नवीनतम समाचार

यमन में मानवीय मदद के लिए 2.6 अरब डॉलर का संकल्प

यमन में जारी संकट से निपटने के लिए हो रहे प्रयासों के तहत दानदाता देशों ने मानवीय राहत अभियानों के लिए 2.6 अरब डॉलर की सहायता राशि प्रदान करने का संकल्प लिया है. यह धनराशि पिछले साल के मुक़ाबले 30 फ़ीसदी अधिक है जिससे यमन में विकट परिस्थितियों में रह रहे लाखों लोगों तक मानवीय राहत पहुंचाने के काम में मदद मिल सकेगी. 

हथियारों पर नियंत्रण के लिए नए सिरे से प्रयासों की ज़रूरत

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि से जटिल वातावरण में हथियारों पर नियंत्रण कसने के लिए एक नई वैश्विक दृष्टि की आवश्यकता है. उन्होंने आगाह किया कि सदस्य देशों को बिना सोचे-समझे परमाणु हथियारों की दौड़ में शामिल नहीं हो जाना चाहिए. 

मानवाधिकारों को चुनौतियां कई लेकिन उम्मीद कायम

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मानवाधिकार परिषद को संबोधित करते हुए कहा है कि दुनिया के कई हिस्सों में आम जन के अधिकार ख़तरे में हैं. इसके बावजूद उन्होंने आशा का दामन नहीं छोड़ा है क्योंकि सामाजिक न्याय के लिए हो रहे सशक्त आंदोलन प्रगति लाने में सफल भी हो रहे हैं. 

अफ़ग़ानिस्तान के लिए त्रासदी भरा रहा साल 2018

महिलाओं और बच्चों सहित 3,800 से ज़्यादा आम नागरिकों की ज़िंदगियां लील जाने वाला पिछला साल बेहद ‘व्यथित कर देने वाला और अस्वीकार्य’ साबित हुआ. अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) और मानवाधिकार कार्यालय (OHCHR) की नई रिपोर्ट दर्शाती है कि 2017 की तुलना में मृतकों की संख्या में 11 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है. 

सिकुड़ती जैव विविधता खाद्य और कृषि प्रणाली के लिए ख़तरा

संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि खाद्य प्रणाली को मज़बूत आधार प्रदान करने वाली जैव विविधता धीरे धीरे गायब हो रही है. इससे भोजन, आजीविका, स्वास्थ्य और पर्यावरण के भविष्य के लिए  बड़ा ख़तरा पैदा होता जा रहा है. 

सुरक्षा परिषद ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने जम्मू और कश्मीर राज्य में 'जघन्य और कायराना' ढंग से हुए आत्मघाती बम हमले की कड़े से कड़े शब्दों में निंदा की है. 14 फ़रवरी को पुलवामा ज़िले में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ़) के काफ़िले पर हुए इस हमले में 40 भारतीय सुरक्षाकर्मी मारे गए थे.

वि-औपनिवेशीकरण की प्रक्रिया में मिली सफलता 'प्रेरणादायी'

संयुक्त राष्ट्र के इतिहास में वि-उपनिवेशीकरण एक बेहद अहम अध्याय  है लेकिन इस अध्याय का लेखन अभी जारी है क्योंकि अब भी दुनिया में 17 ऐसे क्षेत्र हैं जो स्वयं-शासित नहीं हैं. यूएन वि-औपनिवेशीकरण समिति के  वर्ष 2019 सत्र को संबोधित करते हुए महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ये बात कही. 

सांस्कृतिक विरासत की पहचान है मातृभाषा

हर दो हफ़्ते में दुनिया में एक भाषा विलुप्त हो जाती है, और उसके साथ ही उससे जुड़ा मानवीय इतिहास और सांस्कृतिक विरासत भी खो जाती है.  21 फ़रवरी को अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर भाषाई विविधता को सम्मान देते हुए मूल निवासियों की भाषाओं को संरक्षित रखने की अहमियत के प्रति जागरूकता बढ़ाने के प्रयास हो रहे हैं. 

तनाव कम करने के लिए 'जल्द कदम उठाएं' भारत और पाकिस्तान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने  भारत और पाकिस्तान से आग्रह  किया है कि पुलवामा हमले के बाद से पैदा हुए तनाव को कम करने के लिए उन्हें तत्काल कदम उठाने चाहिए. पिछले गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा ज़िले में भारतीय सुरक्षा बलों पर आत्मघाती कार बम हमले में 40 सुरक्षाकर्मी मारे गए थे. 

'युद्धापराध' माना जा सकता है दक्षिण सूडान में मानवाधिकारों का हनन

दक्षिण सूडान में जारी मानवाधिकार हनन के मामलों के चलते हज़ारों लोग घर छोड़ने के लिए मजबूर हुए हैं. इससे चिंतित मानवाधिकार आयोग ने स्थानीय प्रशासन और अन्य पक्षों से पांच महीने पहले शांति समझौते पर नए सिरे से हुई सहमति का सम्मान करने और उसे लागू करने का आग्रह किया है.