कोविड-19: एशिया-प्रशान्त क्षेत्र के उबरने में महासागर करेंगे अहम योगदान

कोविड-19: एशिया-प्रशान्त क्षेत्र के उबरने में महासागर करेंगे अहम योगदान

डाउनलोड

एशिया-प्रशान्त क्षेत्र में समुद्री प्लास्टिक प्रदूषण फैलने, ज़रूरत से ज़्यादा मछलियाँ पकड़े जाने और जलवायु परिवर्तन के कारण महासागरों के स्वास्थ्य में गिरावट आ रही है. 

इस क्षेत्र में आबादी का एक बड़ा हिस्सा अपने भोजन व आजीविका के लिए महासागरों पर ही निर्भर है. एशिया और प्रशान्त क्षेत्र के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग (UNESCAP) की एक नई रिपोर्ट के अनुसार कोविड-19 महामारी के दौरान जीवन की रफ़्तार ठहरने से समुद्री पर्यावरण को राहत पहुँची है.

रिपोर्ट के मुताबिक अगर क्षेत्रीय देश पुनर्बहाली के प्रयासों में बड़े पैमाने पर धन निवेश करें तो कोविड-19 ख़त्म होने के बाद समुद्री पर्यावरण की रक्षा के साथ-साथ अर्थव्यवस्था में उनके मूल्यवान योगदान को भी बरक़रार रखा जा सकता है. 

नई दिल्ली में यूएन न्यूज़ की अंशु शर्मा ने UNESCAP के दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम कार्यालय में निदेशक डॉक्टर नागेश कुमार से ताज़ा रिपोर्ट के अहम बिन्दुओं पर चर्चा की...
 

अवधि
8'49"
Photo Credit
© UNICEF/Bernadino Soares