नवीनतम समाचार

वैश्विक नागरिक महोत्सव: 'काम बहुत, समय कम है, हमें हर हाथ की मदद की ज़रूरत'

संयुक्त राष्ट्र की उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद ने कहा है कि हमारे सामने जो भी समस्या दपरेश है, वो हमारी ही उत्पन्न की हुई है – तो हर समस्या ऐसी है जिसका समाधान हम एकसाथ मिलकर कर सकते हैं. उन्होंने शनिवार को न्यूयॉर्क के सैंट्रल पार्क में वर्ष 2022 के वैश्विक नागरिक महोत्सव (Global Citizen Festival) में एकत्र भीड़ में जोश भरते हुए कहा कि लोग अपनी आवाज़ बुलन्द करना और अपने नेताओं को जवाबदेह ठहराना जारी रखें: आशा और कार्रवाई के साथ, भुखमरी और निर्धनता से मुक्त एक विश्व असम्भव नहीं है.

श्रीलंका: मज़बूत लोकतांत्रिक व्यवस्था व आर्थिक स्थिरता के लिये सुधारों की तैयारी

श्रीलंका के विदेश मंत्री अली साबरी ने यूएन महासभा के 77वें सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा है कि देश में सामाजिक अशान्ति व विरोध प्रदर्शनों के लम्बे दौर के बाद, लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था व दीर्घकालीन आर्थिक स्थिरता बहाल करने के लिये संस्थागत फ़्रेमवर्क को मज़बूत किया जा रहा है.

चीन अशान्त दौर में ‘आशान्वित’, ‘एकल चीन’ नीति की पुष्टि भी

यूएन महासभा के 77वें सत्र की उच्चस्तरीय जनरल डिबेट में शनिवार को चीन का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री वांग यी ने करते हुए कहा है कि दुनिया में मौजूदा दौर उथल-पुथल भरा और रूपान्तरकारी है, उसके बावजूद, “आशान्वित होने के कारण” मौजूद हैं.

बांग्लादेश: रोहिंज्या समुदाय की मौजूदगी से उपजी चुनौतियाँ, संयुक्त राष्ट्र से समर्थन का आग्रह

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने कहा है कि म्याँमार के साथ द्विपक्षीय बैठकों व बातचीत के बावजूद, रोहिंज्या विस्थापितों में से एक भी व्यक्ति की अभी तक अपने पैतृक घरों तक वापसी सम्भव नहीं हो पाई है. प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने शुक्रवार को यूएन महासभा के 77वें सत्र के दौरान उच्चस्तरीय जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए चिन्ता जताई कि बांग्लादेश में रोहिंज्या समुदाय की मौजूदगी से गम्भीर चुनौतियाँ पैदा हो रही हैं और इस संकट को सुलझाने के लिये यूएन के समर्थन की दरकार है.

रूस: यूक्रेन में ‘विशेष सैन्य अभियान’ के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं था, विदेश मंत्री  

रूसी महासंघ के विदेश मंत्री सर्गेई लैवरोफ़ ने यूएन महासभा के 77वें सत्र की जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए कहा कि यूक्रेन की सरकार ने पूर्वी हिस्से में अपने ही लोगों के विरुद्ध युद्ध छेड़ा हुआ था, और पश्चिमी देश बातचीत के लिये असमर्थ नज़र आ रहे थे. इन हालात में रूस के पास यूक्रेन में तथाकथित विशेष सैन्य अभियान को शुरू करने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं था. 

साप्ताहिक वीडियो बुलेटिन, 24 सितम्बर, 2022

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र की उच्च स्तरीय जनरल डिबेट की कुछ साप्ताहिक झलकियाँ...

'हमें राजनय की शक्ति में भरोसा जारी रखना होगा', यूएन महासभा में भारत का सम्बोधन

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र की उच्चस्तरीय जनरल डिबेट में इस वर्ष भारत का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री डॉक्टर सुब्रहमण्यम जयशंकर ने किया और उन्होंने विश्व नेताओं को सम्बोधित करते याद दिलाया कि भारत, अपनी आज़ादी की 75वीं वर्षगाँठ मना रहा है, जिसे उन्होंने “करोड़ों भारतीय लोगों के कड़े परिश्रम, पक्के इरादे, नवाचार, और उद्यशीलता की कहानी” क़रार दिया.

भारत-यूएन साझेदारी, सहयोग की मज़बूत मिसाल, यूएन प्रमुख

भारत ने संयुक्त राष्ट्र के साथ अपनी विकास साझेदारी को रेखांकित करने के लिये, देश की स्वतंत्रत्रता की 75वीं वर्षगाँठ के समारोहों के तहत, शनिवार 24 सितम्बर को, न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम आयोजित किया जिसमें संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारियों के साथ-साथ, विभिन्न देशों की अहम हस्तियों ने शिरकत की. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस कार्यक्रम को भेजे अपने सन्देश में कहा कि भारत – यूएन साझेदारी, सहयोग का एक मज़बूत उदाहरण है, जिसे आगे बढ़ाया जा सकता है. इस कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग यहाँ देखी जा सकती है. 

दैनिक वीडियो बुलेटिन, 23 सितम्बर 2022

कोविड की सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा स्थिति की समाप्ति निकट, रोज़गार सृजन, ऊर्जा तक बेहतर पहुँच व बेहतर भविष्य सुरक्षित करने पर - संयुक्त राष्ट्र में नेताओं की बैठक में समाधानों पर चर्चा. दैनिक वीडियो बुलेटिन...

सीरिया तट के निकट नाव डूबने से, कम से कम 70 लोगों की मौत

संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न एजेंसियों के प्रमुखों ने कहा है कि ख़बरों के अनुसार, भूमध्य सागर में सीरिया तट के निकट, एक अन्य नाव डूबने से, 71 प्रवासियों के शव बरामद किये गए हैं. उन्होंने इस घटना को “बिल्कुल त्रासद” क़रार देते हुए, एक ऐसी अन्तरराष्ट्रीय कार्रवाई की मांग की जिसमें अपना घर छोड़ने वाले लोगों की परिस्थितियों को बेहतर बनाने के प्रयास शामिल हों.