नवीनतम समाचार

कोविड-19: विज्ञान, एकता और एकजुटता, महामारी को हराने के कारगर औज़ार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि बेहतर तैयारी, विज्ञान को सुनने व समझने और एकजुट कार्रवाई ऐसे चन्द औज़ार हैं जिनका इस्तेमाल दुनिया भर में सभी देश कोरोनावायरस संकट पर क़ाबू पाने में कर सकते हैं. यूएन महासचिव गुटेरेश ने रविवार को विश्व स्वास्थ्य शिखर वार्ता को सम्बोधित करते हुए यह बात कही.

लीबिया: युद्धविराम पर दस्तख़त के बाद, फिर शुरू होगा राजनैतिक सम्वाद मंच

लीबिया में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन ने वर्षों से इस युद्धग्रस्त देश में हाल ही में एक स्थायी युद्धविराम समझौते पर दस्तख़त होने के बाद ‘लीबियाई राजनैतिक सम्वाद मंच’ फिर से शुरू करने की घोषणा की है. युद्धविराम के बाद जागी उम्मीदों के बीच यह राजनैतिक सम्वाद मंच फिर शुरू होने से एक टिकाऊ समाधान निकलने की उम्मीद भी जताई गई है.

अफ़ग़ानिस्तान: कॉलेज पर हमला, यूएन मिशन ने जताया क्षोभ

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने राजधानी काबुल में एक आत्मघाती हमले में एक कॉलेज को सुनियोजित ढँग से निशाना बनाए जाने पर गहरा क्षोभ व्यक्ति किया है. ख़बरों के अनुसार शनिवार रात को हुए इस हमले में कम से कम 24 लोगों की मौत हुई है और अनेक अन्य घायल हुए हैं जिनमें बड़ी संख्या युवाओं की है. 

परमाणु हथियार निषेध सन्धि के लागू होने का मार्ग प्रशस्त

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ‘परमाणु हथियारों के निषेध पर सन्धि’ को लागू किये जाने से जुड़ी शर्तों के पूरा होने के बाद इस सन्धि पर मोहर लगाने वाले देशों की सराहना की है. होण्डूरास शनिवार को इस सन्धि पर मोहर लगाने वाले 50वाँ देश बन गया जिसके बाद, इस सन्धि के 22 जनवरी 2021 से लागू होने का रास्ता स्पष्ट हो गया है. 

सूडान और इसराइल में सम्बन्ध सामान्य होने से 'नए अवसरों' के सृजन की आशा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सूडान द्वारा इसराइल के साथ सम्बन्ध सामान्य करने की घोषणा को अपने संज्ञान में लेते हुए उम्मीद जताई है कि पारस्परिक सहयोग से अन्तरराष्ट्रीय शान्ति व समृद्धि को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. शनिवार को यूएन प्रमुख की ओर से यह बयान अमेरिका की मध्यस्थता से दोनों देशों में हुई सहमति की घोषणा के बाद जारी किया गया है.

यूएन दिवस: कोविड-19 के ख़िलाफ़ वैश्विक युद्धविराम के लिये कमर कसने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शनिवार, 24 अक्टूबर, को यूएन दिवस के अवसर पर कहा है कि संगठन की स्थापना की 75वीं वर्षगाँठ एक वैश्विक महामारी के दौर में पड़ी है और ऐसे में संगठन का संस्थापना मिशन, पहले से कहीं ज़्यादा स्पष्ट है. उन्होंने 75वीं वर्षगाँठ के मौक़े पर दुनिया भर में हर जगह, सभी लोगों से एकजुट होने की अपील करते हुए कहा है कि इनसानियत के सामने दरपेश विशाल चुनौतियों का मुक़ाबला इसी संस्थापना मिशन के बल पर किया जा सकता है.

यूएन75: भारत-संयुक्त राष्ट्र डाक इतिहास को बयाँ करती वर्चुअल प्रदर्शनी

शनिवार, 24 अक्टूबर 2020, को संयुक्त राष्ट्र की स्थापना की 75वीं वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में भारत और संयुक्त राष्ट्र के डाक-टिकटों की एक वर्चुअल प्रदर्शनी शुरू की गई है. इस प्रदर्शनी में संयुक्त राष्ट्र और भारत से सम्बन्धित विषयों पर भारतीय डाक और संयुक्त राष्ट्र डाक प्रशासन द्वारा जारी 53 डाक टिकटों के इतिहास और ये टिकट जारी किये जाने की पृष्ठभूमि दिलचस्प ढंग से पेश की गई हैं. इससे पहले शुक्रवार को भारत ने एक स्मारक डाक टिकट जारी किया जोकि संयुक्त राष्ट्र और भारत के साझा मूल्यों और विशेष सम्बन्धों को प्रदर्शित करता है.

संयुक्त राष्ट्र कैसे करता है संघर्ष रोकथाम व निवारण

जब सदस्य देशों ने 75 वर्ष पहले यूएन चार्टर पर हस्ताक्षर किये थे, इसका मक़सद आने वाली पीढ़ियों को तीसरे विश्व युद्ध से बचाना था. इसका मक़सद संघर्ष टालना व रोकना भी था. इसलिये संयुक्त राष्ट्र के लिये संघर्ष निवारण अब भी एक केन्द्रीय प्राथमिकता है. फिर भी, सम्बन्ध पक्षों को शान्ति के लिये राज़ी करना बहुत कठिन काम है, ख़ासतौर से तब, जब वो शान्ति नहीं चाहते हों.

कोविड-19: महामारी के ख़िलाफ़ लड़ाई में अगले कुछ महीने 'बेहद कठिन'

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 के बढ़ते मामलों से चिन्तित शुक्रवार को चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि महामारी के ख़िलाफ़ लड़ाई में दुनिया एक अहम चरण में प्रवेश कर रही है और देशों की सरकारों को वायरस पर क़ाबू पाने के लिये तत्काल कार्रवाई करनी होगी. हाल के दिनों में योरोप और अमेरिका में कोरोनावायरस संक्रमण के नए मामले तेज़ी से बढ़े हैं और विश्व में प्रति दिन अब चार लाख से ज़्यादा मामले दर्ज किये जा रहे हैं. 

लीबिया: युद्धविराम समझौते का स्वागत, शान्ति व स्थिरता की दिशा में 'बुनियादी क़दम'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने लीबिया में युद्धरत पक्षों के बीच यूएन द्वारा मध्यस्थता प्रयासों के फलस्वरूप शुक्रवार को जिनीवा में हुए युद्धविराम समझौते का स्वागत किया है. लीबिया में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNSMIL) की प्रमुख स्टेफ़नी विलियम्स ने इसे एक ऐसा साहसिक क़दम क़रार दिया है जिससे लीबियाई जनता के लिये एक बेहतर, सुरक्षित और ज़्यादा शान्तिपूर्ण भविष्य सुनिश्चित करने में मदद मिल सकती है.