एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध से मानव स्वास्थ्य को बड़ा ख़तरा

21 नवंबर 2019

कई तरह के संक्रमणों से लोगों, जानवरों और पौधों की रक्षा करने में एंटी-माइक्रोबियल अहम भूमिका निभाते हैं, लेकिन उनका दुरुपयोग और हद से ज़्यादा इस्तेमाल उनके बेअसर होने की वजह भी बन सकता है.

पिछले कुछ वर्षों में कई ऐसे मामले सामने आए हैं जहां रोगाणुओं ने इन जीवनरक्षक दवाओं के विरुद्ध प्रतिरोध विकसित कर लिया और मरीज़ों पर दवाओं का असर होना बंद हो गया.

इसी एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए 18 से 24 नवम्बर तक 'विश्व एंटीबायोटिक जागरूकता सप्ताह' मनाया जाता है. 

एंटी-माइक्रोबियल प्रतिरोध से उपजती समस्याओं और उनके निदान पर चर्चा के लिए हमारी सहयोगी अंशु शर्मा ने भारत में खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) में एंटी-माइक्रोबियल कार्यक्रम और मूल्यांकन के तकनीकी सलाहकार डॉ. राजेश भाटिया से बात की.

अवधि
9'33"

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड