर कर दिया है.

टिकाऊ विकास, ग़रीबी उन्मूलन व शान्ति के लिये अफ़्रीका है अहम

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मंगलवार, 25 मई, को अफ़्रीका दिवस के अवसर पर, महाद्वीप की समृद्ध, वैविध्यपूर्ण सांस्कृतिक व प्राकृतिक विरासत को टिकाऊ विकास, निर्धनता उन्मूलन, और शान्ति निर्माण के लिये बेहद अहम क़रार दिया है.

केनयाई शान्तिरक्षक ‘जैण्डर एडवोकेट ऑफ़ द ईयर’ पुरस्कार से सम्मानित

केनया की संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षक स्टैपलिन न्याबोगा को लैंगिक अधिकारों की पैरोकारी के लिये, वर्ष 2020 के संयुक्त राष्ट्र पुरस्कार (UN Military Gender Advocate of the Year) से सम्मानित किये जाने की घोषणा की गई है. 32 वर्षीया केनयाई शान्तिरक्षक ने हाल ही में सूडान के दार्फ़ूर में यूएन मिशन (UNAMID) में अपना कार्यकाल पूरा किया है, जहाँ लैंगिक मुद्दों पर उत्कृष्ट योगदान देने के लिये उन्हें चुना गया है.