Mahojiano

साक्षात्कार: समान और न्यायपूर्ण दुनिया ही वक़्त की ज़रूरत - यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में कोविड-19 के प्रसार पर चिन्ता जताई है और महामारी के बाद बेहतर पुनर्निर्माण, सतत पुनर्बहाली, समानता व बहुपक्षवाद बढ़ाने पर ज़ोर दिया है. संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगाँठ और महासभा के 75वें सत्र के मौक़े पर दिये इस साक्षात्कार में महासचिव ने एक समान व न्यायपूर्ण व टिकाऊ दुनिया के निर्माण का आहवान किया है.

साक्षात्कार: यूएन महासभा के 75वें सत्र के रहनुमा वोल्कान बोज़किर

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष चुने गए तुर्की के राजनयिक वोल्कान बोज़किर ऐसे अभूतपूर्व समय में यह ज़िम्मेदारी उठा रहे हैं, जब संगठन अप्रत्याशित महामारी से जूझ रहा है और उसके भविष्य की दिशा को लेकर अनेक भी सवाल मुँह-बाएँ खड़े हैं. 

इंटरव्यू: ग़रीबी मिटाने के तरीक़ों पर नोबेल सह-विजेता प्रोफ़ेसर अभिजीत बैनर्जी

वर्ष 2019 का अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार तीन विद्वानों – एस्थर डफ़लो, अभिजीत बैनर्जी और माइकल क्रेमर - को दिया गया है.  डॉक्टर अभिजीत बैनर्जी अमेरिका के एमआईटी संस्थान में अर्धशास्त्र के प्रोफ़ेसर हैं और अनेक देशों में ऐसे प्रयोगों का हिस्सा रहे हैं जिनके तहत ग़रीब लोगों को कुछ प्रशिक्षण देकर हालात सुधारने का मौक़ा दिया जाता है. पेश है सह-विजेता प्रोफ़ेसर अभिजीत बैनर्जी के साथ यूएन हिन्दी न्यूज़ के प्रमुख महबूब ख़ान की एक ख़ास बातचीत.

इंटरव्यू: शांति और पृथ्वी की हिफ़ाज़त के लिए ज़रूरी कार्रवाई करने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने विश्व नेताओं से दुनिया के सामने तमाम नाटकीय समस्याओं का समाधान निकालने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने का आहवान किया है. महासचिव ने संयुक्त राष्ट्र के 74वें सत्र के शुरू होने के अवसर पर यूएन समाचार के साथ एक ख़ास इंटरव्यू में ये पुकार लगाई है.